Saturday, August 13, 2022
spot_img
HomeNewskhichdi recipe, बच्‍चे को लंच में खिलाएंगी ये चीज तो कभी नहीं...

khichdi recipe, बच्‍चे को लंच में खिलाएंगी ये चीज तो कभी नहीं आएगी कमजोरी, आयुर्वेद भी कहता है खूब खिलाएं – bajra moong dal khichdi for babies


6 महीने के होने के बाद जब शिशु को ठोस आहार खिलाना शुरू किया जाता है तब ज्‍यादातर मांओं को पता नहीं होता है कि उनके बेबी के लिए क्‍या ज्‍यादा फायदेमंद रहेगा, किससे उन्‍हें सबसे ज्‍यादा पोषण मिलेगा और बेबी के लिए वो किन-किन चीजों को मिलाकर हेल्‍दी रेसिपी बना सकती हैं। अगर आप भी इसी दुविधा में हैं तो अब आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। यहां हम आपके बेबी के लिए लेकर आएं हैं हेल्‍दी और पौष्टिक बाजरा मूंग दाल खिचड़ी की रेसिपी। इस रेसिपी में भरपूर मात्रा में पोषक तत्‍व शामिल हैं और इसे बनाना भी बहुत आसान है। यहां हम आपको बाजरा मूंग दाल की खिचड़ी की रेसिपी और शिशु को इससे मिलने वाले फायदों के बारे में बता रहे हैं। आप बेबी को लंच या डिनर में ये खिचड़ी बनाकर खिला सकते हैं।

क्‍या-क्‍या चाहिए

बेबी के लिए इस हेल्‍दी खिचड़ी को बनाने के लिए आपको चाहिए आधा कप बाजरा (8 घंटे भीगा हुआ), आधा कप मूंग दाल, एक मध्‍यम आकार का प्‍याज, 1 मध्‍यम आकार का टमाटर, 1 कप कटी हुई सब्जियां, 1 चम्‍मच हल्‍दी, 1 चुटकी हींग, 4 कप पानी, स्‍वादानुसार नमक, एक चम्‍मच तेल या घी, आधा चम्‍मच जीरा और मुट्ठीभर धनिया।

Veg Moong Dal Khichdi Recipe

​बनाने का तरीका

navbharat times

इस खिचड़ी को बनाने की विधि है :

  • पहले सभी सब्जियों को बहते हुए पानी में अच्‍छी तरह से धो लें और उसे छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें।
  • अब मूंग दाल को धो लें और उसे 30 मिनट के लिए गुनगुने पानी में भीगने दें।
  • फिर प्रेशर कुकर लें और उसमें घी या तेल डालें। इसके गर्म होने पर इसमें जीरा डाल दें।
  • जब जीरा भुन जाए तो इसमें प्‍याज डालकर उसे हल्‍का भूरा होने तक भून लें।

फोटो साभार : Times food

​आगे के स्‍टेप्‍स

navbharat times
  • प्‍याज को भूनने के बाद इसमें टमाटर डालें। टमाटर जब हल्‍के नरम हो जाएं तो इसमें हल्‍दी और अन्‍य सब्जियां डालकर इसे चला लें।
  • इसके बाद इसमें बाजरा और दाल डालें और मिक्‍स कर लें।
  • अब पानी और नमक डालें और मिक्‍स कर के एक उबाल आने दें।
  • इसके बाद ढक्‍कन लगाकर धीमी आंच पर दो से तीन सीटियां लगा लें और फिर गैस को बंद कर दें।
  • कुछ मिनट बाद प्रेशर कुकर को खोलकर खिचड़ी सर्व करें।

फोटो साभार : Economic Times

​बाजरा मूंग दाल खिचड़ी के फायदे

navbharat times
  • इस खिचड़ी में कार्बोहाइड्रेट, विटामिन, कैल्शियम, मैग्‍नीशियम, पोटैशियम और फास्‍फोरस है।
  • बाजरा दाल खिचड़ी आसानी से पच जाती है इसलिए बच्‍चों के लिए ये बहुत अच्‍छा आहार है।
  • बाजरा मूंग दाल खिचड़ी पाचन तंत्र को डिटॉक्सिफाई करता है और इम्‍यूनिटी में भी सुधार लाता है।

फोटो साभार : Times food

​आयुर्वेद भी देता है महत्‍व

navbharat times

आयुर्वेद के अनुसार बाजरा मूंग दाल खिचड़ी को त्रिदोषिक रूटीन का एक हिस्‍सा माना गया है। इसका मतलब है कि इससे तीनों दोषों यानि वात, पित्त और कफ को संतुलित किया जाता है।

फोटो साभार : TOI

​किस उम्र के बच्‍चे को खिलाएं

navbharat times

आप 7 महीने से अधिक उम्र के बच्‍चे को यह खिचड़ी खिला सकते हैं। इससे बच्‍चे को कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, कैल्शियम, पोटैशियम और आयरन जैसे कई पोषक तत्‍व प्राप्‍त होंगे।

फोटो साभार : TOI

​रेसिपी टिप्‍स

navbharat times
  • आप इस बाजरा मूंग दाल खिचड़ी को बिना सब्जियों के भी बना सकते हैं।
  • आप इसे गुनगुना ही सर्व करें वरना ठंडी होने पर खिचड़ी सख्‍त हो जाती है।
  • खिचड़ी के ऊपर एक चम्‍मच घी डालकर परोसें। इससे इसका स्‍वाद बढ़ जाता है और शिशु आसानी से इसे पचा पाता है।
  • छोटे बच्‍चों के खाने में हरी मिर्च, अदरक का इस्‍तेमाल ना करें।
  • सब्जियों में आप अपनी पसंद की कोई भी सब्‍जी जैसे कि गाजर, पत्तागोभी, आलू, मटर या बींस ले सकते हैं।

फोटो साभार : TOI



Source link

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments