ALL Political Health Crime Religious Entertainment Tech E-Paper
देश भर के 22-36 आयुवर्ग के युवाओं पर सर्वेक्षण
April 4, 2019 • awazehindtimes@gmail.com

राजनीति में दिलचस्पी 80 प्रतिशत बेरोजगार भारतीयों की

 

बेंगलुरु, अप्रैल। भारत में रोजगार तलाश रहे 80 प्रतिशत यवा राजनीति में रुचि रखते हैं और अपना करियर राजनीतिक विश्लेषक, सामाजिक कार्यकर्ता और राजनीतिक पत्रकार के तौर पर देख रहे हैं। प्रमुख जॉब साइट इंडीड ने बुधवार को अपनी रिपोर्ट में यह बात कही है। अधिकतर युवाओं की रुचि राजनीति में देखने को मिली है।

प्लेसमेंट कंपनी ने यहां एक बयान में कहा कि सर्वे में यह भी खुलासा हुआ है कि राजनीति में करियर बनाने वाली महिलाओं (12 प्रतिशत) की अपेक्षा पुरुष (21 प्रतिशत) ज्यादा इच्छुक हैं। 11 अप्रैल से 19 मई तक सात चरणों में होने वाले लोकसभा चुनावों के मद्देनजर किए गए सर्वे में पाया गया कि 59 प्रतिशत मानते हैं कि राजनीति में करियर बनाने के लिए किसी को जनता के बीच बोलने तथा प्रस्तुति देने के गुण होने चाहिए, वहीं 53 प्रतिशत लोगों के अनुसार पूर्णकालिक नेता बनने के लिए किसी के अंदर नेतृत्व क्षमता और विरोधाभासी प्रबंधन कला का होना आवश्यक है।

सर्वे में 24 प्रतिशत उत्तरदाताओं ने मुख्यधारा के राजनीतिक करियर को रुचिकर वहीं उनमें से 21 प्रतिशत राजनीतिक को करियर बनाने चाहते हैं वहीं राजनीतिक विश्लेषक (34 प्रतिशत), समाज सेवा के लिए राजकीय संगठन में काम करने और राजनीतिक पत्रकारिता जैसे राजनीति से संबंधित क्षेत्रों में काम कर राजनीति से जुड़ना चाहते हैं।

आधे उत्तरदाताओं ने कहा कि नेता बनने के लिए किसी को नेतृत्व क्षमता और विरोधाभासी प्रबंधन कला जरूरी है वहीं 49 प्रतिशत उत्तरदाताओं के अनुसार, नेता बनने के लिए श्रोताओं को समझने की जरूरत होती है।

बयान के अनुसार, लगभग 37 प्रतिशत उत्तरदाताओं ने कहा कि राजनीति में काम करने के लिए आपके संकट प्रबंधन और समस्या सुलझाने का प्रबंधन होना जरूरी है, वहीं 47 प्रतिशत उत्तरदाताओं ने कहा कि विश्लेषणात्मक सोच का कौशल इसके लिए जरूरी है।