delhi murder crime news, Delhi Crime: टूथपेस्ट से लिखा किलर किंग, छोड़ा काला दस्ताना.. ‘तू चोर, मैं सिपाही’ देख दिल्ली में दिव्यांग का मर्डर – house help kills boy in bunglow in safdarjung delhi


विशेष संवाददाता, सफदरजंग एंक्लेवः सफदरजंग के पॉश एरिया में बुधवार दोपहर कोठी के अंदर एक दिव्यांग लड़के की हत्या कर दी गई। वारदात के समय परिजन मंदिर गए थे, ज कि घर पर घरेलू नौकर देखभाल के लिए था। पुलिस ने हत्या के केस को सुलझाते हुए 24 घंटे के अंदर नाबालिग घरेलू नौकर को पकड़ लिया। आरोपी मूलरूप से बिहार के सीतामढ़ी का रहने वाला है। पुलिस ने इसके पास से सोने की जूलरी और चार हजार रुपये बरामद किए हैं, जो वारदात करने के बाद वह घर से लेकर भागा था। पुलिस का कहना है, आरोपी को बालिग होने में महज एक महीने का वक्त बचा था।

navbharat times
Meerut Crime: बैंक मैनेजर की पत्‍नी-बेटे की हत्‍या में दूसरे आरोपी ने कर ली खुदकुशी, बहनोई पहले हो चुका अरेस्‍ट

जूलरी और कैश लेकर भागने से पहले आरोपी नाबालिग ने बाथरूम की खिड़की पर टूथपेस्ट से ‘किलर किंग’ लिख दिया और घर में एक काले रंग का दस्ताना भी निशानी के रूप में छोड़ दिया। बता दें कि आरोपी नाबालिग लड़को को यह आइडिया 1996 मे आई बॉलीवुड की फिल्म ‘तू चोर मैं सिपाही’ के सीन को देखने के बाद आया।

पीड़ित परिवार नॉर्थ दिल्ली और मुंबई में जूलरी का बिजनस है। वारदात के समय परिवार पास में मंदिर गया हुआ था। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, आरोपी की उम्र 17 साल है और वह समस्तीपुर बिहार का रहने वाला है। पुलिस ने यह भी बताया कि परिवार के नाबालिग आरोपी को काम पर रखने से पहले उसका पुलिस वेरिफेकेशन नहीं करवाया था। पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रही है ताकि यह कन्फर्म किया जा सके कि दिव्यांग लड़के के साथ किसी तरह का यौन शोषण तो नहीं हुआ।

navbharat timesपेटीएम पर 100 रुपये का ट्रांजैक्शन…और यूं पुलिस की गिरफ्त में आ गए 2 करोड़ की जूलरी लूटने वाले बदमाश
पीड़ित लड़के के पिता ने बताया कि बच्चे के शारीरिक रूप से अक्षम होने की वजह से उसकी मदद के लिए तीन महीने पहले ही लड़के को रखा था। वह ग्राउंड पर सर्वेंट क्वाटर में रहता था और कुछ दिन पहले ही उसकी सैलरी उसकी मां के अकाउंट में ट्रांसफर की गई थी। उन्होंने यह भी बताया कि इस लड़के को रखने से पहले बच्चे की मदद के लिए एक और नौकर रखा गया था जो 25 दिन में ही काम छोड़कर चला गया था। उसके जाने के बाद घर में काम करने वाली दूसरी नौकरानी ने इस लड़के को काम पर रखवाया था। दुखी पिता ने बताया कि हमें लड़के पर किसी तरह का शक नहीं हुआ क्योंकि वह बहुत कम बात करता था और ज्यादातर समय सिर झुकाकर ही किसी बात का जवाब देता था। पिछले 3 महीनों में उससे मिलने के लिए भी कोठी पर कोई नहीं आया था।

पुलिस अफसर के मुताबिक, 31 अगस्त को दोपहर जानकारी मिली थी। मालूम चला कि 18 साल के लड़के की हत्या की गई है, आरोप नौकर पर था। पुलिस बताई गई लोकेशन सफदरजंग डिवलपमेंट एरिया स्थित घर पर पहुंच गई। मौके पर दिव्यांग लड़का बेड पर मृत मिला। लड़के की बहन ने पुलिस को बताया, परिवार के सभी सदस्य मंदिर गए थे। घर पर उसका भाई था, जबकि नौकर देखभाल के लिए छोड़ा था। इसके बाद वह भी किसी काम से ग्रीन पार्क मार्केट चली गई। जब वह कुछ देर बाद लौटी तो उसने भाई को मृत पाया और नौकर फरार था। घर से कैश और जूलरी भी गायब थी। जांच में पुलिस को पता चला इस नौकर को पीड़ित परिवार ने मेड के जरिए तीन महीने पहले काम पर रखा था।

navbharat timesदेहरादून में एक ही परिवार के 5 लोगों का कत्ल, आरोपी ने मां, पत्नी और बच्चियों को बेरहमी से उतारा मौत के घाट
आरोपी का काम इस घर के काम करने के अलावा दिव्यांग लड़के को नहलाना और उसकी साफ सफाई करना था। पुलिस को आरोपी के बैंक अकाउंट और मोबाइल नंबर की जानकारी पीड़ित परिवार से मिली। आरोपी का मोबाइल बंद था। पुलिस ने हौजखास गांव में उसके कुछ रिश्तेदार ट्रेस किए गए जिनसे मिले क्लू के बाद पुलिस ने नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से आरोपी को पकड़ लिया। नाबालिग आरोपी ने पूछताछ में बताया वह दिव्यांग लड़के की देखभाल करने से तंग था। वह काम छोड़ना चाहता था, लेकिन उसके पास रुपए नहीं थे। ऐसे में काम छोड़ने से पहले उसने इस घर में सेंध लगाने का प्लान बनाया। वह चोरी के बाद घर से निकलता तभी लड़के ने उसे देख विरोध जाहिर किया। इसके बाद आरोपी ने उसकी गला दबाकर हत्या कर दी और कैश-जूलरी लेकर फरार हो गया।



Source link

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: