Food for lungs: फेफड़ों में भरी गंदगी-कफ को बाहर निकाल फेंके ये 5 सुपरफूड, Lung cancer का जोखिम भी होता है कम – world lung day 2022 start consuming these 5 superfood for healthy lungs


आपके फेफड़े (Lungs) श्वसन तंत्र का मुख्य हिस्सा होते हैं। जो आपको सांस लेने में मदद करते हैं। फेफड़े स्पंजी, हवा से भरे अंगों की एक जोड़ी है, जो छाती (Chest) के दोनों ओर स्थित होते हैं। वैसे तो यह शरीर के उन अंगों में से हैं जो खुद ही टॉक्सिक चीजों का सफाया कर लेते हैं, लेकिन समय के साथ और बीमारियों की वजह से यह कमजोर होने लगते हैं। इसलिए स्वस्थ भोजन का सेवन करके फेफड़ों को स्वस्थ बनाए रखना आवश्यक है।

यदि आप दिल्ली, नोएडा जैसे सबसे ज्यादा प्रदुषित शहरों में रहते हैं, तो आपके फेफड़ों को एक्स्ट्रा केयर की जरूरत है। हम इन दिनों प्रदूषण के खतरनाक स्तर में सांस ले रहे हैं। इससे बेखबर हम सब जिंदगी जी रहें हैं, लकिन शोधकर्ता और पर्यावरणविद् भविष्य के प्रभावों से भयभीत हैं। इसके अलावा आपके फेफड़े को वह सभी कारक प्रभावित करते हैं जो जो हवा के माध्यम से आपके फेफड़ों तक पहुंच रहें हैं।

हर साल दुनियाभर में 25 सितंबर को वर्ल्ड लंग्स डे (World Lung day 2022) में मनाया जाता है। इसका उद्देश्य लंग्स हेल्थ के किए गए कामों की सराहना करना है। साथ ही एकजुट होकर विश्व स्तर पर बेहतर फेफड़ों के स्वास्थ्य को बढ़ावा देना है।

​लहसुन

94423213

लहसुन भारतीय रसोई में सबसे ज्यादा इस्तेमाल किए जाने वाले मसालों में से एक है। लेकिन कुछ लोग ऐसे भी हैं जिन्हें लहसुन बिल्कुल पसंद नहीं होता है। लहसुन में एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-वायरल और एक एंटी-फंगल गुण पाएं जाते हैं, जो इसे जड़ी बूटी का दर्जा भी देते हैं।

एनसीबीआई के अनुसार, आहार में कच्चे लहसुन का उपयोग फेफड़ों के कैंसर के विकास की संभावना को 44% तक कम कर सकता है। लहसुन फेफड़ों को स्वस्थ रखने के अलावा हृदय, रक्तचाप, संक्रमण और हड्डियों के लिए भी फायदेमंद होता है।

​अदरक

94423185

NIH के अनुसार, अदरक एक शक्तिशाली जड़ी बूटी है। एक मजबूत एंटीऑक्सिडेंट और एंटी-माइक्रोबियल गुणों से भरपूर होने के कारण यह फेफड़ों को स्वस्थ रखने और प्रतिरक्षा प्रणाली को बेहतर बनाने के लिए फायदेमंद माना जाता है। यह फेफड़ों से वायु प्रदूषकों और तंबाकू के धुएं को खत्म करने के लिए भी जाना जाता है। इसके साथ ही यह फेफड़ों में कफ भर जाने, ब्रोंकाइटिस और अस्थमा जैसी कई क्रॉनिक फेफड़ों की बीमारियों में भी कारगर साबित होता है।

​सेब

94423180

यदि आप भारत के सबसे प्रदूषित शहरों में से एक में रहते हैं और धूम्रपान करने वाले हैं, तो सेब आपके सबसे अच्छे दोस्त हैं। क्वेरसेटिन नामक एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर सेब फेफड़ों को कई प्रकार के प्रदूषकों और जलन से बचाने का एक शानदार तरीका है। कुछ अध्ययनों के अनुसार, क्वेरसेटिन फेफड़ों के कैंसर की रोकथाम में भी अत्यधिक उपयोगी है।

​अनार

94423144

कैंसर रोगियों में अनार के सेवन को अक्सर ‘वैकल्पिक कैंसर उपचार’ के रूप में जाना जाता है। खनिजों और विटामिनों से भरपूर, अनार एक फल है जो एंटीऑक्सिडेंट और एंथोसायनिन का शक्तिशाली स्रोत है। अनार फेफड़ों के कैंसर के अलावा प्रोस्टेट, ब्रेस्ट, कोलन और स्किन कैंसर से पीड़ित लोगों के लिए भी मददगार है। ऐसे में इसे आहार में शामिल करना आपके फेफड़ों के लिए फायदेमंद हो सकता है।

​हल्दी

94423133

हल्दी दुनिया भर में अपने औषधीय जीवाणुरोधी गुणों के लिए जाना जाता है। हल्दी उन लोगों के लिए बहुत अच्छी मानी जाती है, जिन्हें फेफड़ों के कैंसर और फेफड़ों की क्रॉनिक बीमारियों का खतरा है। इसे आसानी से अपने आहार में शामिल किया जा सकता है।

डिस्क्लेमर: यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से संपर्क करें।



Source link

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: