Friday, June 24, 2022
HomeEntertainmentRajpal Yadav stayed away from OTT said could not be a part...

Rajpal Yadav stayed away from OTT said could not be a part of anything which contains abusive language or nudity- ओटीटी से इसलिए भागते रहे राजपाल यादव, कहा- गाली-गलौज और न्यूडिडी है इसकी वजह

जहां बॉलिवुड से लेकर टीवी सितारे तक ओटीटी की तरफ तेजी से भाग रहे हैं वहीं बॉलिवुड फिल्मों में अपनी कॉमिडी से फैन्स का खूब जमकर मनोरंजन करने वाले ऐक्टर राजपाल यादव वेब सीरीज़ की दुनिया से अब तक काफी दूर रहे। हालांकि, हाल ही में फिल्म ‘अर्ध’ से उन्होंने ओटीटी की दुनिया में कदम रखा है।

ओटीटी से दूर रहने की वजह पर बोले राजपाल
हाल ही में हिन्दुस्तान टाइम्स से हुई बातचीत में Rajpal Yadav से इस बात की वजह पूछी गई कि जहां सभी ओटीटी प्रॉजेक्ट में बढ़ रहे हैं, वहां उनके ढहरने की वजह क्या थी? इसपर ऐक्टर ने कहा, ‘मैंने हाल ही में एक वेब सीरीज़ की है और दूसरे की शूटिंग कर रहा हूं। इसके अलावा लाइनअप में तीन और प्रॉजेक्ट हैं। वेब प्रॉजेक्ट को लेकर मेरा कॉन्सेप्ट ये है कि यह एंटरटेनिंग होने के साथ-साथ मीनिंगफुल भी होना चाहिए।’ उनका मानना है कि यह ऐसी होनी चाहिए जिसे फैमिली के साथ देखा जा सकता हो।


जिसमें गाली-गलौज या न्यूडिटी हो
राजपाल यादव (51 साल) हाल ही में ‘भूल भुलैया 2’ में नजर आए हैं और फिल्म में एक बार उन्होंने अपनी कॉमिडी से सबको जमकर हंसाया है। उन्होंने बताया कि वह वैसी फिल्मों या शो में काम नहीं करना चाहते जिसमें गाली-गलौज या न्यूडिटी हो। उन्होंने कहा- यही वजह थी कि मैं पिछले 5 साल से ओटीटी से दूर रहा।

कभी दर्जी थे राजपाल यादव, शाहजहांपुर से निकल फिर यूं पलटी किस्‍मत


‘मैं ओटीटी की बहुत इज्जत करता हूं’
उन्होंने कहा, ‘मैं ओटीटी की बहुत इज्जत करता हूं। कला जितनी बिखरती है उतनी निखरती है। 7mm और टीवी के बीच ये कॉन्सेप्ट आया लेकिन उसमें भी दो रास्ते हैं। या तो आप अकेले बैठकर इसे देखें या फिर अपनी पूरी फैमिली के साथ।’

‘भूल भुलैया 2’ के प्रमोशन में पहुंचे राजपाल यादव, दिल को छू लेगा ऐक्टर का ये अंदाज


‘मैं उनका विरोधी नहीं हूं’

राजपाल यादव ने ओटीटी पर अपने प्रॉजेक्ट सिलेक्शन को लेकर कहा, ‘इस बात का विशेष ध्यान रखने की कोशिश कर रहा हूं कि जो भी शो हो फैमिली इनवॉल्व हो, वो उन्हें एंटरटेन कर सकें। बाकी गाली गलौज वाली वेब सीरीज़ हैं, मैं उनका विरोधी नहीं हूं। क्योंकि यहां वो ऑडियंस भी हैं जो इसे पसंद करती है। जब बात आर्ट की हो तो कुछ भी सही या गलत नहीं होता।’





Source link

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments