26.1 C
Delhi
Monday, May 23, 2022

Donate

world asthma day 2022: on world asthma day know 5 early sign and symptoms of asthma attack and 4 steps to take immediately – World Asthma Day: अस्थमा अटैक से पहले मिलती हैं 5 चेतावनी, उसी समय जल्दी करें ये 4 काम, जान का जोखिम होगा कम


हर साल मई के पहले मंगलवार को ‘वर्ल्ड अस्थमा डे’ (World Asthma Day) मनाया जाता है। इस दिवस को मनाने का उद्देश्य सांस या फेफड़ों की बीमारी अस्थमा के बारे में जागरूकता फैलाना है। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (WHO) के अनुसार, साल 2019 में अस्थमा ने अनुमानित 262 मिलियन लोगों को प्रभावित किया और 461000 लोगों की मृत्यु हुई। अस्थमा बच्चों में सबसे आम पुरानी बीमारी है।

हर साल इस दिवस की थीम अलग-अलग होती है। इस साल यानी 2022 में वर्ल्ड अस्थमा डे की थीम (World Asthma Day 2022 Theme) है ‘क्लोजिंग गैप इन अस्थमा केयर’ (Closing Gaps in Asthma Care)। अस्थमा वायुमार्ग में सूजन की बीमारी है। इसकी वजह से सांस की नली में सूजन हो जाती है जिसकी वजह से फेफड़ों से हवा को बाहर लाना मुश्किल हो जाता है। इससे रोगी को सांस फूलने, घरघराहट, सीने में जकड़न और खांसी जैसी समस्याएं होने लगती हैं।

दिल्ली स्थित सर गंगा राम हॉस्पिटल में पल्मोनोलॉजिस्ट डॉक्टर रश्मि समा आपको बता रही हैं कि अस्थमा क्या है, अस्थमा का अटैक कैसे और क्यों आता है, अस्थमा अटैक के लक्षण और उपचार क्या है। इन चीजों को समझने से आपको अस्थमा के मरीज की जान के जोखिम को कम करने में मदद मिल सकती है।

अस्थमा क्या है और अस्थमा अटैक क्यों आता है?

navbharat times

अस्थमा सांस से जुड़ी एक पुरानी बीमारी है। इससे फेफड़ों में वायुमार्ग में सूजन हो सकती है, जिससे हवा को अंदर और बाहर ले जाना मुश्किल हो सकता है। अस्थमा का दौरा तब पड़ता है जब ये लक्षण बढ़ जाते हैं, जिससे सांस लेना बहुत मुश्किल हो जाता है।

अटैक आने पर तुरंत उठाए जाने वाले कदम

navbharat times
  1. सीधे बैठ जाएं और शांत रहने की कोशिश करें। लेटना मत।
  2. हर 30 से 60 सेकंड में एक रिलीवर या रेस्क्यू इनहेलर का एक पफ लें, जिसमें अधिकतम 10 पफ हों।
  3. यदि लक्षण खराब हो रहे हैं या 10 पफ के बाद भी सुधार नहीं हो रहा, तो इमरजेंसी मेडिकल हेल्प लें।
  4. यदि सहायता पहुंचने में 15 मिनट से अधिक समय लगता है, तो चरण 2 को दोहराएं।

अस्थमा अटैक के लक्षण

navbharat times

खांसी, घरघराहट और सीने में जकड़न महसूस होना अस्थमा के दौरे के लक्षण हैं। कई बार लक्षण बिगड़ भी सकते हैं। कुछ लक्षण धीरे-धीरे खराब हो सकते हैं, कभी-कभी व्यक्ति को ध्यान दिए बिना भी।

  • मरीज का रिलीवर इनहेलर मदद नहीं कर रहा है, या यह 4 घंटे से कम समय के लिए प्रभावी है
  • खांसी, घरघराहट, सीने में जकड़न हो रही है
  • मरीज का सांस फूलना बदतर हो जाता है
  • सांस फूलने से बोलना, खाना या सोना मुश्किल हो जाता है
  • उनकी सांस तेज हो रही है या उसे ऐसा महसूस हो रहा है कि वे अपनी सांस नहीं पकड़ पा ररहा है

अस्थमा के आम लक्षण

navbharat times
  • खांसना
  • घरघराहट
  • सांस की कमी
  • सीने में जकड़न

लक्षणों की गंभीरता और संख्या अलग-अलग होती है। उदाहरण के लिए, अस्थमा से पीड़ित बच्चे में यह सभी लक्षण हो सकते हैं या केवल पुरानी खांसी हो सकती है।

डिस्क्लेमर: यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से संपर्क करें।



Source link

Related Articles

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Stay Connected

0FansLike
3,323FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles