Friday, July 1, 2022
HomeNewssigns of a well behaved child: 6 signs that you are raising...

signs of a well behaved child: 6 signs that you are raising a well behave child – इस तरह Behave करता है बच्‍चा, तो समझ लें पैरेंटिंग में सफल हो गए हैं आप


बच्‍चों को अनुशासन (discipline in child) में रखना बहुत जरूरी होता है वरना बच्‍चे बिगड़ जाते हैं। बच्‍चों को जिद्दी बनने से रोकने के लिए भी डिसिप्लिन में रखना चाहिए। हालांकि, कुछ पैरेंट्स इस काम में फेल हो जाते हैं जबकि कुछ पैरेंट्स सफल होते हैं।

कुछ पैरेंट्स को लगता है कि जो बच्‍चे अच्‍छा व्‍यवहार कर रहे हैं, वो वैसे ही पैदा हुए थे लेकिन ऐसा नहीं है। आप अपने बच्‍चे के बिहेवियर को ऑब्‍जर्व करें और जानें कि क्‍या उसका बिहेवियर ठीक है और अगर नहीं है तो आपसे कहां गलती हो रही है। जी हां, बच्‍चे का अच्‍छा व्‍यवहार और शिष्‍टाचार कहीं और से नहीं बल्कि मां-बाप का सिखाया ही होता है। अगर आपका बच्‍चा अच्‍छा व्‍यवहार कर रहा है तो आपको उसे नोटिस करना चाहिए वरना वो निराश हो सकता है। उसे यह लग सकता है कि उसके सब कुछ अच्‍छा करने पर भी पैरेंट्स उस पर ध्‍यान नहीं दे रहे हैं और इसका कोई फायदा नहीं है। आप अपने बच्‍चे के अच्‍छे व्‍यवहार की तारीफ करें और उसे बढ़ावा दें।

यहां हम आपको कुछ ऐसे संकेतों के बारे में बता रहे हैं जिनकी मदद से आप समझ सकते हैं कि बच्‍चा अच्‍छा व्‍यवहार कर रहा है या नहीं।

​हर किसी का करता है आदर

navbharat times

अगर आपका बच्‍चा जिससे भी मिलता है, उसे हंसकर हैलो करता है या स्‍माइल देता है तो यह अच्‍छा संकेत है। स्‍कूल, पार्क या क्‍लास से जाते समय गुड बाय करने का यह मतलब है कि बच्‍चा समझता है कि उसे कब किन शब्‍दों का इस्‍तेमाल करना है।

फोटो साभार : TOI

​समय की कीमत

navbharat times

बच्‍चा स्‍कूल जाने के लिए समय पर तैयार हो जाता है और उसे जहां भी जाना होता है, वहां समय पर पहुंचता है। इससे बच्‍चों को समय की कीमत समझ आती है और उनकी जिंदगी में परेशानियां कम रहती हैं।

फोटो साभार : TOI

​लेता है इजाजत

navbharat times

अपने बच्‍चे को ऑब्‍जर्व करें और देखें कि क्‍या वो अपने दोस्‍तों की चीजें इस्‍तेमाल करने से पहले उनकी इजाजत लेता है। अगर वो ऐसा करता है तो इसका मतलब है कि उसक व्‍यवहार अच्‍छा है।

​बीच में नहीं बोलता

navbharat times

अगर आप किसी से बात कर रहे हैं या कोई जरूरी काम कर रहे हैं, आपका बच्‍चा कुछ कहना चाहता है लेकिन बीच में नहीं टोकता है और आखिर में बोलता है, तो आपको उसकी इस आदत की तारीफ करनी चाहिए।

​शर्मिंदा नहीं करता

navbharat times

कुछ बच्‍चे अपने पैरेंट्स को समझते हैं और नहीं चाहते कि उनकी वजह से मेहमानों के सामने उनके पैरेंट्स को शर्मिंदा होना पड़े। आपका बच्‍चा समय के साथ यह आदत सीख जाएगा या स्‍कूल में बच्‍चों को देखकर उसे यह बात समझ आ जाएगी।

​जिम्‍मेदारी लेता है

navbharat times

अगर आपके बच्‍चे से कुछ गलत हो गया है और वो उसकी जिम्‍मेदारी लेता है या अपनी गलती को स्‍वीकार करता है तो यह एक अच्‍छा संकेत है। गलती करना कोई बड़ी बात नहीं है। बच्‍चे को यह समझने में मदद करें कि हर किसी से गलती होती है लेकिन आपको हमेशा सच बोलना चाहिए।



Source link

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments