Delhi Traffic Advisory: स्वतंत्रता दिवस के मौके पर दिल्ली के बंद रहेंगे ये रूट्स, घर से निकलने से पहले कृपया देखें एडवाइजरी – 75 independence day celebration delhi traffic police advisory read here many route would be closed and route divert


नयी दिल्ली: देश में सोमवार को मनाए जाने वाले स्वतंत्रता दिवस उत्सव के मद्देनजर राष्ट्रीय राजधानी में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। लाल किले के आसपास 10,000 से ज्यादा कर्मियों को तैनात किया गया है। पीएम नरेंद्र मोदी सोमवार को यहीं से राष्ट्र को संबोधित करेंगे। लाल किले पर चेहरे से पहचान करने वाली प्रणाली युक्त कैमरों से लेकर बहु स्तरीय सुरक्षा की व्यवस्था की गई है। इसके साथ ही कल दिल्ली के कई रूट डायवर्ट रहेंगे। 14 अगस्त की आधी रात से 15 अगस्त सुबह 11 बजे तक महाराणा प्रताप ISBT और सराय काले खां ISBT के बीच अंतरराज्यीय बसों की आवाजाही की अनुमति नहीं होगी।

ट्रैफिक एडवाइजरी की रिपोर्ट के अनुसार, 15 अगस्त को लाल किले से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्र को संबोधित करेंगे, इसी वजह से सुबह चार से दस बजे तक सामान्य यातायात के लिए बंद रहेगा और केवल परमिशन वाले वाहनों को प्रवेश की इजाजत दी जाएगी, दिल्ली की सीमाओं पर भारी वाहन और परिवहन वाहनों की आवाजाही पर भी प्रतिबंध रहेगा।

इन मार्गों में बिल्कुल न निकलें
पुलिस के परामर्श के मुताबिक नेताजी सुभाष मार्ग, लोथियन रोड, एसपी मुखर्जी मार्ग, चांदनी चौक रोड, निषाद राज मार्ग, एस्प्लेनेड रोड और नेताजी सुभाष मार्ग की ओर जाने वाला लिंक रोड, राजघाट से आईएसबीटी तक रिंग रोड और आईएसबीटी से आईपी फ्लाईओवर तक बाहरी रिंग रोड समेत कुल आठ सड़कें आम लोगों के वाहनों के लिए बंद रहेंगी।

कल भी बंद रहेंगे ये मार्ग
नोएडा, लोनी, सिंघू, गाजीपुर, बदरपुर, साफिया, महाराजपुर, आया नगर, औचंदी, सूर्य नगर, रजोकरी, अप्सरा, कालिंदी कुंज, झाड़ौदा, भोपुरा, लाल कुआं पुल प्रह्लाद पुर और टिकरी बॉर्डर वाणिज्यिक और अन्य वाहनों के लिए शुक्रवार को रात 10 बजे से शनिवार सुबह 11 बजे तक बंद रहेंगे। इसी प्रकार ये रास्ते रविवार और सोमवार को भी बंद रहेंगे।

सुरक्षा एकदम टाइट
विशेष पुलिस आयुक्त (कानून एवं व्यवस्था) दीपेंद्र पाठक ने बताया था कि दिल्ली में दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 144 पहले ही लगा दी गई है। 13 अगस्त से 15 अगस्त के बीच लाल किले पर कार्यक्रम समाप्त होने तक कोई भी पतंग, गुब्बारा या चीनी कंदील उड़ाता हुआ पाया गया तो उसे दंडित किया जाएगा। पाठक ने कहा कि अहम स्थानों पर जरूरी उपकरणों के साथ पतंग पकड़ने वालों को तैनात किया गया है और उनका काम यह सुनिश्वित करना है कि कार्यक्रम स्थल पर पतंग, गुब्बारा और चीनी कंदील न पहुंचे।”

ड्रोन रडार सब एक्टिव
उन्होंने कहा कि ड्रोन के खतरे को देखते हुए राडर तैनात किए जाएंगे। वर्ष 2017 में प्रधानमंत्री मोदी के भाषण के दौरान मंच के निकट एक पतंग आकर गिरी थी। हालांकि प्रधानमंत्री ने अपना भाषण जारी रखा था। पुलिस ने उत्तर, मध्य और नई दिल्ली जिलों में हवाई वस्तुओं पर लगाम लगाने के लिए उन्नत किस्म के करीब 1,000 कैमरे लगाए हैं। ये कैमरे लाल किले तक जाने वाले वीवीआईपी मार्ग पर भी नजर रखने में मदद करेंगे।



Source link

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: