कई उड़ाने रद्द, स्पाइसजेट ने जमीन पर उतारे बोइंग
March 14, 2019 • Editor Awazehindtimes

प्रतिबंध संबंधी डीजीसीए के आदेश के बाद स्पाइसजेट के 12 बोइंग 737 मैक्स-8 विमान परिचालन से बाहर हो गए हैं। इससे आज उसकी 14 उड़ानें रद्द हुईं - प्रदीप सिंह खटोला, नागर विमानन सचिव

नई दिल्ली, मार्च। बोइंग 737 मैक्स विमानों के उड़ान भरने पर प्रतिबंध के बाद गुरुवार को किफायती विमान सेवा कंपनी स्पाइसजेट की 30 से ज्यादा उड़ानें रद्द रहेंगी। नागर विमानन सचिव प्रदीप सिंह खरोला ने स्थिति की समीक्षा के लिए बुधवार को नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए), स्पाइसजेट तथा अन्य विमान सेवा कंपनियों ने साथ एक बैठक की जिसमें यात्रियों की असुविधा यथा संभव कम करने के लिए कार्य योजना तैयार की गई।

बैठक के बाद श्री खरोला ने बताया कि प्रतिबंध संबंधी डीजीसीए के आदेश के बाद स्पाइसजेट के 12 बोइंग 737 मैक्स-8 विमान परिचालन से बाहर हो गए हैं। इससे आज उसकी 14 उड़ानें रद्द हुई। उन्होंने कहा कि वास्तविक चुनौती गुरुवार को सामने आएगी जब 30 से 35 उड़ानें रद्द होंगी। एयरलाइंस से कहा गया हैं कि वह हर मार्ग पर कम से कम एक उड़ान सुनिश्चित करे। सिर्फ उन्हीं मार्गों पर उड़ानें रद्द करे जहां उसकी एक से ज्यादा उड़ानें हैं।

विमानन सचिव ने बताया कि बैठक में देश की सबसे बड़ी विमान सेवा कंपनी इंडिगो, विस्तारा व सरकारी विमान सेवा कंपनी एयर इंडिया के अधिकारी भी मौजूद थे। स्पाइसजेट ने आश्वासन दिया है कि वह सभी प्रभावित उड़ानों के यात्रियों को अपनी ही उड़ानों में जगह देने की क ते शिश करेगी। लेकिन, अन्य विमान सेवा कंपनियों से भी जरूरत पड़ने पर इसमें सहयोग करने के लिए कहा गया है।

स्पाइसजेट के अलावा देश में जेट एयरवेज के पास भी पांच 737 मैक्स-8 विमान हैं, लेकिन पट्टे का किराया नहीं चुकाने के कारण वे पहले से ही ग्राउंडेड हैं। उल्लेखनीय हैकि गत 10 मार्च को इथोपिया में एक बोइंग विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद डीजीसीए ने आज शाम चार बजे से भारतीय आकाश में किसी भी बोइंग 737 मैक्स विमान के उड़ान भरने पर रोक लगा दी है। इस हादसे में चालक दल के सदस्यों समेत 157 लोग मारे गए थे।