Sunday, June 26, 2022
HomeNewsdelhi ncr waterlogging news: दिल्ली-NCR पर भारी पड़ गई पहली बारिश! तालाब...

delhi ncr waterlogging news: दिल्ली-NCR पर भारी पड़ गई पहली बारिश! तालाब बना बस डिपो, जीरो पॉइंट पर बच्चों ने की तैराकी – delhi ncr waterlogging at many places after first rain including kaushambi bus depot


नई दिल्ली : भीषण गर्मी में मानसून का इंतजार करते दिल्ली-एनसीआर के लोगों को बुधवार को काफी राहत मिली, जब कई इलाकों में खूब झमाझम बारिश हुई। मगर बारिश राहत के साथ आफत भी लेकर आई। जगह-जगह जलभराव देखने को मिले, जिससे लोगों को काफी परेशानी हुई। वहीं जलभराव की एक तस्वीर यूपी गेट के पास एलिवेटेड रोड के जीरो पॉइंट से भी आई। यहां सुबह दिल्ली के मंटो बृज की तरह पानी भरा हुआ नजर आया। यहां से निकलने वाली छोटी से लेकर बड़ी गाड़ियां पानी के अंदर तक डूब गईं। गौर करने वाली बात यह है कि जीडीए द्वारा इस इलाके को काफी विकसित किया गया था। ग्रीन बेल्ट से लेकर यहां पर ड्रेनेज तक की व्यवस्था की गई है।

बच्चों ने की तैराकी
एलिवेटेड रोड के जीरो पॉइंट पर हुए जलभराव में छोटे-छोटे बच्चों ने तैराकी की। सुबह से तेज धूप होने के बावजूद भी शाम तक यहां जलभराव देखने को मिला। हालांकि, जलभराव के स्तर में कमी जरूर आई, लेकिन इसके कारण इस इलाके में सुबह से ट्रैफिक प्रभावित हुआ। रोजाना इस रास्ते से दिल्ली जाने वाले नीरव मिश्रा ने बताया कि पहले यहां इतना जलभराव नहीं होता था, लेकिन कुछ ही देर में यहां बुरा हाल हो गया।

कौशांबी बस डिपो भी तालाब में तब्दील
कौशांबी बस डिपो का भी कुछ ऐसा ही हाल है। रात को हुई बारिश के कारण पूरे कौशांबी डिपो तालाब में तब्दील हो गया। इससे जहां बसों को निकलने में दिक्कत हुई, वहीं रोजाना आने-जाने वाले यात्री भी परेशान दिखे। डिपो के अंदर दुकानदारों को भी इससे परेशानी हुई। वहीं कौशांबी डिपो के अधिकारियों का कहना है कि नगर निगम द्वारा डिपो के बाहर हो रहे नाले के निर्माण के कारण जल निकासी नहीं हुई। इससे पूरा पानी डिपो में ही जमा हो गया।

निर्माण कार्य के चलते हुआ जलभराव
कौशांबी डिपो आरएम एके सिंह ने कहा कि बारिश के कारण पहले कभी इतना जलभराव नहीं हुआ। अभी नाले का निर्माण किया जा रहा है, इसलिए इतना जलभराव हुआ है। गाजियाबाद के एग्जिक्युटिव इंजीनियर एके चौधरी ने कहा कि एलिवेटेड रोड के पास इतना जलभराव क्यों हो रहा है, इसे चेक करवा लेते हैं।



Source link

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments