Typhoid fever treatment: टाइफाइड बुखार को जल्दी तोड़ देंगे ये 5 घरेलू उपाय, दस्त-पेट दर्द से भी मिलेगी राहत – 5 effective home remedies to get rid typhoid fever without medicine


टाइफाइड बुखार कैसे ठीक करें-तरल पदार्थों का सेवन करें

navbharat times

टाइफाइड जैसे रोग अक्सर डिहाइड्रेशन का कारण बनते हैं। यही वजह है कि रोगियों को हमेशा खूब सारे तरल पदार्थों का सेवन करना चाहिए। आप पानी, ताजे फलों का रस, हर्बल चाय आदि ले सकते हैं। टाइफाइड से दस्त हो सकते हैं, इसलिए ताजे रस का सेवन शरीर से विषाक्त पदार्थों और अन्य अपशिष्ट पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करेगा।

टाइफाइड बुखार का घरेलू उपचार- लहसुन

navbharat times

रिसर्च गेट पर प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, लहसुन के स्वास्थ्य के लिए अनगिनत फायदे हैं। यह टाइफाइड बुखार को ठीक करने में बेहद मददगार हो सकता है। इसमें एंटीऑक्सिडेंट होते हैं और खून को साफ करने का काम करता है। यह गुर्दे को शरीर में जमा गंदगी को बाहर निकालने में मदद करता है। आप इसका इस्तेमाल सब्जी के रूप में कच्चा भी कर सकते हैं। यह टाइफाइड बुखार से पीड़ित व्यक्ति की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।

टाइफाइड बुखार की दवा- तुलसी

navbharat times

साल 2021 में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, तुलसी एक ऐसी जड़ी-बूटी है जो सूजन और जोड़ों के दर्द को कम करती है। यह टाइफाइड बुखार के लिए सबसे बढ़िया घरेलू उपचार है। इसका कई आयुर्वेदिक दवाओं में इस्तेमाल किया जाता है। यह मलेरिया सहित कई बीमारियों को ठीक कर सकती है। टाइफाइड से पीड़ित व्यक्ति इसकी चाय या पानी में उबाल कर या शहद के साथ सेवन कर सकते हैं। जल्दी राहत के लिए इसे अदरक के रस या काली मिर्च के साथ भी डाला जा सकता है। तुलसी के जीवाणुरोधी गुण टाइफाइड पैदा करने वाले बैक्टीरिया को दूर करने में मदद करते हैं।

टाइफाइड बुखार का आयुर्वेदिक इलाज सेब का सिरका

navbharat times

सेब के सिरके में अम्लीय गुण होते हैं और यह टाइफाइड बुखार के लिए एक अच्छा घरेलू उपचार है। टाइफाइड से पीड़ित व्यक्ति के शरीर से गर्मी निकालने पर यह तेज बुखार को कम करता है। इसमें खनिज होते हैं जो बीमार व्यक्ति के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण हैं और दस्त के कारण खोये हुए पोषक तत्वों की भरपाई करता है।

टाइफाइड बुखार का इलाज-कोल्ड कॉम्प्रेस

navbharat times

टाइफाइड से पीड़ित व्यक्ति को तेज बुखार होता है जो कई दिनों तक रहता है। यही वजह है कि शरीर के सामान्य तापमान को बनाए रखना बहुत महत्वपूर्ण है। इसके लिए आप कोल्ड कंप्रेस की मदद ले सकते हैं। आप एक कपड़े को ठंडे पानी में गीला करके इसे रोगी के माथे, बगल, पैर और हाथों पर लगा सकते हैं। हालांकि, इस प्रक्रिया में इस्तेमाल किया गया पानी ज्यादा ठंडा नहीं होना चाहिए और अच्छे परिणाम के लिए समय-समय पर कपड़े को बदलते रहना चाहिए।

डिस्क्लेमर: यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से संपर्क करें।



Source link

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: