Monday, August 15, 2022
spot_img
HomeNewsSocial Etiquette, चाहते हैं पूरा समाज करे आपके बच्‍चे की इज्‍जत, तो...

Social Etiquette, चाहते हैं पूरा समाज करे आपके बच्‍चे की इज्‍जत, तो उसे ये 5 आदतें जरूर सिखाएं – teach these social etiquettes to your child


बच्‍चों को कुछ अच्‍छी आदतें सिखाना मां-बाप की जिम्‍मेदारी होती है। बच्‍चे के भविष्‍य के लिए सोशल स्किल्‍स सीखने भी जरूरी होते हैं। अगर आप चाहते हैं कि आपका बच्‍चा ग्रोथ करे और समाज में उसकी अच्‍छी पहचान बने तो उसे कुछ सोशल स्किल्‍स जरूर सिखाएं।

कई बच्‍चे अपना ज्‍यादातर समय डिजीटल गैजेट्स पर बिताते हैं, शायद यही वजह है कि आजकल के बच्‍चे असल जिंदगी में सोशल लाइफ में ज्‍यादा एक्टिव नहीं होते हैं। पैरेंट्स के लिए अपने बच्‍चों को सोशल मीडिया ऐप्‍स और असल जिंदगी में सोशलाइज करने का फर्क समझना जरूरी है।

टेक्‍नोलॉजी के जरिए कनेक्‍ट करना अच्‍छा रहता है लेकिन सामने बैठकर एक-दूसरे से बात करना ज्‍यादा बेहतर लगता है। इससे आप आसानी से सामने वाले से कनेक्‍ट कर पाते हैं। अकेलेपन से बचने और सोशल इंटरैक्‍शन से याद्दाश्‍त और बौद्धिक कार्य में सुधार आता है और जिंदगी के कुछ साल भी बढ़ जाते हैं। असल जिंदगी में सोशलाइज करने से बच्‍चों का आत्‍मविश्‍वास बढ़ता है और उनके अपने पैरेंट्स के साथ रिश्‍ता मजबूत होता है।

यहां हम आपको कुछ ऐसे सोशल एटिकेट्स के बारे में बता रहे हैं जो आपको अपने बच्‍चे को जरूर सिखानी चाहिए। इससे बच्‍चे का आत्‍मविश्‍वास बढ़ेगा और समाज के लिए वो एक सभ्‍य इंसान बनेगा।

​पड़ोसियों से बात करना

navbharat times

अपने आसपास के लोगों से आदर से बात करना और दूसरों का सम्‍मान करना बहुत जरूरी होता है। आस-पास के लोगों का सम्मान करना बड़ी विनम्रता प्रदर्शित करता है।

​सभी को थैंक्‍यू बोलना

navbharat times

आपके आसपास के लोग आपके लिए जो भी करते हैं, उन्‍हें उसके लिए थैंक्‍यू जरूर बोलें। अपने घर आने वाले कर्मचारियों जैसे कि मेड को अपना कोई काम करने पर थैंक्‍यू बोलें। उन्‍हें दिखाएं कि आप उनके काम की बहुत इज्‍जत करते हैं।

​खांसते या छींकते समय हाथ लगाना

navbharat times

पैरेंट्स को बच्‍चों को इस तरह की छोटी-छोटी बातें जरूर सिखानी चाहिए। जम्‍हाई, खांसते और छींकते समय मुंह पर हाथ लगाना एक अच्‍छी आदत है। ये सोशल स्किल आपके बच्‍चे को समाज में सभ्‍य दिखाएगा।

फोटो साभार : TOI

​डिजीटल डिवाइस

navbharat times

जब आपका बच्‍चा आपसे बात करता है, तो उस समय अपना फोन ना चलाएं। रात को खाना खाते समय फोन पर चिट-चैट करना बंद कर दें। मंदिर और मूवी थिएटर जाने पर अपने फोन को साइलेंट या वाइब्रेशन पर रखें। अपने बच्‍चे को भी ये मोबाइल फोन एटिकेट सिखाएं।

फोटो साभार : TOI

​दूसरों को भी मौका दें

navbharat times

बच्‍चों और परिवार के अन्‍य सदस्‍यों से बात करते समय दूसरों को भी बात करने का मौका दें। जब कोई बात कर रहा है, तो उन्‍हें बीच में टोके नहीं। दूसरों की बात सुनना और उन्‍हें अपनी बात रखने का मौका देना जरूरी हे। आप अपने बच्‍चे को भी धैर्य के साथ दूसरों की बात सुनने का मौका दें।

इस आर्टिकल को अंग्रेजी में पढ़ें



Source link

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments