खेल परिसर बनेगा नजफगढ़ में 
February 5, 2019 • Editor Awazehindtimes

मंत्रिमंडल की मंजूरी स्वास्थ्य विभाग के अहम प्रस्ताव को भी 

नई दिल्ली, फरवरी। दिल्ली सरकार ने बुधवार को नजफगढ़ में स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स बनाने की मंजूरी के साथसाथ जन्म से पहले बच्चे के लिंग की परीक्षण करने वाले डॉक्टरों की जानकारी देने वाले व्यक्ति को ईनाम देने की मंजूरी दी है। इस योजना के तहत 1 लाख 50 हजार तक ईनाम सूचना देने वालों को मिल सकता है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षता में दिल्ली मंत्रिमंडल ने नजफगढ़ के कैर गांव में एक स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स के निर्माण के लिए शिक्षा विभाग के प्रस्ताव को अपनी प्रशासनिक स्वीकृति और व्यय की मंजूरी 139.16 करोड़ रुपये दी।

प्रस्तावित स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में सिंथेटिक एथलेटिक ट्रैक, जॉगिंग ट्रेक, टेनिस कोर्ट, बास्केटबॉल कोर्ट, स्विमिंग पूल, क्रिकेट ग्राउंड के लिए लाइट, एथलेटिक और फुटबॉल ग्राउंड के लिए लाइट और निर्बाध विद्युत आपूर्ति प्रणाली विकसित की जाएगी। शिक्षा निदेशालय ने महसूस किया कि नजफगढ़ में कई गांव हैं जैसे मित्रा, सुरेहरा, रावता, छावला, इसापुर, कैर, पपरावत, खैरा, धनसा आदि ग्रामीण क्षेत्रों के युवाओं, छात्रों और नागरिकों के लिए कोई खेल परिसर नहीं था। जिसके बाद निदेशालय ने महसूस किया कि खेलों में उत्कृष्टता केवल तभी संभव है जब खिलाड़ी विशेष खेल आवासीय अकादमियों में प्रशिक्षण प्राप्त करें। इन्हीं बातों को ध्यान में रखते हुएनिदेशालय ने पूरे क्षेत्र का सर्वेक्षण किया और ग्राम कैर में जमीन को चिहिन्त किया।

प्रति हजार पर 902 है बालिकाओं को अनुपात -

दिल्ली में नागरिक पंजीकरण प्रणाली (सीआरएस ) के अनुसार वर्ष 2016 में पिछले साल की तुलना में लड़कियों का अनुपात बेहतर होकर प्रति हजार पर 902 पहुंच गया है। इससे पहले वर्ष 2001 में प्रति हजार पर 809 से बढ़कर वर्ष 2008 में बढ़कर 1004 पहुंच गया है। इसके बाद फिर लड़कियों के अनुपात में गिरावट आई। दिल्ली सरकार अब जनता की मदद से लड़कियों के घटते अनुपात को ठीक करना चाहती है।