Sunday, August 14, 2022
spot_img
HomeHealth NewsWorld Head Neck Cancer Day: भारी आवाज-निगलने में कठिनाई, गर्दन-सिर के कैंसर...

World Head Neck Cancer Day: भारी आवाज-निगलने में कठिनाई, गर्दन-सिर के कैंसर के इन 6 लक्षणों को न करें इग्नोर – world head neck cancer day doctor explain 6 sign and symptoms of head neck cancer


हर साल 27 जुलाई को वर्ल्ड हेड एंड नेक कैंसर डे (World Head and Neck Cancer Day) मनाया जाता है। सिर एवं गर्दन के कैंसर एक विस्‍तृत समूह है जिसमें मुंह (ओरल कैविटी), जीभ, गाल, थायरॉयड, पैरोटिड, टॉन्सिल, लैरिंक्‍स (वॉयस बॉक्‍स) को प्रभावित करने वाले कैंसर शामिल हैं। ये भारतीय आबादी को प्रभावित करने वाले सबसे आम प्रकार के कैंसर हैं।

दिल्ली स्थित फोर्टिस अस्पताल में सर्जिकल ऑन्कोलॉजी के निदेशक और यूनिट हेड डॉ प्रतीक वार्ष्णेय के अनुसार, इनके प्रमुख कारणों में तंबाकू का सेवन, धूम्रपान, शराब का सेवन और ह्यूमैन पैपिलोमा वायरस (एचपीवी) यानि एचपीवी संक्रमण है। चूंकि ये सभी कारण ऐसे हैं जिनसे बचाव संभव है, लिहाजा ऐसे कैंसर से बचा जा सकता है।

कैंसर के कारण

navbharat times

जीवनशैली में सुधार और इस प्रकार के नशे की आदतों से दूर रहने से ये कैंसर भी दूर बने रहते हैं। युवाओं को तंबाकू सेवन, धूम्रपान और शराब के सेवन के दुष्‍प्रभावों के बारे में जागरूक करना बहुत जरूरी है।

कैंसर के लक्षण

navbharat times

स्‍क्रीनिंग से आरंभिक चरणों में ऐसे कैंसर पकड़ में आ सकते हैं। मुंह में ऐसा घाव/अल्‍सर जो भर नहीं रहा, आवाज में भारीपन, निगलने में कठिनाई, चेहरे या गर्दन में गांठ या सूजन किसी प्रकार की मैलिग्‍नेंसी का लक्षण हो सकते हैं और इनकी तत्‍काल जांच करवानी चाहिए। ऐसे लक्षणों की जांच ओंकोलॉजिस्‍ट द्वारा की जानी चाहिए। कैंसर की पुष्टि के लिए अल्‍सर या सूजन वाले भाग से बायप्‍सी की जाती है। इसके बाद कैंसर की अवस्‍था के मुताबिक अल्‍ट्रासोनोग्राफी, सीटी/एमआरआई और पैट सीटी स्‍कैन की सलाह दी जाती है।

कैंसर से बचने के उपाय

navbharat times

कम्‍युनिटी प्रोग्रामों का आक्रामक तरीके से संचालन कर समाज को तंबाकू मुक्‍त बनाया जा सकता है। हमें किशोरों को तंबाकू से दूर रहने के बारे में शिक्षित करने की जरूरत है। एचपीवी वैक्‍सीनेशन (लड़कों और लड़कियों दोनों के मामले में) से वायरस जनित कैंसर से बचाव मुमकिन है। यदि शुरुआती चरण में कैंसर का पता चल जाए तो सिर और गर्दन के अधिकांश कैंसर का इलाज मौजूदा विशेषज्ञता और टैक्‍नोलॉजी की मदद से पूरी तरह से संभव है।

कैंसर का इलाज

navbharat times

शुरुआती चरणों में इस प्रकार के कैंसर का पूरी तरह से इलाज सर्जरी से किया जाता है और कॉस्‍मेटिक एवं फंक्‍शनल नतीजे भी मिल सकते हैं। कैंसर यदि एडवांस स्‍टेज का हो तो सर्जरी के अलावा रेडियोथेरेपी तथा कीमोथेरेपी की आवश्‍यकता होती है। इन क्षेत्रों में अब काफी प्रगति हो चुकी है जिनके परिणामस्‍वरूप साइड इफेक्‍ट्स काफी कम होते हैं।

तंबाकू-शराब, धूम्रपान से बचें

navbharat times

कैंसर की सर्जरी के लिए मिनिमली इन्‍वेसिव तकनीकों का इस्‍तेमाल भी अच्‍छे नतीजे दिलाता है और मरीज़ की रिकवरी भी जल्‍द होती है। संक्षेप में, कहा जा सकता है कि हैड एवं नैक कैंसर (सिर तथा गर्दन के कैंसर) से न सिर्फ बचा जा सकता है बल्कि इनका इलाज भी संभव है। इसलिए तंबाकू, शराब तथा धूम्रपान से बचें। यदि कोई लक्षण दिखायी दे तो देरी न करें, समय पर जांच और इलाज करवाएं।

डिस्क्लेमर: यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से संपर्क करें।



Source link

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments