शेयर बाजार कमजोर मानसून के पूर्वानुमान से सहमा 
April 4, 2019 • awazehindtimes@gmail.com

बीएसई में कुल 2,760 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ, 
मझौली व छोटी कंपनियों पर भी दबाव रहा

मुंबई, अप्रैल। कच्चे तेल की कीमतों में तेजी और इस साल मानसून के कमजोर रहने के पूर्वानुमान से घरेलू शेयर बाजार की चार दिन की तेजी पर ब्रेक लगा गया और बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स नए उच्चतम स्तर को छूने के बाद 39 हजार अंक से नीचे लुढ़क गया।

सेंसेक्स 110.40 अंक की बढ़त में 39,167.05 अंक पर खुला। गिरावट में जाने से पहले यह पहली बार 39,200 अंक के ऊपर पहुंचा और 39,270.14 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर को छूने में कामयाब रहा। लेकिन, मौसम पूर्वानुमान सेवा प्रदाता निजी कंपनी स्काईमैट के मानसून कमजोर रहने की भविष्यवाणी के बाद इसका ग्राफ अचानक नीचे आया।

आखिरी एक घंटे में हुई बिकवाली से सेंसेक्स 38,826.56 अंक के दिवस के निचले स्तर तक उतर गया। अंतत: यह गत दिवस के मुकाबले 179.53 अंक यानी 0.46 प्रतिशत नीचे 38,877.12 अंक पर बंद हुआ। स्काईमैट ने कहा है कि वर्ष 2019 में मानसूनी बारिश औसत से सात प्रतिशत कम रह सकती है। इससे बाजार पर दबाव पड़ा।