एक अशोक, दो कीर्ति और शौर्य चक्र सहित 308 पदकों की घोषणा गणतंत्र दिवस पर 
January 25, 2019 • Editor Awazehindtimes

वीरता पुरस्कारों को मंजूरी दी राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 

नयी दिल्ली। गणतंत्र दिवस पर सेना के रणबांकुरों को एक अशोक चक्र, दो कीर्ति और 9 शौर्य चक्र सहित कुल 308 वीरता पदक प्रदान किए जाएंगे। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने वीरता पुरस्कारों को मंजूरी देते हुए सेना की जम्मू कश्मीर लाइट इंफ्रेन्ट्री के लांस नायक नजीर अहमद वाणी को मरणोपरांत शांतिकाल के सर्वोच्च सम्मान अशोक चक्र से सम्मानित किए जाने की घोषणा की। 20 जाट रेजिमेंट के मेजर तुषार गाबा और 22 राष्ट्रीय रायफल्स के एस डब्ल्यू आर विजय कुमार को कीर्ति चक्र से सम्मानित किया जाएगा। एस डब्ल्यू आर कुमार को यह सम्मान मरणोपरांत दिया जाएगा।

(शहीद नजीर को मिलेगा अशोक चक्र)  

स्पेशल फोर्स 10 पैरा के लेफ्टिनेंट कर्नल विक्रांत पराशर, गढ़वाल रायफल के मेजर अमित कुमार डिमरी, 4 ग्रिनेडियर के मेजर आई किट्तजर, 9 पैरा के मेजर रोहित लिंगवाल, 1 पैरा के कैप्टन अभय शर्मा, 21 राष्ट्रीय रायफल्स के कैप्टन अभिनव कुमार चौधरी, 9 राष्ट्रीय रायफल के लांस नायक अयूब अली, 42 राष्ट्रीय रायफल्स के सिपाही अजय कुमार (मरणोपरांत) और 44 राष्ट्रीय रायफल्स के एसपीआर महेश को शौर्य चक्र से सम्मानित किया जाएगा। लांस नायक वानी को जम्मू-कश्मीर में मरते दम तक आतंकवादियों से लोहा लेते हुए सर्वोच्च बलिदान देने के लिए शांति काल के सर्वोच्च सम्मान अशोक चक्र (मरणोपरांत) से सम्मानित किया जाएगा। राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद गणतंत्र दिवस परेड से पहले राजपथ पर बने सलामी मंच पर सेना के इस रणबांकुरे की पत्नी महजबीं को अशोक चक्र प्रदान करेंगे।

वह जम्मू-कश्मीर के कुलगाम जिले के चेकी अश्मुजी के रहने वाले थे। यह पहला मौका हैजब जम्मू कश्मीर के किसी व्यक्ति को अशोक चक्र से सम्मानित किया जाएगा। सेना को गत 25 नवंबर को कश्मीर के हीरापुर गांव के एक मकान में छह हथियारबंद आतंकवादियों के छिपे होने की सूचना मिली थी। सेना की जम्मू-कश्मीर लाइट इंफेंट्री के लांस नायक वानी और उनकी टीम ने आतंकवादियों की गोलियों की बौछार की परवाह किए बिना उनके साथ आमने-सामने का मुकाबला किया और एक के बाद एक दो आतंकवादियों को ढेर कर दिया। इस दौरान उन्हें कई गोलियां लगी, जिनमें से एक गोली उनके माथे पर लगी, जिससे वह बुरी तरह जख्मी हो गए, लेकिन उन्होंने एक और आतंकवादी को घायल कर दिया और साथ ही अपने साथियों को सुरक्षित रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। इस दौरान अत्यधिक खून बह जाने से उन्होंने कर्तव्य की वेदी पर दम तोड़ दिया। लांस नायक वानी को उनकी असाधारण वीरता और अदम्य साहस के लिए शांति काल के सर्वोच्च सम्मान अशोक चक्र से पुरस्कृत किया जाएगा।

लांस नायक वानी के परिवार में पत्नी के अलावा दो बेटे अतहर(20) और शाहिद (18) हैं। राजपथ पर बिखरेगी विराट सैन्य शक्ति और सांस्कृतिक धरोहर की छटा :देश की विराट सैन्य शक्ति, ऐतिहासिक सांस्कृतिक धरोहर और अनेकता में एकता की गौरवशाली परंपरा की शनिवार को राजपथ पर गणतंत्र दिवस परेड में भव्य झलक दिखाई देगी। सत्तरखें गणतंत्र दिवस पर मुख्य समारोह राजधानी के राजपथ पर होगादक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सीरिल रामाफोसा समारोह के मुख्य अतिथि होंगे। प्रवासी भारतीय दिवस में हिस्सा लेने आए भारतवंशी नेताओं को भी इसके लिए विशेष रूप से आमंत्रित किया गया है। समूची राजधानी में सुरक्षा के चाक-चौबंद इंतजाम किए गए हैं और परेड स्थल, आस-पास की इमारतों की छतों तथा उनसे लगते क्षेत्रों में चप्पे-चप्पे पर सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं।

राजधानी में 50 हजार से अधिक सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैंऔर विजय चौक से लाल किले तक 600 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। परेड स्थल के आस-पास की सड़कों को बंद किया गया है और यातायात को सुचारू बनाए रखने के लिए समुचित इंतजाम किए गए हैं। दिल्ली की जीवनरेखा बन चुकी मेट्रो में भी सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं। परेड की शुरुआत ठीक दस बजे विजय चौक से होगी और राजपथ तथा इंडिया गेट से होते हुए डेढ घंटे बाद इसका समापन लाल किले पर होगा। सेना के एम आई-17 हेलिकॉप्टर से राजपथ और सलामी मंच पर पुष्प वर्षा के साथ परेड का आगाज होगा।