Covid-19 treatment: शोध में खुलासा-Immunity बढ़ाकर कोरोना से बचा सकती हैं ये हर्बल दवाएं – according to study published in national library of medicine unani herbal medicine prevent you coronavirus


हर्बल दवाओं में कोरोना से बचाने की क्षमता

navbharat times

अध्ययन में बताया गया है कि इंफूजा और कुलजम पहले से ही उपयोग में हैं। यह दवाएं सामान्य सर्दी, सिरदर्द और फ्लू के लक्षणों के लिए निर्धारित हैं। शोधकर्ताओं ने अपने अध्ययन में पाया है कि यह दवाएं इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत बनाकर कोरोना वायरस से बचाव कर सकती हैं।

ऐसे हुआ अध्ययन

navbharat times

फाइटोथेरेपी रिसर्च जर्नल में भी प्रकाशित अध्ययन से पता चलता है कि इन दवाओं का क्लिनिकल ट्रायल लगभग एक साल तक नई दिल्ली स्थित हकीम अब्दुल हमीद सेंटेनरी हस्पताल में किया गया। यह अध्ययन हमदर्द इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज एंड रिसर्च (HIMSR) के एलोपैथिक डॉक्टर, यूनानी हकीम, माइक्रोबायोलॉजिस्ट और बायोकेमिस्ट का एक शोध दल ने किया। इस क्लीनिकल स्टडी का संचालन सितम्बर 2020 से मई 2021 के बीच किया गया था। कुल 6961 लोगों को इस अध्ययन के लिए स्क्रीन किया गया और 251 निगेटिव आरटीपीसीआर और एंटीवाडी वाले लोगों को इस क्लीनिकल स्टडी में शमिल किया गया। इन 251 लोगों को अलग अलग ग्रुप में रेडमाइज्ड किया गया जिसमें 52 हाई रिस्क वाले लोगों को इन्फयूजा, 51 को कुलजुम, 51 को इन्फयूजा और कुलजुम और 53 को कंट्रोल ग्रुप में रखा गया।

इंफूजा और कुलजम का कॉम्बिनेशन है असरदार

navbharat times

शोधकर्ताओं ने अपने अध्ययन में पाया कि इंफूजा और कुलजम का कॉम्बिनेशन कोरोना के गंभीर मामलों में संक्रमण को रोक सकता है। शोधकर्ताओं का मानना है कि इन दवाओं में हर्बल पौधों की कई सामग्रियां शामिल हैं और यही वजह है कि इनमें कोरोना संक्रमण की रोकथाम की क्षमता है। ट्रायल के दौरान 14 दिनों तक इन्फयूजा 2.5 ml को 100ml गुनगुने पानी में दो बार पीने के लिए दिया गया और 5 बूंदें (0.5ml) कुलजुम की स्टीम के साथ इन्हेल करने को दी गयी।

इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत बनाने में सहायक

navbharat times

इस स्टडी में कंट्रोल ग्रुप के 15.09 प्रतिशत सदस्य कोविड से संक्रमित हुए जबकि इंफयूजा ग्रप के केवल 7.69 प्रतिशत, कुलजुम ग्रुप के 3.92 प्रतिशत और कुलजुम इंफूजा ग्रुप के केवल 1.96 प्रतिशत सदस्यों को कोविड संक्रमण हुआ। यह संक्रमण कुलजुम और इंफूजा दोनों दवाओं के सेवन वाले ग्रुप में सबसे कम व आंकड़ों की दृष्टि से महत्वपूर्ण पाए गये। इस अध्ययन से कुलजुम और इंफूजा के सिनर्जिस्टक प्रभाव का कोविड-19 की रोकथाम में असरदार होना साबित हुआ। यह दोनों दवाएं प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करते हैं।

जड़ी बूटियों से बनी है दवा

navbharat times

यह दोनों दवाएं मुलेठी का अर्क, पोदीना सत्व, अजवाइन सत्व, कर्पूर, लौंग का तेल, यूकेलिजस का तेल आदि से बनी हैं। ये घटक इंडियन ट्रेडिशनल सिस्टम में दर्ज भी है और इनमें एंटी-वायरल, एंटी-इन्फलामेटरी, एंटी टयूसिव, ब्रोको डायलेटर, एनाल्जेसिक और इम्यूनोमोडयूलेटली एक्टीविटी जैसे गुण भी पाए जाते हैं। प्राकृतिक अवयवों से बनी यूनानी दवाऐं किसी भी दुष्प्रभाव के बिना क्रोनिक और संक्रामक दोनों प्रकार की बीमारियों में कारगर है।

डिस्क्लेमर: यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से संपर्क करें।



Source link

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: