नई दिल्ली के लाल किले में पांच दिन चलने वाले 'भारत पर्व' का शुभारंभ हुआ 
January 28, 2019 • Editor Awazehindtimes

गणतंत्र दिवस 2019 के जलसे के हिस्से के तौर पर,'एक भारत श्रेष्ठ भारत' की भावना को दर्शाने वाले कार्यक्रम 'भारत पर्व' का शुभारंभ आज लाल किले में किया गया। पर्यटन मंत्रालय के महानिदेशक श्री सत्यजीत राजन ने आज इस कार्यक्रम का उद्घाटन किया। पर्यटन मंत्रालय द्वारा अन्य केंद्रीय मंत्रालयों और राज्य सरकारों के सहयोग से इस पर्व के चौथे संस्करण को 26 से 31 जनवरी 2019 तक आयोजित किया जा रहा है।

‘भारत पर्व’ आम लोगों के लिए 26 से 31 जनवरी 2019 तक प्रति दिन दोपहर के 12 बजे से रात 10 बजे तक खुला रहेगा। इसमें प्रवेश का कोई शुल्क नहीं लगेगा। हालांकि इस कार्यक्रम में प्रवेश के लिए पहचान पत्र साथ में लाना होगा। इस साल के आयोजन की प्रमुख सुर्खियों में मूर्तिकार डॉ. राम वनजी सुतार द्वारा बनाई गई 'स्टैच्यू ऑफ यूनिटी' की प्रतिकृति और गांधी ग्राम है जिसमें 10 चित्रकार 'महात्मा गांधी की विचारधारा' की थीम पर पेंटिंग बनाएंगे।

पर्यटन मंत्रालय द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम की इस साल की सुर्खियों में गणतंत्र दिवस परेड की झांकी, सशस्त्र बलों के बैंडों का प्रदर्शन (स्थिर और साथ ही गतिशील भी) और विज्ञापन एवं दृश्य प्रचार निदेशालय (डीएवीपी) की फोटो प्रदर्शनी है। इस कार्यक्रम में विशेष पर्यटक रेलगाड़ियों का आईआरसीटीसी द्वारा प्रचार, 'जागो ग्राहक जागो' उपभोक्ता जागरूकता अभियान और शिल्प वस्तुओं की प्रदर्शनी एवं बिक्री भी शामिल है। यह पर्व थीमवाले राज्य मंडपों की मेजबानी भी कर रहा है जहां हर राज्य अपने पर्यटन उत्पादों के साथ साथ अपनी मजबूती का प्रदर्शन भी करता है। यहां के अन्य आकर्षण हैं - एक बहु-व्यंजन फूड कोर्ड, शिल्प मेला और देश के विभिन्न हिस्सों की सांस्कृतिक प्रस्तुतियां। इस फूड कोर्ट में राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों और भारतीय स्ट्रीट वेंडरों के राष्ट्रीय संघ (एनएएसवीआई) द्वारा स्टॉल भी लगाए गए हैं जिनमें विभिन्न क्षेत्रों के स्ट्रीट फूड को प्रदर्शित किया गया है। भारत के विभिन्न राज्यों के व्यंजनों का प्रचार करने के लिए इस फूड कोर्ट में एक प्रत्यक्ष भोजन पकाने का प्रदर्शन क्षेत्र भी बनाया गया है। उत्तराखंड भोजन प्रदर्शन 27 जनवरी 2019 को प्रदर्शित किया जाएगा। इसके साथ ही उत्तरी क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्र (एनजेडसीसी) देश के विभिन्न क्षेत्रों से सांस्कृतिक प्रस्तुतियों का रोजाना संचालन करेगा।