प्रदूषण नियंत्रण पर बैठक | pradushan niyantran par baithak
December 28, 2018 • Editor Awazehindtimes

प्रदूषण नियंत्रण पर बैठक प्रदूषण
नियंत्रण के होंगे प्रयास : इमरान

दिल्ली सरकार ने बुलाई

वायु प्रदूषण पर सरकार ने मांगी रिपोर्ट ऊंची इमारतों, सड़कों पर किया जाए छिड़काव : इमरान हुसैन

नई दिल्ली, दिसम्बर 2018, दिल्ली सरकार के पर्यावरण एवं वन मंत्री, इमरान हुसैन ने आज समस्त विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक कर दिल्ली में वायु प्रदूषण के निराकरण हेतु लागू जीआरएपी के क्रियान्वयन का जायजा लेते हुए दिसम्बर में प्रदूषण पर चिंता जताई और डीपीसीसी से पराली जलाए जाने की घटनाएं कम होने के बावजूद भी बढ़े हुए प्रदूषण के कारणों पर रिपोर्ट तलब की पीडब्ल्यूडी, तीनों नगर निगम, नई दिल्ली नगर परिषद को कहा वे तय करें कि निर्माण के दौरान धूल को न उड़ने दें।

बिल्डिंग मैटीरियल को खुला न छोड़े तथा उसमें पानी का छिड़काव करें। इसके साथ ही निर्माण स्थल पर वाहन के टायर वाशिंग की व्यवस्था सुनिश्चित हो, लोक निर्माण विभाग द्वारा सडकों पर मकैनिकल रोडस, स्विीपिंग की व्यवस्था हो तथा रोड पर छिड़काव किए जाएं। ऊंची बिल्डिंग से पानी के स्प्रे की व्यवस्था डीडीए करे व वाहनों के पीयूसी सर्टिफिकेशन की व्यवस्था ठीक की जाए।

ट्रांसपोर्ट विभाग के द्वारा दिल्ली के बार्डरों पर हैवी लोडिंग व्हीकल तथा गैर निर्धारित स्थानों के वाहनों पर चालान कर जब्त करने की । कार्रवाई की जाए। ट्रांसपोर्ट विभाग एवं ट्रेफिक विभाग की संयुक्त टीम के द्वारा विशेष अभियान चलाकर प्रदूषण फैला रहे वाहनों पर कार्रवाई करे। पेट्रोल पम्पों पर भी एक विशेष अभियान चलाकर फ्यूल की गुणवत्ता की जांच की। जाए।

ऑड-ईवन योजना असफलताओं को ढंकने के लिए पब्लिसिटी स्टंट : गुप्ता 

नई दिल्ली। हालांकि इस पूरी कवायद पर विपक्ष के नेता विजेन्द्र गुप्ता ने कहा कि दिल्ली सरकार द्वारा पर्यावरण पर आज बुलाई गई उच्च स्तरीय बैठक प्रदूषण पर नियंत्रण पाने के लिए कोई भी वैज्ञानिक, प्रभावशाली अथवा स्थाई हल निकालने में विफल रही। ज्यादातर सिफारिशें वहीं थी जो पिछले काफी समय से असफल होती आ रही हैं। सरकार का राजनीतिक और बौद्धिक दिवालियापन इस बात से प्रकट होता है कि आज भी दिल्ली भी प्रदूषण नियंत्रण कमेटी को प्रदूषण के कारण बताने के लिए एक सप्ताह में रिपोर्ट देने को कहा गया है। उन्होंने कहा कि सरकार ऑड-ईवन स्कीम को लागू करने पर गम्भीरतापूर्वक विचार कर रही है क्योंकि यह एक पब्लिसिटी स्टंट है। हालांकि दक्षिणी दिल्ली नगर निगम के दक्षिणी जोन ने वायु प्रदूषण और धूल प्रदूषण के खिलाफ मेकैनिकल स्वीपर ने 8600 किमी सड़क पर की सफाई की तो वहीं 14.55 लाख रुपए जुर्माना वसूला है।

कृपया लाइक व शेयर ज्यादा से ज्यादा करे - https://www.facebook.com/awazehindtimeshttp://newsawazehind.blogspot.com
http://awazehindtime.blogspot.comhttps://bit.ly/2rSvlcv