delhi pollution news: अगली सर्दियों में GRAP के तहत दिन में दो घंटे चल सकेंगे डीजल जनरेटर


नई दिल्ली: सर्दियों के दौरान दिल्ली-एनसीआर को जानलेवा प्रदूषण से राहत दिलाने के लिए एक अक्टूबर से GRAP लागू किया जाता है। इसी के तहत दिल्ली एनसीआर में डीजल जनरेटरों पर भी पूरी तरह रोक लगा दी जाती है। लेकिन GRAP (ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान) के पांच साल बाद भी डीजल जनरेटरों को लेकर काफी कन्फ्यूजन दिखता है। अब सीएक्यूएम (कमिशन फॉर एयर क्वालिटी मैनेजमेंट) ने डीजल जनरेटरों को लेकर पूरी गाइडलाइंस व निर्देश जारी कर दिए हैं। आने वाली सर्दियों में यानी 1 अक्टूबर से अब इसी के तहत दिल्ली एनसीआर में जनरेटरों का इस्तेमाल हो सकेगा। तैयारी करने के लिए लोगों के पास अभी पर्याप्त समय भी है।

navbharat times
Gurugram: बंद पड़े ढाबे पर पेट्रोल-डीजल चोरी का चल रहा था खेल, टैंकरों की मदद से दे रहे थे अंजाम

सीएक्यूएम के अनुसार विभिन्न संगठनों, अधिकारियों, आरडब्ल्यूए, सोसायटियों आदि के सुझावों के बाद यह निर्देश जारी किए गए हैं। GRAP के तहत इमरजेंसी सर्विस में डीजी सेट का इस्तेमाल किया जा सकेगा। इनमें व्यवायिक बिल्डिंग, रेजिडेंशल सोसायटी आदि में एलिवेटर, एक्सीलेटर, ट्रेवलेटर आदि को छूट दी गई है। लेकिन डीजी सेट से सिर्फ यही चीजें चल सकेंगी, इसके अलावा डीजी सेट का इस्तेमाल नहीं होगा। इसके अलावा मेडिकल सर्विस, रेलवे सर्विस/रेलवे स्टेशन, डीएमआरसी और एमआरटीएस जिसमें ट्रेन और ऑपरेशन शामिल हैं, एयरपोर्ट व आईएसबीटी, सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट्स, वॉटर पंपिंग स्टेशन, राष्ट्रीय सुरक्षा/ डिफेंस व राष्ट्रीय महत्व से जुडे़ प्रोजक्ट, टेलीकम्युनिकेशन और आईटी व डेटा सर्विस आदि शामिल हैं। इनके अलावा यदि कहीं एलपीजी, नैचुरल गैस, बायोगेस, प्रोपेन, बूटेन आदि से जनरेटर सेट चल रहे हैं तो उन पर भी GRAP के तहत रोक नहीं रहेगी।

navbharat timesDelhi News: ‘ई-वीकल कैपिटल’ बनेगी दिल्ली, हर सरकारी दफ्तर में होगा ई-गाड़ियों के लिए चार्जिंग स्टेशन
बिजली की डिमांड को देखते हुए जनरेटर सेट को प्रतिदिन दो घंटे चलाने की इजाजत दी गई है। इसके लिए डीजल जनरेटरों को हाइब्रिड या ड्यूल फ्यूल में कनवर्ट करवाना होगा। इनमें 70 प्रतिशत फ्यूल क्लीन और 30 प्रतिशत डीजल रहेगा। इसके अलावा इस तरह के डीजल सेट को रेट्रोफिटेड इमिशन कंट्रोल डिवाइस भी लगाना होगा। दिन के किस समय इन डीजल जनरेटरो का इस्तेमाल करना है इसे भी पहले से बताना होगा। इसके अलावा GRAP में कोई अन्य डीजल सेट नहीं चल पाएगा। एक अक्टूबर 2022 से यह नए नियम लागू हो जाएंगे।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: