Ukraine crisis amid russia involvement other countries urge its citizen to leave


कीव. यूक्रेन संकट (Ukraine Crisis) धीरे-धीरे काफी गहराता जा रहा है. इसका असर दुनिया के कई देशों पर पड़ रहा है. रूस की ओर से यूक्रेन पर आक्रमण करने के डर से अब कई देश अपने नागरिकों को यूक्रेन से जाने की अपील कर रहे हैं. इसके साथ ही कई देश अपने डिप्लोमैटिक स्टाफ (Diplomatic Staff) को भी वहां से वापस बुला रहे हैं. वहीं, कुछ देश अपने नागरिकों (Citizens) के लिए यूक्रेन (Ukraine) की यात्रा न करने की सलाह दे रहे हैं.

अमेरिका (America) को डर है कि रूस जल्द ही यूक्रेन पर आक्रमण कर सकता है. अभी हाल ही में अमेरिका ने ये आशंका जताई थी कि बीजिंग ओलंपिक खत्म होने से पहले ही रूस यूक्रेन पर हमला बोल सकता है. अमेरिका पहले ही अपने नागरिकों को यूक्रेन छोड़ने का आग्रह कर चुका है.

Ukraine Issue: यूक्रेन पर बाइडेन ने पुतिन को फिर चेताया, कहा- रूस को हमले की चुकानी होगी भारी कीमत

कई देशों ने अपने नागरिकों को वापस बुलाया
अमेरिका के अलावा कई और देशों की सरकारें अपने नागरिकों से यूक्रेन छोड़ने की अपील कर रही है. जिन देशों ने अपने नागरिकों को यूक्रेन छोड़ने का आह्वान किया है, उनमें जर्मनी (Germany), इटली, ब्रिटेन (Britain), आयरलैंड, बेल्जियम, लक्जमबर्ग, नीदरलैंड, कनाडा, नॉर्वे, एस्टोनिया, लिथुआनिया, बुल्गारिया, स्लोवेनिया, ऑस्ट्रेलिया, जापान, इजराइल शामिल हैं. इसके साथ ही सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात ने भी अपने नागरिकों को यूक्रेन से बाहर निकलने का आग्रह किया है.

फ्रांस ने अपने नागरिकों से यूक्रेन छोड़ने के लिए तो नहीं कहा है, लेकिन उत्तरी और पूर्वी यूक्रेन के सीमावर्ती क्षेत्रों की यात्रा न करने की सलाह दी है. इसके साथ ही रोमानिया, जो यूक्रेन की सीमा के पास है ने अपने नागरिकों को देश की यात्रा से बचने को कहा है. साथ ही अपने नागरिकों को वहां रहने की जरूरत पर गंभीरता से विचार करने की बात कही है.

यूक्रेन संकट को लेकर कई देशों ने दूतावास किए बंद
रूस ने अपने कुछ राजनयिक कर्मचारियों को वापस बुलाते हुए कहा है कि उसे ‘उकसावे’ का डर है. अमेरिका ने कीव (Kyiv) में अपने अधिकांश राजनयिक कर्मचारियों को प्रस्थान करने का आदेश दिया है. अमेरिका का मानना है कि रूस किसी भी वक्त यूक्रेन पर हमला कर सकता है. यूक्रेन संकट को देखते हुए कनाडा अस्थायी रूप से कीव में अपने दूतावास (Embassy) को बंद कर रहा है.

भारत-UAE के बाद अब ये देश खरीद रहा राफेल, आखिर क्यों बेजोड़ है ये फाइटर जेट?

यूरोपीय संघ के निकायों ने कीव में गैर-जरूरी राजनयिक कर्मियों को देश छोड़ने और विदेशों से दूरसंचार करने की सिफारिश की. रोमानिया ने कीव में अपने दूतावास से गैर-जरूरी कर्मियों को वापस बुला लिया है. वहीं इजराइल ने दूतावास के राजनयिकों और कर्मचारियों के परिवारों को वहां से निकाला है. (एजेंसी इनपुट)

Tags: Joe Biden, Ukraine, Vladimir Putin

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: