Saturday, July 2, 2022
HomeNewsDelhi Encroachment News : Delhi Police To Remove Encroachment From 77 Corridors...

Delhi Encroachment News : Delhi Police To Remove Encroachment From 77 Corridors To Avoid Traffic Jam In Delhi – दिल्ली को जाम से बचाने के लिए 77 कॉरिडोर से हटेगा अतिक्रमण, 2017 में की गई थी पहचान


नई दिल्लीः दिल्ली पुलिस की तरफ से सबसे पहले उन 77 कॉरिडोर पर अतिक्रमण हटाने का अभियान चलेगा, जिसकी पहचान सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर बनी टास्क फोर्स ने 2017 में किया था। पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना ने मंगलवार शाम को सभी जिलों के डीसीपी और ट्रैफिक पुलिस को इसके निर्देश दिए हैं। पुलिस अफसरों ने बताया कि सिविक एजेंसियों की मदद से इस अतिक्रमण अभियान को चलाया जाएगा।

पूरा एक्शन प्लान उनका होगा, जिसमें पुलिस अपनी तरफ से सुरक्षा मुहैया कराएगी। इन कॉरिडोर को तीन कैटिगरी में बांटा गया था। ए-कैटिगरी में 29 रोड की पहचान हुई थी, जिनमें सबसे ज्यादा जाम रहता है। इन कॉरिडोर पर रोजाना 50 हजार से ज्यादा गाड़ियां चलती हैं। बी-कैटिगरी में 30 रोड हैं, जिनमें 30 हजार से ज्यादा गाड़ियां रोज गुजरती हैं, जबकि सी-कैटिगरी में 18 रोड हैं, जिनमें रोजाना 20 हजार से ज्यादा गाड़ियां दौड़ती हैं।
navbharat times

अतिक्रमण के खिलाफ एक्शन में दिल्ली पुलिस! एनक्रॉचमेंट वाले फुटपाथों की लिस्ट बनाकर चलाया जाएगा अभियान
पक्का निर्माण हटाना सबसे बड़ी चुनौती
पुलिस सूत्रों ने बताया कि इन रोड के फुटपाथ पर कई जगह कच्चे पक्का निर्माण किया गया है। कई धार्मिक स्थल भी बन चुके हैं। कच्चा निर्माण तो हट जाएगा, लेकिन सबसे ज्यादा दिक्कत पक्का निर्माण हटाने की है। नगर निगम और एनडीएमसी को इसके लिए अपना एक्शन प्लान बनाने के लिए कहा जाएगा। ये दोनों सिविक एजेंसियां ही तोड़फोड़ का काम करती हैं। इसके लिए दिल्ली पुलिस की तरफ से पूरी फोर्स मुहैया कराई जाएगी।

40 जगहों पर अतिक्रमण हटने से चौड़ी हो जाएगी सड़क
ट्रैफिक पुलिस इस दौरान जरूरत पड़ने पर ट्रैफिक डायवर्ट करने का काम करेगी। टास्क फोर्स ने 40 ऐसे पॉइंट्स की पहचान की थी, जहां से अतिक्रमण हटाने से सड़क चौड़ी हो जाएगी। कई जगह अवैध पार्किंग चलने से जाम रहता है। इस सबको हटाने के लिए यह अभियान चलाया जाएगा। सभी जिलों की तरफ से जल्द ही सिविक एजेंसियों के साथ इसे लेकर मीटिंग होगी, जो अपना प्लान बनाने को कहेंगे। इसके मुताबिक ही उन्हें पुलिस मुहैया कराई जाएगी।



Source link

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments