PF interest rate may be decided next month: अगले महीने हो सकता है पीएफ ब्याज दर पर फैसला


नई दिल्ली: नौकरीपेशा लोगों के लिए कर्मचारी भविष्य निधि (Employee Provident Fund) पर मिलने वाला ब्याज (Interest on PF) काफी महत्वपूर्ण होता है। संकेत मिले हैं कि लगातार बढ़ रही महंगाई को देखते हुए नौकरीपेशा को राहत देने के लिए सरकार पीएफ पर ब्याज दरों में इजाफा कर सकती है। ब्याज दर तय करने के लिए कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टी (CBT) अगले महीने यानी मार्च में फैसला होगा। सीबीटी की यह बैठक गुवाहाटी में होने वाली है।

केंद्रीय श्रम मंत्री ने बताया
केंद्रीय श्रम मंत्री भूपेंद्र यादव ने बताया कि अगले महीने सीबीटी की होने वाली बैठक में 2021-22 के लिए पीएफ जमा पर मिलने वाली ब्याज दरों पर फैसला हो सकता है। उधर, सूत्रों की मानें तो महंगाई के मद्देनजर सीबीटी की होने वाली बैठक में पीएफ जमा पर ब्याज दर बढ़ाकर ईपीएफओ सब्सक्राइबर्स को राहत दी जा सकती है। बैठक में पेंशन की न्यूनतम राशि बढ़ाने पर भी विचार हो सकता है।

navbharat times
EPFO News: क्या बढ़ जाएगी आपके PF पर ब्याज दर! जल्द फैसला लेने वाली है सरकार

क्या बढ़ेगी ब्याज दर
जब यादव से पूछा गया कि ब्याज दर पिछले साल के ब्याज दर 8.5 फीसदी के बराबर होगी या बढ़ेगी, तो उन्होंने बताया कि यह तो आमदनी से तय होगा। उल्लेखनीय है कि सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टी की आखिरी बैठक बीते साल मार्च में श्रीनगर में हुई थी। इसमें वित्त वर्ष 2020-21 के लिए पीएफ जमा पर 8.5. फीसदी सालाना ब्याज देने की सिफारिश की गई थी।

केंद्रीय वित्त मंत्रालय से लेनी होती है अनुमति
सीबीटी द्वारा ब्याज दर पर फैसला लेने के बाद इसे वित्त मंत्रालय की अनुमति के लिए भेजा जाता है। मार्च, 2020 में ईपीएफओ ने भविष्य निधि जमा पर ब्याज दर को घटाकर 2019-20 के लिए 8.5 प्रतिशत के सात साल के निचले स्तर पर ला दिया था। 2018-19 में ईपीएफओ पर 8.65 प्रतिशत का ब्याज दिया गया था। ईपीएफओ ने 2016-17 और 2017-18 में भी 8.65 प्रतिशत का ब्याज दिया था। वहीं, 2015-16 में ब्याज दर 8.8 प्रतिशत थी। इसके अलावा साल 2013-14 में 8.75 प्रतिशत और 2014-15 में भी 8.75 प्रतिशत का ही ब्याज दिया गया था। हालांकि, 2012-13 में ब्याज दर 8.5 प्रतिशत थी और 2011-12 में यह 8.25 प्रतिशत थी।

Success Story : 10 साल की ये क्यूट बच्ची है 2 कंपनियों की मालकिन, जानिए कैसे कमा रहीं करोड़ों रुपए

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: