Monday, June 27, 2022
HomeHealth Newsherbs and spices for brain health: nutritionist ridhima batra shared ancient herbs...

herbs and spices for brain health: nutritionist ridhima batra shared ancient herbs for brain health it help to improve cognition power – Herbs for brain: दिमाग चलेगा नहीं दौड़ेगा, ब्रेन के लिए सुपर ड्रग्स हैं ये 5 पौधे, हैरत में डाल देंगे इसके फायदे


दिमाग (Brain Health) का सेहतमंद होना कितना जरूरी है यह आप बखूबी जानते होंगे। लेकिन ये नहीं पता होगा कि जब दिमाग की सोचने, समझने, याद रखने की ताकत कम होने लगती है तो क्या करें? दिमाग आपके शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग है। जो बाकी दूसरे सभी अंगों को काम करने के लिए तैयार करता है। असंतुलित जीवनशैली के वजह से आपके दिमागी क्रियाओं में बाधा उत्पन्न हो सकती है। ऐसे में इसकी सेहत का ध्यान रखना आपके लिए सबसे अहम मुद्दा होना चाहिए।

स्पोर्ट न्यूट्रीनिस्ट और Nutrition Defined की फाउंडर रिद्धिमा बत्रा ने वैज्ञानिक दृष्टि में मस्तिष्क को लाभ पहुंचाने वाली कुछ जड़ी-बूटियों और मसालों की जानकारी शेयर की है। उन्होंने लिखा है कि इनमें से कई जड़ी-बूटियों और मसालों का अध्ययन अल्जाइमर रोग पर उनके प्रभावों के लिए किया गया है। जबकि अन्य को सोचने, समझने, सीखने और याद रखने में शामिल मानसिक क्रिया या प्रक्रिया के लिए परीक्षण किया गया है।

​केसर- अवसाद में फायदेमंद

navbharat times

केसर दुनिया के महंगे मसालों में से एक है। इसका वैज्ञानिक नाम क्रोकस सैटाइवस है। एक स्टडी से पता चलता है कि केसर का उपयोग Depression मे बहुत फायदेमंद होता है। इसमें मौजूद क्रॉकेटिन अनिद्रा की परेशानी को कम करती है। ऐसे में यह अवसाद में राहत पहुंचाने का काम कर सकता है।

​बकोपा- अल्जाइमर के उपचार में उपयोगी

navbharat times

ब्राह्मी के पौधे को बकोपा भी कहते हैं। इसका वैज्ञानिक नाम बकोपा मोननेरी है। यह एक ऐसा पौधा है जिसका उपयोग सदियों से पारंपरिक आयुर्वेदिक चिकित्सा में किया जाता रहा है। बकोपा दिमाग में उन रसायनों को बढ़ाने का काम करता है जो सोच, सीखने और स्मृति के लिए जरूरी होते हैं। यह अल्जाइमर रोग कारकों से मस्तिष्क की कोशिकाओं की रक्षा भी कर सकता है। आप इसे आसान भाषा में ब्रेन को बूस्ट करने वाला स्मार्ट ड्रग्स भी कह सकते हैं।

​ग्रीन टी- एंग्जायटी को कम करता है

navbharat times

ग्रीन टी को कैमेलिया साइनेन्सिस पौधे की पत्तियों से बनाया जाता है। ग्रीन टी को अक्सर वजन घटाने वाले हर्ब के रूप में जाना जाता है। लेकिन ये जड़ी-बूटी चिंता को कम करती है। दिमागी क्रियाओं में सुधार करती है। यह एकाग्रता बढ़ाने में फायदेमंद होती है। एक स्टडी से पता चलता है कि ग्रीन टी में मौजूद कैफीन और एल-थीनाइन का इन सभी फायदों को सुनिश्चित करने का काम करती है।

​लेमन बाम- मूड को करता है बूस्ट

navbharat times

लेमन बाम का वैज्ञानिक नाम मेलिसा ऑफिसिनैलिस है। इसे बाम मिन्ट, ब्लू बाम, गार्डन बाम और स्वीट बाम भी कहा जाता है। लेमन बाम में मौजूद एंटी-स्ट्रेस और एंक्सियोलिटिक गुण तनाव को कम करके अच्छी नींद को बढ़ावा देना का काम करते हैं। साथ ही लेमन बाम में मेंटल हेल्थ में भी सुधार करता है।

सेहतमंद दिमाग के लिए जरूरी है ये जड़ी-बूटी

​गोटू कोला- याददाश्त को करती है दूरूस्त

navbharat times

गोटू कोला का वैज्ञानिक नाम सेंटेला एशियाटिका है। यह चीनी और आयुर्वेदिक चिकित्सा प्रणालियों में लंबे से उपयोग होने वाली जड़ी-बूटी है। 2016 की एक स्टडी से पता चलता है कि गोटू कोला और फोलिक एसिड स्ट्रोक बाद सोचने, समझने, सीखने की शक्ति को सुधारने में समान रूप से फायदेमंद थे। लेकिन गोटू कोला स्मृति डोमेन को बेहतर बनाने में अधिक प्रभावी था।

डिस्क्लेमर: यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से संपर्क करें।





Source link

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments