Tuesday, June 28, 2022
HomeNewshow to deal with losing a baby: b praak baby died at...

how to deal with losing a baby: b praak baby died at the time of birth know how to cope with newborn death – पैदा होते ही गुजर गया सिंगर B Praak का बच्‍चा, इस मुश्किल घड़ी में पैरेंट्स कैसे रखें हिम्‍मत


जैसे ही पता चलता है कि आप प्रेगनेंट हैं, आपके मन में ढेरों उम्‍मीदें, खुशियां और आशाएं जाग उठती हैं। सिर्फ मां ही नहीं बल्कि होने वाले पापा और पूरा परिवार ही आने वाले बच्‍चे का इंतजार करना शुरू कर देता है। प्रेग्‍नेंसी के आखिरी महीनों में तो दिन गिन-गिन कर गुजारने पड़ते हैं कि कब न्‍यूबॉर्न बेबी का चेहरा देखने को मिलेगा। वो लोग सच में बहुत खुशनसीब होते हैं जिनके बच्‍चे हेल्‍दी पैदा होते हैं क्‍योंकि कुछ लोग ऐसे भी हैं जिनके बच्‍चे किसी जन्‍म विकार के साथ पैदा होते हैं या जन्‍म लेते ही उनकी मृत्‍यु हो जाती है।

बॉलीवुड सिंगर बी प्राक के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ। प्राक और उनकी पत्‍नी मीरा दोनों अपने आने वाले दूसरे बच्‍चे का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे लेकिन उनके साथ एक अत्‍यंत दुखद घटना हो गई। प्राक ने 15 जून को अपने इंस्‍टाग्राम अकाउंट पर यह खबर शेयर की कि उनके बच्‍चे की जन्‍म के समय ही मृत्‍यु हो गई है और वो और उनका पूरा परिवार काफी तकलीफ से गुजर रहा है। इसके साथ ही प्राक ने मीडिया और फैंस से उनकी प्राइवेसी का ध्‍यान रखने की गुजारिश की।

जिन कपल्‍स के साथ ऐसा होता है, उनके लिए खुद को संभालना काफी मुश्किल हो जाता है। ऐसे में कपल्‍स खुद और परिवार किस तरह इस तकलीफ से बाहर आ सकता है, आइए जानते हैं।

​खुद पर थोड़ा रहम करें

navbharat times

आप खुद पर थोड़ी दया रखें। इस दुख से उबरने और जो हुआ उसे स्‍वीकार करने के लिए खुद को थोड़ा समय दें। अपनी भावनाओं को लेकर खुद की ही आलोचना करने की जरूरत नहीं है। आप जो महसूस कर रहे हैं, बस उसे गुजरने दें और थोड़ा वक्‍त दें।

फोटो साभार : TOI

​अपना एक्‍सपीरियंस शेयर करें

navbharat times

आप ऑनलाइन या रियल लाइफ में इस तरह की तकलीफ से गुजरने वाले कपल्‍स के साथ अपनी फीलिंग्‍स शेयर कर सकते हैं। इससे मन बहुत हल्‍का महसूस करता है।

फोटो साभार : TOI

प्राक ने की पोस्‍ट

​परिवार के साथ रहें

navbharat times

मुश्किल वक्‍त में हमारा परिवार ही हमारे काम आता है। आप इस मुश्किल घड़ी में अपने परिवार के साथ ही रहें। इस वक्‍त उन्‍हें आपकी और आपको उनकी जरूरत है।

फोटो साभार : TOI

​ऐसा होता है

navbharat times

आप ये ना समझें कि आपके साथ ही ये हुआ या आपके साथ ही ऐसा क्‍यों हुआ। इस दुनिया में ऐसे कई लोग हैं जिनके साथ ऐसी दुखद घटना हो जाती है। मिसकैरेज और स्टिलबर्थ होता है और ऐसा नहीं है कि आपकी दुनिया खत्‍म हो गई है। आप फिर से कोशिश कर सकते हैं।

फोटो साभार : TOI

​काम पर कब लौटें

navbharat times

जब आप खुद को मेंटली और फिजिकली फिट महसूस करें, तब ही काम पर लौटें। ऑफिस में भी आपको इस हादसे के बारे में लोग सवाल पूछेंगे इसलिए आप तभी ऑफिस जाना शुरू करें, जब आपको लगे कि आप इस सबका सामना कर सकते हैं।

पेट में बच्‍चा मरने पर मिलने वाले संकेत, कारण और इलाज





Source link

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments