Wriddhiman Saha should not have made private conversation with Sourav Ganguly public says Snehashish Ganguly – रिद्धिमान साहा पर भड़के सौरव गांगुली के भाई स्नेहाशीष, कहा


शनिवार 19 फरवरी की शाम से हर तरफ भारतीय क्रिकेट में विकेटकीपर बल्लेबाज रिद्धिमान साहा की चर्चा है। भारत की टेस्ट टीम से बाहर किए गए रिद्धिमान साहा ने अपने बयानों से भारतीय क्रिकेट को हिला दिया है। यहां तक कि उन्होंने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआई के अध्यक्ष और पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली के अलावा मुख्य चयनकर्ता के साथ की हुई एक बातचीत को भी सार्वजनिक कर दिया है। 

ऐसे में बंगाल क्रिकेट संघ के सचिव और सौरव गांगुली के भाई स्नेहाशीष गांगुली ने कहा है कि रिद्धिमान साहा ने शायद उनके और चयनकर्ताओं/बीसीसीआई के बीच एक निजी बातचीत पर सार्वजनिक रूप से टिप्पणी करके गलती की। बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली के बड़े भाई स्नेहाशीष ने ये भी कहा कि रिद्धिमान साहा बंगाल टीम से बाहर होने के बजाय रणजी ट्रॉफी खेल सकते थे।

रविवार को पत्रकारों से बात करते हुए स्नेहाशीष ने कहा, “यह मेरी निजी राय है, लेकिन मुख्य चयनकर्ता/बीसीसीआई ने उन्हें (साहा) जो बताया वह निजी था। उन्हें शायद इसके साथ सार्वजनिक नहीं होना चाहिए था। साथ ही वो रणजी ट्रॉफी भी खेल सकते थे। उन्होंने बाहर रहने के लिए व्यक्तिगत कारणों का हवाला दिया और हमें इसका सम्मान करना होगा। जब भी वह टीम में शामिल होना चाहते हैं, उनके लिए दरवाजे हमेशा खुले हैं।” 

श्रीलंका के खिलाफ आगामी दो मैचों की सीरीज के लिए साहा को टेस्ट टीम से बाहर किए जाने के बाद, उन्होंने इस इंडियन एक्सप्रेस को बताया था कि उन्हें न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टेस्ट में नाबाद 61 रन की मैच बचाऊ पारी खेलने के बाद बीसीसीआई अध्यक्ष का एक व्हाट्सएप संदेश मिला था, जिसमें उन्होंने कहा था कि जब तक मैं यहां हूं (बीसीसीआई को संभाल रहा हूं), आप टीम में रहेंगे।”

उन्होंने कहा था, “कानपुर में न्यूजीलैंड के खिलाफ 61 रन बनाने के बाद, दादा (सौरव गांगुली) ने मुझे व्हाट्सएप पर बधाई दी और कहा, ‘जब तक मैं यहां हूं (बीसीसीआई को संभाल रहा हूं), आप टीम में रहेंगे’। बीसीसीआई अध्यक्ष के इस तरह के संदेश ने वास्तव में मेरा आत्मविश्वास बढ़ाया। मुझे यह समझने में परेशानी हो रही है कि चीजें इतनी तेजी से कैसे बदली हैं।” 

वहीं, अपने चयन को लेकर रिद्धिमान साहा ने कहा, “चेतन शर्मा ने आज(शनिवार) प्रेस कांफ्रेंस में जो कहा, वह हमारी बातचीत से बिल्कुल अलग था। उन्होंने मुझे फोन किया था और पूछा था कि क्या मैं रणजी ट्रॉफी खेल रहा हूं। वह फरवरी का पहला हफ्ता था और मैंने उन्हें बताया कि रणजी ट्रॉफी में अभी कुछ समय बाकी है। उन्होंने कहा, ‘ठीक है’। इसके उन्होंने मुझसे कहा कि वह कुछ बताना चाहते हैं कि चयन समिति एक नए चेहरे को दीर्घकालिक सोच के तहत आजमाने की योजना बना रही है। ऐसे में मैं नहीं खेल रहा था और दूसरे विकेटकीपर के रूप में टीम में था और चयन समिति एक नए खिलाड़ी को आजमाकर उसे तैयार करना चाहती थी। उन्होंने मुझसे कहा कि मैं श्रीलंका सीरीज के लिए टीम में नहीं रहूंगा।”  

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: