Saturday, July 2, 2022
HomeNewschanges in body after pregnancy: few changes in body you can experience...

changes in body after pregnancy: few changes in body you can experience after pregnancy – प्रेग्‍नेंसी के बाद शरीर में आए इन बदलावों से डर जाती हैं औरतें, कुछ परमानेंट देते हैं दिखाई


प्रेग्‍नेंसी बहुत ही खूबसूरत एहसास होता है और बेबी के आने की खबर के बाद से ही एक और की जिंदगी में बदलाव आने शुरू हो जाते हैं। प्रेग्‍नेंसी भले ही बहुत प्‍यारा एक्‍सपीरियंस हो लेकिन मां के शरीर को इसकी वजह से बहुत कुछ झेलना पड़ता है। प्रेग्‍नेंसी के नौ महीनों में ही नहीं बल्कि डिलीवरी के बाद पहले साल में भी शरीर के अंदर कई बदलाव आते हैं। यहां हम आपको ऐसे कुछ शारीरिक बदलावों के बारे में बता रहे हैं, जो प्रेग्‍नेंसी के बाद पहले साल या पहले कुछ महीनों में दिखाई देते हैं।

ब्रेस्‍ट साइज और शेप

डिलीवरी के बाद ब्रेस्‍ट की शेप और साइज में बदलाव आ सकता है। प्रेग्‍नेंसी के बाद एस्‍ट्रोजन और प्रोजेस्‍टेरोन लेवल घटने लगता है जबकि ब्रेस्‍टमिल्‍क में मदद करने वाला हार्मोन यानि प्रोलैक्टिन बढ़ जाता है। इससे ब्रेस्‍ट पहले से ज्‍यादा बड़ी दिखने लगती हैं। डिलीवरी के दो या तीन दिनों के अंदर ही बदलाव दिखना शुरू हो जाता है और आपको ब्रेस्‍ट को छूने पर सख्‍त या दर्द महसूस हो सकता है। इसके अलावा ब्रेस्‍ट की शेप भी हमेशा के लिए बदल सकती है। ब्रेस्‍ट एंगॉर्जमेंट की वजह से छाती के लिगामेंट ढीले हो सकते हैं जिससे ब्रेस्‍ट लटक जाती है।

​जूते का साइज

navbharat times

प्रेग्‍नेंसी में वजन बढ़ने और हार्मोनल बदलावों की वजह से जूते का साइज भी बदल सकता है। अमेरिकन कॉलेज ऑफ ऑब्‍सटेट्रिशियंस एंड गायनेकोलॉजी के अनुसार जिन महिलाओं का नॉर्मल वजन होता है, उनका प्रेग्‍नेंसी में 11 से 16 किलो वेट बढ़ सकता है। वजन बढ़ने से पैरों पर दबाव पड़ता है जिससे पैर का आर्क फ्लैट हो जाता है।

फोटो साभार : TOI

​योनि में बदलाव

navbharat times

बच्‍चे को जन्‍म देने के बाद योनि के साइज में भी बदलाव आता है। यूके नेशनल हेल्‍थ सर्विस का मानना है कि अधिकतर महिलाओं की योनि हमेशा के लिए चौड़ी हो जाती है।

फोटो साभार : TOI

​सेक्‍स ड्राइव

navbharat times

प्रेग्‍नेंसी के बाद कई औरतों की सेक्‍स ड्राइव कम होती दिख सकती है। दोबारा सेक्‍स ड्राइव आने में एक साल तक का समय लग सकता है। इसकी एक वजह शरीर में एस्‍ट्रोजन का लेवल कम होना है लेकिन नवजात शिशु की देखभाल की वजह से थकान होने पर भी महिलाओं की सेक्‍स में रूचि कम हो जाती है।

फोटो साभार : TOI

​शरीर के बाल

navbharat times

इसके अलावा टांगों, चेहरे और बालों में भी बदलाव दिखने लगता है। प्रेग्‍नेंसी में वजन बढ़ने की वजह से स्‍पाइडर वेंस हो सकता है। ये स्किन पर स्‍ट्रेच मार्क्‍स की तरह दिखते हैं। हार्मोंस में उतार-चढ़ाव की वजह से स्किन पैचेज, एक्‍ने या पिगमेंटेशन भी हो सकता है।

फोटो साभार : TOI

​हेयर ग्रोथ

navbharat times

प्रेग्‍नेंसी के दौरान हार्मोंस के हाई लेवल की वजह से हेयर ग्रोथ बढ़ सकती है लेकिन जब हार्मोंस नॉर्मल हो जाते हैं, तब शरीर से बाल भी कम होने लगते हैं।

इस आर्टिकल को अंग्रेजी में पढ़ें



Source link

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments