FPIs pull out 18856 crore rupee from Indian stock markets in February check details – Business News India


Share Market: ग्लोबल टेंशन बढ़ने और अमेरिकी फेडरल रिजर्व द्वारा दरों में बढ़ोतरी की संभावना के बीच विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (FPI) ने फरवरी में अब तक भारतीय बाजारों से शुद्ध 18,856 करोड़ रुपये की निकासी की है। डिपॉजिटरी के आंकड़ों के अनुसार, विदेशी निवेशकों ने 1 से 18 फरवरी के बीच इक्विटी से ₹15,342 करोड़ और बॉन्ड बाजार से ₹3,629 करोड़ निकाले। साथ ही, उन्होंने हाइब्रिड के जरिए 115 करोड़ रुपये का निवेश किया।

लगातार पांचवें महीने निकाले गए पैसे

फरवरी में विदेशी निवेशकों की शुद्ध निकासी 18,856 करोड़ रुपये रही। बता दें कि यह लगातार पांचवां महीना है जब विदेशी फंड्स ने भारतीय बाजारों से निकासी की है।  पिछले एक साल में भारतीय इक्विटी से FPI का शुद्ध निकासी 8 बिलियन अमरीकी डॉलर के करीब है। यह आंकड़ा 2009 के बाद से सबसे अधिक है। 

यह भी पढ़ें- टाटा ग्रुप की इस कंपनी में लगा सकते हैं दांव, 273 रुपये पर जा सकता है शेयर, एक्सपर्ट हैं बुलिश

क्या कहते हैं एक्सपर्ट?

मॉर्निंगस्टार इंडिया के एसोसिएट डायरेक्टर- मैनेजर रिसर्च हिमांशु श्रीवास्तव ने कहा, ‘ग्लोबल टेंशन बढ़ने और यूएस फेड द्वारा दरों में बढ़ोतरी की संभावना ने हाल के दिनों में भारतीय इक्विटी बाजारों से एफपीआई का भरोसा कम हो रहा है और निकासी कर रहे हैं। यह निकासी अमेरिकी केंद्रीय बैंक द्वारा ब्याज दरों में बढ़ोतरी के संकेत दिए जाने के बाद बढ़ी है।

यह भी पढ़ें- कहीं आनंद सुब्रमण्यम ही ‘रहस्यमय योगी’ तो नहीं? जिसपर चित्रा रामकृष्ण सैलरी के नाम पर लुटाती थीं करोड़ों रुपये

वहीं, कोटक सिक्योरिटीज के हेड-इक्विटी रिसर्च (रिटेल) श्रीकांत चौहान ने कहा कि यूक्रेन को लेकर अमेरिका और रूस के बीच तनाव बढ़ने के कारण निवेशक बॉन्ड और सोने जैसे सुरक्षित निवेश विकल्पों की ओर रुख कर रहे हैं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: