सेंसेक्स 178 अंक उछला, बाजार में लौटी रौनक
April 7, 2019 • awazehindtimes@gmail.com

11,665.95 अंक पर पहुंचा निफ्टी 0.59 फीसदी चढ़कर 

मुंबई, अप्रैल। विदेशों से मिले मिश्रित रुख के बीच आईटी, टेक और गैरसरकारी बैंकिंग तथा वित्तीय कंपनियों में लिवाली से घरेलू शेयर बाजार में शुक्रवार को रौनक लौट आयी। बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 177.51 अंक यानी 0.46 प्रतिशत की बढ़त में 38,862.23 अंक पर बंद हुआ।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 67.95 अंक यानी 0.59 फीसदी चढ़कर 11,665.95 अंक पर पहुंच गया। मझौली और छोटी कंपनियों |में निवेशकों ने विश्वास दिखाया। बीएसई का मिडकैप 0.63 प्रतिशत की छलांग लगाकर 15,509.36 अंक और स्मॉलकैप 0.72 प्रतिशत उछलकर 15,045.47 अंक पर रहा। बीएसई में 2,738 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ जिनमें 1,506 के शेयर हरे निशान में और 1,065 के लाल निशान में बंद हुए जबकि 166 कंपनियों के शेयर दिन भर के उतार-चढ़ाव के बाद अंततः अपरिवर्तित रहे।

सेंसेक्स 154.80 अंक की बढ़त में 38,839.52 अंक पर खुला और पूरे दिन हरे निशान में रहा। कारोबार के दौरान इसका दिवस का निचला स्तर 38,701.04 अंक और उच्चतम स्तर 38,958.60 अंक रहा। अंतत: यह गत दिवस की तुलना में 177.51 अंक चढ़कर 38,862.23 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स की 30 में से 16 कंपनियों के शेयरों में बढ़त रही जबकि शेष 14 लुढ़क गये।

टाटा स्टील ने करीब साढ़े तीन प्रतिशत का मुनाफा कमाया। बजाज फाइनेंस और वेदांता के शेयर भी करीब सवा दो फीसदी चढ़े। भारतीय स्टेट बैंक को डेढ़ फीसदी का नुकसान उठाना पड़ा। निफ्टी की शुरुआत 40.40 अंक की मजबूती में 11,638.40 अंक पर हुई। कारोबार के दौरान 11,609.50 अंक के दिवस के निचले और 11,689.65 अंक के उच्चतम स्तर से होता हुआ यह गुरुवार की तुलना में 67.95 अंक ऊपर 11,665.95 अंक पर बंद हुआ।

निफ्टी की 50 में से 34 कंपनियां हरे और शेष 16 लाल निशान में रहीं। विदेशी बाजारों में मिश्रित रुख रहा। एशिया में दक्षिण कोरिया का कोस्पी 0.14 प्रतिशत, जापान का निक्की 0.38 प्रतिशत और चीन का शंघाई कंपोजिट 0.94 प्रतिशत की तेजी में बंद हुआ। हांगकांग का हैंगसँग 0.17 फीसदी लुढ़क गया।

यूरोप में शुरुआती कारोबार में ब्रिटेन का एफटीएसई 0.17 फीसदी की बढ़त में रहा जबकि जर्मनी का डैक्स 0.03 प्रतिशत टूट गया। बीएसई के समूहों में धातु का सूचकांक सबसे ज्यादा 2.03 प्रतिशत मजबूत हुआ। बुनियादी वस्तुओं में 1.56 प्रतिशत, रियलिटी में 1.35, आईटी में 1.14 और टेक में 1.05 प्रतिशत की तेजी रही।

इनके अलावा तेल एवं गैस, सीडीजीएंडएस, ऊर्जा, वित्त, स्वास्थ्य, इंडस्ट्रियल्स, दूरसंचार, ऑटो, बैंकिंग, पूँजीगत वस्तुएं और टिकाऊ उपभोक्ता वस्तुएं भी तेजी में रहीं।