विशेष प्रबंध, सुरक्षा, श्रृंगार और प्रसाद के किए गए 
April 5, 2019 • awazehindtimes@gmail.com

आयोजन - तैयारियां पूरी वासंतिक नवरात्रों की 

नई दिल्ली, अप्रैल। राजधानी के विभिन्न मंदिरों में शनिवार, छह अप्रैल से शुरू होने वाले बसंत नवरात्र का तैयारी पूरी कर ली गई है। ऐतिहासिक भद्री भगत झंडेवालान मंदिर, छत्तरपुर स्थित मां कात्यायनी मंदिर, प्राचीन सिद्धपीठ कालकाजी मंदिर में वासंतिक नवरात्रों के लिए विशेष पूजा अर्चना से लेकर श्रद्धालुओं के लिए प्रसाद, उनके लिए विशेष कतारें, सुरक्षित दर्शनों के लिए सभी प्रबंध किए जा रहे हैं। 

झंडेवालान मंदिर, कालका जी में विशेष प्रबंध - झंडेवालान मंदिर के सचिव कुलभूषण आहूजा बताते हैं कि मंदिर में साज सज्जा की जहां विशेष तैयारी की है वहीं यहां दो ज्योत प्रज्जवलित हैं। दिल्ली और एनसीआर के राज्यों से यहां लोग आकर ज्योत प्रज्जवलित कर अपने अपने मंदिरों, आवासीय परिसर, पूजा घरों व जागरण, चौकी आदि में ज्योत प्रज्जवलित करने के लिए लेकर जाते हैं।

कुलभूषण आहूजा ने बताया कि मंदिर में मुख्य द्वार से लेकर भीतर मां की मूर्ति तक सुरक्षा के भी विशेष प्रबंध किए गए हैं। इसके साथ ही रोजाना विशेष पूजा-अर्चना, माता का श्रृंगार किया जाएगा और गायन टोलियां मां का गुणगान करेंगी।

कालका मंदिर के पीठाधीश्वर महंत सुरेंद्रनाथ अवधूत महाराज ने बताया, कि 6 अप्रैल से शुरू होकर नवरात्र 14 अप्रैल तक नवरात्र में दुर्गा सप्तशती पाठ, राष्ट्र कल्याण यज्ञ, शतचंडी महायज्ञ, माता की चौकी व महामाई का नौ दिन जागरण किया जाएगा।

सीसीटीवी कैमरे सुरक्षा के लिए लगाए गए - श्री अवधूत ने बताया, कि भक्तों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए कालका पीठ के पूरे मेले परिसर में सीसीटीवी कैमरों की व्यवस्था की गई है। उन्होने बताया कि दिल्ली पुलिस के जवानों व अन्य पेसों के साथ करीब 1200 महिला पुरूष वालियंटर्स पूरे मेले की चौकसी में तैनात रहेंगे।

भक्तों को मां कालका के विभिन्न स्वरूपों के दर्शन करने में कहीं भी दिक्कत ना हो इसके लिए भी विशेष ध्यान रखा गया है। पूरे मंदिर परिसर को दूधिया प्रकाश से सजाया गया है। महंत श्री अवधूत ने बताया कि मां के नवरात्रों के नौ दिन व्रतधारी भक्तों के लिए व्रत वाला प्रसाद व अन्यों के लिए भंडारे की भी व्यवस्था की गई है।

दिल्ली परिवहन निगम द्वारा बसों का विशेष प्रबंध - नवरात्र महोत्सव 6 अप्रैल से 14 अप्रैल के बीच मनाया जाएगा और इस अवसर पर पूजा, दर्शनों के लिए आने वाले भक्त-जनों की सुविधा के लिए दिल्ली परिवहन निगम छत्तरपुर मन्दिर एवं झण्डेवालान मन्दिर के लिए रूट संख्या 450 और 516 पर सांय की पारी में अतिरिक्त विशेष बसें उपलब्ध कराई जाएगी।

सभी मुख्य स्थानों के साथ-साथ महरौली, छत्तरपुर मन्दिर, कालकाजी मन्दिर व झण्डेवालान मन्दिर पर यात्रियों की सुविधा एवं यातायात की निकासी को सुचारू रूप से सुनिश्चित करने हेतु अतिरिक्त परिवेक्षक स्टाफ आवश्यकता अनुसार नियुक्त किया जाएगा।