Delhi Police: छावनी में तब्दील हुई दिल्ली, ड्रोन के खतरे को देखते हुए लाल किले में लगाई की विशेष मशीन – tight security arrangements in delhi on the occasion of independence day


नयी दिल्ली : देश में सोमवार को मनाए जाने वाले स्वतंत्रता दिवस उत्सव के मद्देनजर राष्ट्रीय राजधानी में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। और लाल किले के आसपास 10,000 से ज्यादा कर्मियों को तैनात किया गया है। लाल किले पर चेहरे से पहचान करने वाली प्रणाली युक्त कैमरों से लेकर बहु स्तरीय सुरक्षा की व्यवस्था की गई है। साथ में 400 से ज्यादा पतंगबाज़ों और पतंग पकड़ने वालों को तैनात किया गया है। सुरक्षा बल ऐतिहासिक किले की सुरक्षा में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं जहां करीब सात हजार लोग कार्यक्रम के लिए जुटेंगे।

विशेष पुलिस आयुक्त (कानून एवं व्यवस्था) दीपेंद्र पाठक ने बताया था कि दिल्ली में दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 144 पहले ही लगा दी गई है। 13 अगस्त से 15 अगस्त के बीच लाल किले पर कार्यक्रम समाप्त होने तक कोई भी पतंग, गुब्बारा या चीनी कंदील उड़ाता हुआ पाया गया तो उसे दंडित किया जाएगा। पाठक ने कहा, ‘अहम स्थानों पर जरूरी उपकरणों के साथ पतंग पकड़ने वालों को तैनात किया गया है और उनका काम यह सुनिश्वित करना है कि कार्यक्रम स्थल पर पतंग, गुब्बारा और चीनी कंदील न पहुंचे।’

उन्होंने कहा कि ड्रोन के खतरे को देखते हुए राडर तैनात किए जाएंगे। वर्ष 2017 में प्रधानमंत्री मोदी के भाषण के दौरान मंच के निकट एक पतंग आकर गिरी थी। हालांकि प्रधानमंत्री ने अपना भाषण जारी रखा था। पुलिस ने उत्तर, मध्य और नई दिल्ली जिलों में हवाई वस्तुओं पर लगाम लगाने के लिए उन्नत किस्म के करीब 1,000 कैमरे लगाए हैं। ये कैमरे लाल किले तक जाने वाले वीवीआईपी मार्ग पर भी नजर रखने में मदद करेंगे।



Source link

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: