Chinese Manjha Death: बाइक पर लिपटा मांझा, गिरने पर गाड़ी ने कुचला, तुगलकाबाद मेट्रो स्टेशन के सामने डिलीवरी बॉय की दर्दनाक मौत – one more death due to chinese manjha in delhi delivery boy died


विशेष संवाददाता, नई दिल्लीः चाइनीज मांझे की वजह से दिल्ली में एक और जिंदगी खत्म हो गई। इस बार हादसा दिल्ली-फरीदाबाद हाईवे पर तुगलकाबाद मेट्रो स्टेशन के सामने फ्लाईओवर पर हुआ। जहां रविवार आधी रात को बाइक सवार एक फूड डिलीवरी बॉय की मौत की वजह यह चाइनीज मांझा बना। पुलिस को लगता है कि डिलीवरी बॉय की बाइक से मांझा लिपट गया। इससे उनका संतुलन बिगड़ा और वह सड़क पर गिर पड़े। इसी दौरान पीछे से आ रही किसी तेज रफ्तार गाड़ी ने उनको कुचल दिया, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई। मामले में बदरपुर थाना पुलिस टक्कर मारकर भागने वाली गाड़ी की पहचान करने की कोशिश कर रही है, जिससे आरोपी को पकड़ा जा सके।

साउथ-ईस्ट दिल्ली की डीसीपी ईशा पाण्डेय ने बताया कि मृतक का नाम नरेंद्र है। 32 साल के नरेंद्र अपने परिवार के साथ विश्वकर्मा कॉलोनी पुल प्रहलादपुर इलाके में रहते थे। पुलिस ने बताया कि वह एक दुकान में काम करते थे, जबकि पार्ट टाइम फूड डिलीवरी कंपनी के लिए भी काम करते थे। रात को वह फूड की डिलीवरी देकर बाइक से घर आ रहे थे। जिस वक्त वह तुगलकाबाद मेट्रो स्टेशन के सामने थे, तभी उनके साथ यह घटना हुई।

navbharat times
बैन के बाद चाइनीज मांझे ने ली 6 की जान, नॉर्थ वेस्ट जिले में सबसे अधिक प्रतिबंधित मांझा बरामद

दिल्ली-फरीदाबाद हाईवे पर हुआ हादसा
पुलिस का कहना है कि इस मामले में पहली पीसीआर कॉल रविवार रात 11:56 पर आई, जिसमें पुलिस को बताया गया था कि एक फूड डिलीवरी राइडर तुगलकाबाद मेट्रो स्टेशन के सामने दिल्ली-फरीदाबाद हाईवे पर पड़ा हुआ है। मामले में एक्सीडेंट के बारे में बताया गया। दूसरी कॉल में भी इसी तरह की बात बताई गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने तफ्तीश में पाया कि यहां नरेंद्र नाम के डिलीवरी बॉय की मौत हुई है। इनका सिर बुरी तरह से कुचला हुआ था। इनके शरीर पर कहीं मांझा नहीं अटका था, लेकिन बाइक में नीचे की ओर मांझा उलझा हुआ था। पुलिस को लगता है कि बाइक से मांझा अटकने से इनका संतुलन बिगड़ा होगा और यह गिर गए होंगे। इसी दौरान पीछे से आए किसी तेज रफ्तार अज्ञात वाहन ने इन्हें कुचल दिया। पुलिस का कहना है कि मामले में आसपास लगे तमाम सीसीटीवी कैमरों से हिट एंड रन के इस मामले में फरार गाड़ी वाले की तलाश की जा रही है। पता किया जा रहा है कि यह कोई ट्रक था, कार या कोई अन्य गाड़ी।

navbharat times
हाल ही में लगी थी नौकरी
परिजनों ने बताया कि परिवार को चलाने के लिए नरेंद्र ने अपना ग्रेजुएशन की पढ़ाई दूसरे साल ही छोड़ दी थी। वह दिन में दुकान पर और फिर डिलीवरी बॉय के रूप में काम करते थे। पहले मां ने भी काम करना शुरू किया था। लेकिन यह बात नरेंद्र को अच्छी नहीं लगी। वह डबल मेहनत करने लगा था। जिससे की मां को नौकरी ना करनी पड़े। नरेंद्र ने अपने छोटे भाई पुनीत की पढ़ाई भी पूरी कराई और पिछले महीने ही उसकी शादी भी की। नरेंद्र अपने परिवार से कहते थे कि घर की जिम्मेदारी निभाने की वजह से वह खुद तो अपनी पढ़ाई पूरी नहीं कर पाए। लेकिन वह अपने बेटों को पुलिस में भर्ती कराना चाहते थे। कुछ दिनों पहले पुनीत की भी नौकरी लग गई थी। परिजनों ने बताया कि रविवार रात को नरेंद्र की पत्नी विमला की उनसे बात हुई थी। उन्होंने अपनी पत्नी से कहा था कि बस काम खत्म होने वाला है। कुछ ही देर में वह घर आ जाएंगे। लेकिन कुछ देर बाद उनकी मौत की खबर आई। यह सुनते ही उनकी पत्नी बेहोश हो गईं। परिवार के सभी लोगों का भी रो-रोकर बुरा हाल हो गया।



Source link

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: