हरसंभव मदद देगी सरकार बैंकों को
January 29, 2019 • Editor Awazehindtimes

बैंकों के प्रमुखों के साथ बैठक में दिया भरोसा 

वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने

नई दिल्ली। वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने सोमवार को सरकारी बैंकों के प्रमुखों के साथ बैठक में भरोसा दिया कि सरकार बैंकों को हरसंभव मदद देने को तैयार है। उन्होंने बैंकिंग क्षेत्र के संकट पर चिंता जताते हुए कहा कि सरकारी मदद के साथ बैंकों को कार्यप्रणाली में सुधारकर ॥ चाहिएबैठक के दौरान वित्त मंत्री ने बैंक प्रमुखों से होम लोन के अलावा मध्यम, लघु एवं सूक्ष्म उद्यागा आर कृषि क्षेत्र का ज्यादा से ज्यादा संख्या में कर्ज मुहैया कराने की बात कही। इसके लिए बैंकों को सरकार की ओर से हर तरह की मदद दिलाने का भरोसा दिया। उन्होंने विश्वास जताया कि भारतीय बैंकिंग क्षेत्र आने वाले समय में एक बार फिर तेजी पकड़ेगा और मुनाफे वाला क्षेत्र बन जाएगा। 

पीसीए से निकालना प्राथमिकता -

एनपीए के बोझ तले दबे सरकारी बैंकों पर आर्थिक संकट गहराता जा रहा है। आरबीआई ने 11 सरकारी बैंकों को त्वरित सुधारात्मक कारवाई (पीसीए) के के तहत रखा था जिन पर नए कर्ज बांटने और शाखाएं खोलने पर रोक लगा दी गई थी। इन्हें उबारने के लिए बैंकिंग क्षेत्र में सुधारों के साथ सरकार संकट में फंसे बैंकों को पंजी भी उपलब्ध करा रही हैऔर उम्मीद है कि जल्द चार-पांच बँक पीसीए फ्रेमवर्क से बाहर आ जाएं।

आरबीआई गवर्नर ने साझा की उम्मीदें

इससे पहले रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने भी सोमवार दोपहर सरकारी बैंकों और वित्तीय संस्थानों के प्रमुखों से मुलाकात की। समीक्षा बैठक के दौरान उन्होंने सुधारों पर जोर देते हुए बँकिंग क्षेत्र के महारथियों के साथ अपनी उम्मीदें साझा की। बैठक के बाद गवर्नर ने कहा कि इसका मकसद मुख्य रूप से बैंक प्रमुखों को यह बताना था कि बैंकिंग क्षेत्र से आबीआई की क्या उम्मीदें हैं। आगामी 7 फरवरी को होने वाली आरबीआई की मौद्रिक समीक्षा बैठक से पहले वित्तीय सेवा विभाग की ओर से बुलाई गई इस बैठक को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। इस दौरान वित्त सचिव राजीव कुमार भी समीक्षा बैठक में उपस्थित रहे।