Sunday, June 26, 2022
HomeHealth NewsAyurveda tips to cure ​Excessive Sweating: ayurveda expert shared tips to stop...

Ayurveda tips to cure ​Excessive Sweating: ayurveda expert shared tips to stop excessive sweating it can be warning sign of some serious diseases – Excessive Sweating: अधिक पसीना आना है बीमारी का संकेत, आयुर्वेद एक्सपर्ट ने बताया खान-पान से लेकर इस तरह नहाने से खत्म हो सकती है ये परेशानी


गर्मी के मौसम में पसीना निकलना आम बात है। पसीना निकला शरीर के लिए जरूरी गतिविधियों में से है। इससे शरीर की गंदगी बाहर निकल जाती है। और त्वचा पर नैच्यूरल ग्लों भी बना रहता है। इसके अलावा यह वजन, मूड और नींद को सकारात्मक रूप से प्रभावित करता है। लेकिन कुछ लोग ऐसे होते है जिन्हें बहुत ज्यादा पसीना आता है। बिना किसी बीमारी, शारीरिक गतिविधि और गर्मी के पसीना आना सेहत के लिए अच्छा नहीं होता है। यह परेशानी तब होती है जब शरीर से पसीने को बाहर निकालने वाली ग्रंथियां ऑवर एक्टिव हो जाती हैं।

आयुर्वेदिक डॉक्टर ऐश्वर्या संतोष ने ज्यादा पसीना निकलने से परेशान लोगों के लिए हजारों साल पुरानी चिकित्सा पद्धति के आचार्यों की कुछ युक्ति शेयर की है। वह बताती हैं कि ज्यादा पसीने निकलने का मुख्य कारण शरीर में पित्त दोष का बढ़ जाना होता है। इसे संतुलित करके ज्यादा पसीने निकलने की परेशानी समेत, शरीर की दुर्गंध और गर्मी को कम कर सकते है।

अधिक पसीने की परेशानी से निपटने के घरेलू उपाय

​कुछ लोगों को क्यों आता है ज्यादा पसीना

navbharat times

आयुर्वेदिक विशेषज्ञ बताती हैं कि ज्यादा पसीना आने के दो कारण हो सकते हैं।

पहला कारण- अगर बिना किसी बीमारी के ज्यादा पसीना निकलता है तो इसके पीछे इसे बाहर निकालने वाली ग्रंथियां जिम्मेदार होती है। ये जब ऑवर एक्टिव हो जाती हैं तो शरीर से सामान्य से ज्यादा पसीना निकलने लगता है।

दूसरा कारण- जब कोई व्यक्ति थायराइड ग्लैंड डिसऑर्डर, डायबिटीज, मेनोपॉज, बुखार, घबराहट और हार्ट संबंधित रोगों से ग्रसित होता है।

ये पेय पदार्थ कम करेंगे अधिक पसीने की परेशानी

navbharat times

धनिया पानी- धनिया के बीजों को पीसकर रात भर पानी में भिगोकर रख दें। सुबह खाली पेट इसका सेवन करें।

खस पानी- सादा पानी पीने की जगह दिनभर खस का पानी पिएं। इसके लिए एक चम्मच खस के जड़ को 2 लीटर पानी में 20 मिनट के लिए भिगो दें। इसके बाद इसे छानकर इसका सेवन करें।

​शरीर पर लेप और इस चूर्ण को पानी में मिलाकर नहाएं

navbharat times

शरीर पर लगाएं लेप- सफेद चंदन का पेस्ट बनाकर पसीने नकलने की जगह पर लेप करें। और 15-20 मिनट बाद इसे धो लें।

सादे पानी से न नहाएं- 20 ग्राम नाल प्रमादी चूर्ण को 15-20 मिनट तक पानी में डाल कर रखें। इसके बाद इसे छानकर इसे नहा लें।

​ज्यादा पसीना निकल रहा है तो खाने पर रखें कंट्रोल

navbharat times
  • मसालेदार खाना और खट्टा कम खाएं या न खाएं।
  • आहार में गर्म खाद्य पदार्थों को शामिल न करें।
  • रोज 10 भिगोएं हुए किशमिश को खाली पेट खाएं
  • आहार में कसैले और मिट्ठे स्वाद वाले खाद्य पदार्थों को ज्यादा खाएं।

मेडिकल साइंस क्या कहता है?

navbharat times

हाइपरहाइड्रोसिस (Hyperhidrosis) एक आम स्थिति है जिसमें किसी व्यक्ति को बहुत ज्यादा पसीना आता है, और उसके शरीर को तापमान को नियमित करने के लिए जरूरत से ज्यादा पसीना बहता है। इसमें पसीने की मात्रा सामान्य से पांच गुना तक अधिक हो सकती है। Webmd के एक्सपर्ट रिव्यूड आर्टिकल के अनुसारहाइपरहाइड्रोसिस से लगभग 3% आबादी ग्रसित है। अत्यधिक पसीना आना, या हाइपरहाइड्रोसिस, थायराइड की समस्या, मधुमेह या संक्रमण का चेतावनी संकेत भी हो सकता है।

डिस्क्लेमर: यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से संपर्क करें।





Source link

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments