Tuesday, June 28, 2022
HomeNewsNew Liquor Policy Effect? Delhi Police Seized Less IMFL Bottles This Year,...

New Liquor Policy Effect? Delhi Police Seized Less IMFL Bottles This Year, Liquor Trafficking Data Show – दिल्‍ली में शराब: नई आबकारी नीति का असर? पुलिस ने इस साल शराब की कम बोतलें जब्‍त कीं, लेकिन गिरफ्तार ज्‍यादा लोगों को किया


नई दिल्‍ली: दिल्‍ली पुलिस ने इस साल शराब तस्‍करों की धरपकड़ तेज की है। नतीजा यह हुआ कि आबकारी एक्‍ट के तहत मुकदमों और गिरफ्तारियों की संख्‍या बढ़ गई। हमारे सहयोगी टाइम्‍स ऑफ इंडिया को मिले दिल्‍ली पुलिस के डेटा के अनुसार, 2021 के मुकाबले इस साल 41% ज्यादा गिरफ्तारियां हुईं। एक्‍साइज एक्‍ट के तहत 15 मई, 2022 तक कुल 2,257 केस दर्ज हो चुके थे। पिछले साल इतने वक्‍त तक 1,543 मुकदमे दर्ज हुए थे। 2021 में जहां 1,668 लोग पकड़े गए, वहीं इस साल अबतक 2,355 को शराब तस्‍करी के लिए अरेस्‍ट किया जा चुका है। सॉल्‍व हो चुके आबकारी केसेज की संख्‍या भी बढ़ी है, उसमें 50% का बड़ा उछाल है। डेटा में एक दिलचस्‍प आंकड़ा सीज की गई बोतलों का है। पिछले साल के मुकाबले इस साल कम बोतलों की रिकवरी हुई है। इसके पीछे नई आबकारी नीति को भी एक वजह माना जा रहा है जिसके चलते शराब सस्‍ती हो गई है। दूसरे राज्‍यों से अवैध तरीके से लाई गई शराब खरीदने के बजाय दिल्‍लीवाले अब अधिकृत वेंडर्स से खरीद रहे हैं।

डेटा के मुताबिक, इस साल अलग-अलग जगहों से शराब की करीब 1.6 लाख बोतलें और बीयर की 4,561 बोतलें सीज की गईं। 2021 में लगभग 2.3 लाख बोतलें सीज की गई थीं। कम बोतलें सीज होने के पीछे क्‍या नई आबकारी नीति है? यह पूछने पर डीसीपी रैंक के एक अधिकारी ने कहा कि यह एक फैक्‍टर हो सकता है। उन्‍होंने कहा, ‘बड़ा फैक्‍टर यह है कि ऑर्गनाइज्‍ड क्राइम को रोकने के लिए हम प्रोएक्टिव लाइसेंसिंग और प्रिवेंटिव एक्‍शन पर फोकस कर रहे हैं।’

Delhi-Liquor-Trafficking

शराब तस्‍करों पर कसा पुलिस का शिकंजा

दिल्‍ली में कैसे होती है शराब की तस्‍करी?
एक पुलिस अधिकारी के अनुसार, अवैध शराब ले जाने के लिए तस्‍कर पुरानी गाड़‍ियां इस्‍तेमाल करते हैं। अधिकारी के मुताबिक, ‘एक्‍साइज कानूनों के तहत गाड़‍ियां जब्‍त करना काफी मुश्किल है।’ स्‍मगलर्स गाड़‍ियां खरीदने के लिए जाली दस्‍तावेजों का यूज करते हैं ताकि असली मालिक तक पुलिस न पहुंच सके। ऑफिसर ने कहा, ‘शराब तस्‍करी का गैंग एक चैन में काम करता है। एक ग्रुप दूसरे राज्‍य से शराब लेकर आता है और दिल्‍ली में अपने साथियों को आगे की सप्‍लाई और सेल के लिए बोतलें दे देता है।’ अपराधी शराब की बोतलों को गाड़‍ियों के भीतर छिपाते हैं या सब्‍जी व अन्‍य सामान के नीचे रखते हैं। फिर गाड़ी को बॉर्डर एरियाज से पार कराया जाता है।

navbharat timesदिल्ली से 1 पर 1 फ्री शराब लेकर जाते हैं यूपी तो हो जाइए सतर्क, जाना पड़ सकता है जेल
दिल्‍ली पुलिस के एक वरिष्‍ठ अधिकारी ने बताया कि ‘SHOs से कहा गया था कि वे अपने इलाकों में शराब तस्‍करों और सप्‍लायर्स की पहचान करें और उनके खिलाफ सख्‍त कार्रवाई करें।’ एक अन्‍य अधिकारी ने कहा कि ऐसे कई मामले सामने आए जिनमें लोगों ने शराब की लत पूरी करने के लिए अपराध किए।



Source link

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments