Tuesday, June 28, 2022
HomeCrimegirl trafficking: दिल्ली की लड़की से इंदौर तक कराई गई वैश्यावृत्ति, डेढ़...

girl trafficking: दिल्ली की लड़की से इंदौर तक कराई गई वैश्यावृत्ति, डेढ़ महीने बाद FIR


नई दिल्लीः शादी के बाद दुल्हन घर आती है, तो घर वाले उसे अपने परिवार की अच्छी बातों और किस्सों के बारे में बताते हैं, मगर एक लड़की को शादी के बाद ससुराल पहुंचते ही बताया गया कि हमारा मुख्य काम औरतों से धंधा करवाना है, यह सुनते ही लड़की के पैरों तले जमीन खिसक गई। लड़की का आरोप है कि उस पर खास-खास रिश्तेदारों को खुश रखने के दबाव बनाया गया। चार महीने में ही उन लोगों ने उसकी जिंदगी नरक से भी बदतर कर दी। रिश्तेदारों के अलावा उनके जानकारों से भी लड़की का रेप कराया गया। नए-नए लोग बुलाए जाते या लड़की को उनके पास भेजा जाता। दिल्ली से लेकर इंदौर तक वैश्यावृत्ति कराई गई। यह सनसनीखेज वारदात ईस्ट दिल्ली के मंडावली इलाके की है। पुलिस ने लड़की के बयान पर रेप, अप्राकृतिक संबंध, जान से मारने की धमकी देने की धारा में केस दर्ज किया है। हालांकि इतने संवेदनशील मामले को दर्ज करने में भी पुलिस ने करीब डेढ़ महीना लगा दिया।

navbharat times

Delhi News: उत्पीड़न की शिकार महिला से पुलिस ने दिखाई बेअदबी, कहा- बयान दर्ज कराना है तो खुद कोर्ट जाओ
दिसंबर 2021 में हुई थी शादी
मंडावली इलाके में रहने वाली पीड़िता की शादी 11 दिसंबर 2021 को इंदौर के लड़के के साथ हुई थी। आरोप है कि शादी के बाद इंदौर पहुंचते ही लड़की को परिवार के वैश्यावृत्ति के धंधे के बारे में बताया गया। इसके बाद अलग-अलग समय पर ससुर, देवर, मौसा, मौसा के जानकार तक ने लड़की के साथ जबरन रेप किया। लड़की मना करती तो उसके साथ मारपीट की जाती। जान से मारने की धमकी भी दी गई। पति ने अप्राकृतिक शारीरिक संबंध बनाए। वहीं मौसा का जानकार जिसने रेप किया वह 52 साल का अधेड़ था। खुद को फूट इंस्पेक्टर बता रहा था। आरोप है कि जब लड़की ने अपने घरवालों को आपबीती बताई तो आरोपियों ने उसके परिवार वालों से कोरे कागज पर साइन कराकर लड़की को उनके साथ दिल्ली भेज दिया।

navbharat timesOvum donation case : वर्जिन लड़कियों के अंडाणु क्वालिटी अच्छी नहीं होती… सौतेले पिता ने किया कई बार रेप, मां ने बनाया एग डोनेट करने की मशीन, हिला देगी यह घटना
4 मई को दी गई थी शिकायत
बताया गया है कि लड़की ने 4 मई को ही मधु विहार और डीसीपी ईस्ट के ऑफिस में लिखित शिकायत दे दी थी। मगर पुलिस ने एक महीना बीत जाने के बाद भी कोई एक्शन नहीं लिया। ऐसे में लड़की ने बीती 14 जून को पीसीआर कॉल कर दी और उसकी शिकायत पर केस दर्ज न करने की बात कही। इसके बाद पुलिस हरकत में आई, उन्हें अब जाकर यह पता चला कि लड़की जहां रहती है, वहां मंडावली थाना लगता है। चार दिन तक लड़की ने मंडावली थाने के चक्कर लगाए। इसके बाद शनिवार को केस दर्ज किया गया। इस मामले में देर से एफआईआर दर्ज होने के बारे में डीसीपी ईस्ट प्रियंका कश्यप से पूछा गया, लेकिन उन्होंने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी।



Source link

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments