Tuesday, June 28, 2022
HomeNewsPM Modi Speech Today At Inauguration Of Pragati Maidan Main Tunnel And...

PM Modi Speech Today At Inauguration Of Pragati Maidan Main Tunnel And Underpass Integrated Transit Corridor Project – पीएम मोदी ने दिल्‍ली को दी प्रगति मैदान टनल-अंडरपास की सौगात, समझें कितना फायदा होगा


नई दिल्‍ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार दोपहर प्रगति मैदान टनल प्रोजेक्ट का उद्घाटन किया। उद्घाटन के बाद मोदी ने कहा कि ‘आज दिल्ली को केंद्र सरकार की तरफ से आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर का बहुत सुंदर उपहार मिला है।’ हालांकि, उन्‍होंने तंजभरे लहजे में कहा कि ‘ऐसे काम करो तो जुडिशरी का दरवाजा खटखटाने वाले भी कम नहीं हैं।’ पीएम ने कहा कि ‘दशकों पहले भारत की प्रगति को, भारतीयों के सामर्थ्य, भारत के प्रॉडक्ट्स, हमारी संस्कृति को शोकेस करने के लिए प्रगति मैदान का निर्माण हुआ था। तबसे भारत बदल गया, भारत का सामर्थ्य बदल गया, जरूरतें कई गुणा बढ़ गईं, लेकिन प्रगति मैदान की ज्यादा प्रगति नहीं हुई।’ पीएम ने मेट्रो नेटवर्क की तारीफ करते हुए कहा कि ‘दिल्ली-NCR में बढ़ते मेट्रो के नेटवर्क की वजह से अब हजारों गाड़ियां सड़कों पर कम चल रही हैं। इससे भी प्रदूषण को कम करने में बहुत मदद मिली है। ईस्टर्न और वेस्टर्न पेरिफेरल से भी दिल्ली को मदद मिली है।’

इतने कम समय में इस कॉरिडोर को तैयार करना आसाना नहीं था। जिन सड़कों के आसपास यह कॉरिडोर बना है, वे सड़कें दिल्ली की सबसे व्यस्त सड़कें हैं। इस सभी मुश्किलों के बीच कोरोना आ गया। लेकिन, यह नया भारत है। समस्याओं का समाधान भी करता है, नए संकल्प भी लेता है और उन संकल्पों को सिद्ध करने के लिए प्रयास भी करता है।

पीएम नरेंद्र मोदी

इस प्रोजेक्‍ट से दिल्‍ली-एनसीआर को कितना फायदा?
फिलहाल पीएम के मूवमेंट की वजह से मथुरा रोड, भैरों रोड और रिंग रोड पर ट्रैफिक डायवर्जन लागू है। दोपहर 1 बजे के बाद टनल आम लोगों के मूवमेंट के लिए खोली जाएंगी। अब आईटीओ और प्रगति मैदान के आसपास से गुजरने वाले लोगों को ट्रैफिक जाम से राहत मिल जाएगी। दिल्ली से गाजियाबाद और नोएडा के बीच आवाजाही करने वालों को काफी राहत मिलेगी। वरना, अभी तक यहां सुबह और शाम पीक आवर्स में लंबा जाम लगता था। इससे एयर पलूशन के साथ वक्त की बर्बादी भी होती थी। 6 लेन टनल के भीतर स्मार्ट फायर प्रबंधन, आधुनिक वेंटिलेशन, स्वचालित जल निकासी, डिजिटल रूप से नियंत्रित सीसीटीवी और सार्वजनिक घोषणा प्रणाली जैसी व्यवस्था है। लंबे समय से प्रतीक्षित सुरंग भैरों मार्ग के लिए एक वैकल्पिक मार्ग के रूप में काम करेगी।

बड़ी खूबसूरत है प्रगति मैदान की टनल
टनल में एंट्री से लेकर एग्जिट तक मनोरम चित्रकारी है। दीवारों पर बनी पेंटिंग सफर करने वालों के दिल पर खास छाप छोड़ेगी। सुरंग में बनी मुरल आर्ट यानी भित्ति चित्रों में कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक के सभी त्योहारों की झलक मिलेगी। टनल में काफी जगहों पर मेटल आर्ट भी है। एक स्पेशल दीवार तो अतुल्य भारत को डेडिकेटेड है। इसमें दिल्ली के प्रसिद्ध स्मारकों के चित्र भी बनाए हैं, जिसमें संसद, जामा मस्जिद, जंतर-मंतर, लालकिला, इंडिया गेट, कुतुब मीनार और लोटस टैंपल भी शामिल है। पूरे आर्टवर्क में कहीं भी कोई ब्रेक नहीं है। 30 से 40 किमी स्पीड से कोई गाड़ी से गुजरेगा, तो पूरा आर्ट वर्क मुसाफिरों के साथ चलेगा।

Pragati-Maidan-Tunnel-Map

प्रगति मैदान टनल प्रोजेक्‍ट का मैप

कहां पर हैं अंडरपास?

  1. काका नगर यू-टर्न अंडरपास 440 मीटर
  2. सुंदर नगर यू-टर्न अंडरपास 440 मीटर
  3. पुराना किला के पास अंडरपास 380 मीटर
  4. नेशनल स्पोर्ट्स क्लब के पास अंडरपास 1032 मीटर
  5. भैरो मार्ग-रिंग रोड टी-जंक्शन अंडरपास 540 मीटर
  6. सुप्रीम कोर्ट के पास अंडरपास 474 मीटर

टनल होगी सुरक्षित
मथुरा रोड और रिंग रोड के बीच प्रगति मैदान के नीचे बनाई गई टनल में सेफ्टी के लिए भी कई तरह के इंतजाम करने का दावा किया गया है। लगभग 1.4 किमी लंबी इस टनल में स्मार्ट फायर मैनेजमेंट, वेंटिलेशन और ऑटोमैटिक जल निकासी सिस्टम आदि का प्रावधान किया गया है।

भैरों मार्ग सिग्नल फ्री
इस प्रोजेक्ट के तहत मथुरा रोड पर लगे ट्रैफिक सिग्नल पर अब रुकने की जरूरत नहीं रहेगी। इन सिग्नल को हटाने के लिए आईटीओ से लेकर डीपीएस स्कूल तक सिग्नल फ्री करने के लिए 4 अंडरपास बनाए गए हैं। पहला अंडरपास डीपीएस स्कूल के पास, दूसरा सुंदर नगर के पास, तीसरा नैशनल स्पोर्ट्स क्लब और चौथा पुराना किला के पास बनाया गया है। अगर किसी को आईटीओ से भोगल की ओर जाना है, तो वह सीधे जा सकता है। अंडरपास बनने के बाद मथुरा रोड आईटीओ से लेकर डीपीएस स्कूल तक जितने भी ट्रैफिक सिग्नल हैं, उन्हें हटा दिया जाएगा। पांचवा अंडरपास भैरो मार्ग, रिंग रोड टी-जंक्शन और छठा अंडरपास रिंग रोड पर बनाया गया है। रिंग रोड पर बने अंडरपास भैरो मार्ग-रिंग रोड टी-जंक्शन से सराय काले खां या कश्मीरी गेट बस अड्डा की ओर आने-जाने के लिए इस्तेमाल किया जाएगा।

आईटीओ पर घटेगा ट्रैफिक
अभी आईटीओ डब्ल्यू पॉइंट से रोजाना करीब 3.5 लाख गाड़ियां गुजरती हैं। अंडरपास और टनल से ट्रैफिक शुरु होने के बाद जिन्हें आईटीओ से मयुर विहार, नोएडा या पूर्वी दिल्ली के दूसरे किसी इलाके में जाना है, वह मेन टनल से होते भी जा सकते हैं। इससे आईटीओ डब्ल्यू पॉइंट पर गाड़ियों का भार काफी कम हो जाएगा और लोगों को यहां जाम से राहत भी मिलेगी। अभी मंडी हाउस और इंडिया गेट से यमुनापार जाने वाले भैरो रोड या आईटीओ के रास्ते का उपयोग करते हैं। अब प्रगति मैदान के नीचे से टनल बनने के बाद यमुनापार आने जाने वालों को एक और विकल्प मिल जाएगा। इस तरह से मंडी हाउस से भगवान दास रोड या पटियाला हाउस कोर्ट से ऐसे गाड़ी चलाने वाले प्रगति मैदान की टनल से होते हुए रिंग रोड पर पहुंच सकेंगे। इस तरह से लोग विकास मीनार के समीप से यमुना ब्रिज या फिर रिंग रोड पर दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस वे से होते हुए यमुनापार आ जा सकेंगे। इसका नतीजा यह होगा कि आईटीओ और भैरो मार्ग पर गाड़ियों की भीड़ से बड़ी राहत मिल सकेगी।

923 करोड़ रुपये खर्च
आईटीपीओ चयेरमैन और एमडी एलसी गोयल के अनुसार मेन टनल और 6 अंडरपास निर्माण पर ही 923 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं। पांच अंडरपास और मेन टनल का काम पूरा हो चुका है और 19 जून शाम से ट्रैफिक चलने लगेगा। लेकिन, भैरो मार्ग-रिंग रोड टीजंक्शन पर जो 540 मीटर लंबा अंडरपास बन रहा है, उसे पूरा करने में अभी वक्त लगेगा। उनका कहना है कि इस अंडरपास के पूरा होने में करीब 2-3 महीने का वक्त लग सकता है। प्रगति मैदान के अंदर जो बेसमेंट पार्किंग बनाई जा रही है, उसमें करीब 4,800 गाड़ियों के खड़ी करने का स्पेस होगा।



Source link

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments