Saturday, August 13, 2022
spot_img
HomeReligiousmahashivratri vrat 2022 kab hai date time puja vidhi samagri list when...

mahashivratri vrat 2022 kab hai date time puja vidhi samagri list when is mahashivratri in india date time – Astrology in Hindi – Mahashivratri Vrat 2022 : महाशिवरात्रि व्रत से पापों से मिलती है मुक्ति, नोट कर लें डेट, पूजा


Mahashivratri Vrat 2022 : साल में कुल 12 शिवरात्रि आती हैं, लेकिन फाल्गुन मास की महाशिवरात्रि का विशेष महत्व है। पौराणिक ग्रंथों के अनुसार इस दिन भगवान शिव और शक्ति का मिलन हुआ था। वहीं ईशान संहिता के अनुसार फाल्गुन मास की चतुर्दशी तिथि को भोलेनाथ दिव्य ज्योर्तिलिंग के रूप में प्रकट हुए थे। शिवपुराण में उल्लेखित एक कथा के अनुसार इस दिन भगवान शिव और माता पार्वती का विवाह हुआ था और भोलेनाथ ने वैराग्य जीवन त्याग कर गृहस्थ जीवन अपनाया था। इस दिन विधिवत आदिदेव महादेव की पूजा अर्चना करने से सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती है व कष्टों का निवारण होता है।

महाशिवरात्रि डेट- 1 मार्च 2022, मंगलवार

15 मार्च तक ये राशि वाले मनाएंगे जश्न, सूर्य देव की कृपा से हर कार्य में मिलेगी सफलता

महाशिवरात्रि पूजा विधि…

  • इस पावन दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि से निवृत्त होने के बाद साफ- स्वच्छ वस्त्र धारण कर लें।
  • इस समय कोरोना महामारी की वजह से घर में ही भोलेनाथ की पूजा- अर्चना करें।
  • घर के मंदिर में दीप प्रज्वलित करें।
  • अगर घर में शिवलिंग है तो शिवलिंग का गंगा जल, दूध, आदि से अभिषेक करें।
  • भगवान शिव के साथ ही माता पार्वती की पूजा अर्चना भी करें।
  • भोलेनाथ का अधिक से अधिक ध्यान करें।
  • ऊॅं नम: शिवाय मंत्र का जप करें।
  • भगवान भोलेनाथ को भोग लगाएं। इस बात का ध्यान रखें कि भगवान को सिर्फ सात्विक चीजों का भोग लगाया जाता है।
  • भगवान की आरती करना न भूलें।

सूर्य के बाद अब शुक्र, मंगल का होगा राशि परिवर्तन, इन 5 राशियों के जातकों के जीवन में होंगे बड़े बदलाव

महाशिवरात्रि पूजा सामग्री लिस्ट

  • पुष्प, पंच फल पंच मेवा, रत्न, सोना, चांदी, दक्षिणा, पूजा के बर्तन, कुशासन, दही, शुद्ध देशी घी, शहद, गंगा जल, पवित्र जल, पंच रस, इत्र, गंध रोली, मौली जनेऊ, पंच मिष्ठान्न, बिल्वपत्र, धतूरा, भांग, बेर, आम्र मंजरी, जौ की बालें,तुलसी दल, मंदार पुष्प, गाय का कच्चा दूध, ईख का रस, कपूर, धूप, दीप, रूई, मलयागिरी, चंदन, शिव व मां पार्वती की श्रृंगार की सामग्री आदि।
RELATED ARTICLES

1 COMMENT

  1. What a fantastic piece of work!
    You published a beautiful article in Hindi about Mahashivratri vrat, mahtva, puja vidhi, and katha.
    Thank you.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments