Saturday, August 13, 2022
spot_img
HomeHealth NewsAyurveda food tips: चावल बनाने का यह तरीका बिगाड़ देगा सेहत, आयुर्वेदिक...

Ayurveda food tips: चावल बनाने का यह तरीका बिगाड़ देगा सेहत, आयुर्वेदिक डॉक्टर से जानिए कैसे पकाएं चावल – according to ayurveda doctor know how to cook rice to get more health benefits


चालव कार्बोहाइड्रेट से भरपूर एक ऐसा फूड है, जो दुनियाभर में खाया जाता है। यह भारत, चीन और दक्षिण पूर्व एशिया सहित कुछ देशों में सबसे ज्यादा खाया जाता है। चावल कई प्रकार और रंग के होते हैं। हर तरह के चावल के अपने अलग-अलग फायदे-नुकसान भी होते हैं। ऐसा माना जाता है कि चावल में कार्बोहाइड्रेट के अलावा फाइबर और और प्रोटीन की मात्रा पाई जाती है।

अगर चावल को बनाने की बात करें, तो अधिकतर लोग चावल को दो तरीको से बनाना पसंद करते हैं। पहला तरीका है चावल को पानी में उबालकर पानी को निकाल देना और दूसरा, बिना पानी निकाले चावल को उबालना। अब सवाल यह है कि चावल के फायदे लेने के लिए बनाने का सही तरीका क्या है?

आयुर्वेदिक डॉक्टर रेखा राधामणि का मानना है कि आयुर्वेद में चावल को दवा की तरह माना जाता है। चावल आयुर्वेद में शामिल होने वाला पहला खाद्य पदार्थ है। चावल हल्का होता है और इसे पचाने में भी आसानी होती है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि चावल का अधिक फायदा लेने के लिए आपको इसे कैसे बनाना चाहिए? चलिए जानते हैं-

चावल को बनाने का पहला तरीका

navbharat times

सबसे पहले बहते पानी में चावल को तब तक धोना चाहिए, जब तक उसमें से गंदगी साफ नहीं हो जाती है। अगर आप रोजाना चावल खाते हैं, तो आपको सोना मसूरी या अम्बर मोहर किस्म के चावल खाने चाहिए। बासमती चावल भारी होते हैं और महीने में एक या दो बार खाना ही बेहतर है।

चावल बनाने का तीसरा तरीका

navbharat times

कुछ लोग चावल बनाते समय एक गलत तरीके का इस्तेमाल करते हैं और वो यह है कि वो पानी और चावल को एक साथ बर्तन में डालकर पकाते हैं। इसके बजाय आपको पहले बर्तन में पानी को उबालना चाहिए। उसके बाद उसमें चावल डालने चाहिए।

चावल बनाने का दूसरा तरीका

navbharat times

चावल को धोने के बाद आपको उन्हें एक बड़े बर्तन में पानी भरकर एक घंटे के लिए भिगो देना चाहिए। आयुर्वेद में माना जाता है कि चावल हो दाल, कोई भी चीज बनाने से पहले पानी में भिगोने से उसके पोषक तत्वों की संख्या बढ़ जाती है।

चावल बनाने का आयुर्वेदिक तरीका

चावल बनाने का चौथा तरीका

navbharat times

चावल बनाते समय बर्तन को अच्छी तरह ढक दें और जब उसमें उबाल आ जाए, तो ढक्कन हटा दें और चावल को तब तक पकाएं, जब तक वो गल नहीं जाते। बीच-बीच में चेक करते रहें अन्यथा चावल गीले हो सकते हैं।

चावल बनाने का पांचवा तरीका

navbharat times

जब आपको लगे कि चावल अच्छी तरह गल गए हैं, तो बर्तन में से अतिरिक्त पानी को निकाल दें। आपके चावल तैयार है और आप इसे दाल और सब्जी के साथ खा सकते हैं।

डिस्क्लेमर: यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से संपर्क करें





Source link

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments