ऑटो में मिले दरिंदे, डीयू से 
March 15, 2019 • Editor Awazehindtimes

पहले गुंडों ने उसे लूटा, बुरी तरह पीटा और
सुनसान जगह पर ऑटो से धक्का दे दिया

एक बार फिर एनसीआर की सड़कों पर चलते ऑटो में एक लड़की की जान खतरे में पड़ गई। डीयू के फैस्ट से निकली छात्रा को ऑटो सवार दरिंदों ने न सिर्फ उसके साथलूटपाट की, बल्कि विरोध करने पर उसे बुरी तरह पीटा। सारा सामान छीन लिया और सुनसान जगह पर ऑटो से धक्का देकर फरार हो गए।

ये वारदात ऐसे वक्त में सामने आई है, दो दिन पहले एनएच-24 पर ऑटो में सवार महिला डेंटिस्ट को किडनैप करके लूटपाट की वारदात को क्राइम ब्रांच व अल्फा येम सुलझा भी नहीं पाई। वारदात 12 मार्च की है। नोएडा के इलेक्ट्रॉनिक सिटी मेट्रो स्टेशन के पास से शेयरिंग ऑटो में सवार हुई डीयू बीकॉम फर्स्ट ईयर की छात्रा। उसे अंदाजा नहीं था कि ऑटो में बैठे बाकी लोगों के इरादे खराब हैं।

ऑटो ड्राइवर समेत चार लोगों ने रास्ते में उसे बंधक बना लिया। वो छटपटाती, चिल्लाने की कोशिश करने लगी। मगर जान से मारने की धमकी देकर उसके बैग की तलाशी ली। बाकी ऑटो सवार गुंडे छात्रा से छेड़छाड़ करने लगे इस दौरान जब छात्रा के पास से कुछ नहीं मिला तो आरोपियों ने उसे लिंक रोड के पास ऑटो से धक्का दे दिया। पीड़ित छात्रा और उसके पिता की शिकायत पर विजयनगर थाने में मुकदमा दर्ज हुआ है।

दो जिलों की पुलिस सीमा विवाद में उलझी रही -

आरोपियों के चंगुल से छूटने के बाद बदहवास छात्रा ने अपने पिता को कॉल कर खुद के साथ हुई। आपबीती बताई। पिता तुरंत मौके पर पहुंचे और 100 नंबर पर कॉल कर पुलिस को सूचना दी। साथ ही विजयनगर थाने में भी शिकायत दी। हालांकि शुरुआत में गौतमबुद्धनगर और गाजियाबाद जिलों की पुलिस के बीच काफी देर तक मामला सीमा विवाद में उलझा रहा।

बाद में उच्चाधिकारियों के दखल के बाद गाजियाबाद के विजयनगर थाने में इस मामले में रिपोर्ट दर्ज की गई। एसएसपी उपेंद्र अग्रवाल ने बताया कि छात्रा के बयान के अनुसार इस बार भी ऑटो में ड्राइवर समेत चार बदमाश सवार थे। ऑटो में नंबर प्लेट भी नहीं लगी थी। इससे ऐसा लग रहा है कि दोनों घटनाओं में एक ही गैंग का हाथ हैं। पुलिस की दो टीमें इस गैंग को पकड़ने के लिए तलाशी अभियान चला रही हैं।

ड्राइवर ने बेटा बोलकर ऑटो में बैठाया था -

जानकारी के अनुसार, इंदिरापुरम की एक सोसायटी में रहने वाले दिल्ली की एक कंपनी के एडवाइजर की बेटी दिल्ली यूनिवर्सिटी के एक कॉलेज में पढ़ती है, 12 मार्च को उसके कॉलेज में फेस्ट था। जिसके कारण वह घर आने में लेट हो गई थी। वह मेट्रो से रात करीब 10 बजे नोएडा के इलेक्ट्रॉनिक सिटी मेट्रो स्टेशन पहुंची जहां से कुछ दूरी पर वह एनएच-24 से मोहननगर की तरफ जाने वाले ऑटो में सवार हुई। ऑटो में अकेले व्यक्ति को बैठा देख वह रुक गईइस पर ऑटो में सवार व्यक्ति ने उसे बेटा बोलकर ऑटो में बैठने के लिए कहा।

विरोध पर मारपीट, बंधक बनाकर पीछे डाला -

ऑटो के कुछ दूर पहुंचते ही दोनों युवकों ने छात्रा से लूटपाट शुरू कर दी। विरोध करने पर उन्होंने न सिर्फ मारपीट की बल्कि छेड़छाड़ भी की। बदमाशों ने छात्रा के हाथ-पैर और आखों पर पट्टी बांधकर उसे सीट के पीछे डाल दिया। इसके बाद उसके बैग और कपड़ों की तलाशी ली।

छात्रा के पास से कुछ नहीं मिलने पर उसके साथ मारपीट की और ऑटो से उतार दिया इस बार भी बदमाशों ने मोबाइल नहीं लूटा। छात्रा ने बताया कि आरोपित बदमाश रास्ते भर उसके साथ छेड़छाड़ करते रहे। हाथ बंधे होने के कारण वह विरोध भी नहीं कर सकी।