दिल्ली की ओर की 4 लेन खुलीं : मेरठ एक्सप्रेसवे 
March 22, 2019 • Editor Awazehindtimes

चल रहा था निर्माण मॉडल टाउन गोलचक्कर के पास 

मेरठ एक्सप्रेसवे पर मॉडल टाउन तिराहे के पास दिल्ली की ओर फोर लेन शुरू

नोएडा। निर्माणाधीन मेरठ एक्सप्रेसवे के अंतर्गत मॉडल टाउन गोलचक्कर के पास दिल्ली की ओर की चार लेन बुधवार से खुल गई। यहां सड़क का निर्माण कार्य चल रहा था जिससे जाम की समस्या थी। दिल्ली की ओर जाने के लिए केवल एक लेन मिल रही थी।

अधिकारियों के मुताबिक, दिल्ली से मेरठ तक 14 लेन की सड़क का निर्माण कार्य चल रहा है। इसमें बीच की तीन-तीन लेन एक्सप्रेसवे के लिए है। बाकी की चार-चार लेन जगह-जगह दूसरे अन्य शहरों से जुड़ेंगी। एक्सप्रेसवे में प्रवेश केवल दिल्ली या मेरठ में ही संभव हो पाएगा। नोएडा और गाजियाबाद की सीमा में सड़क के चौड़ीकरण के अलावा यहां अंडरपास का काम भी चल रहा है।

यही वजह है कि पहले चरण में दोनों साइड की ओर का काम पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसी कड़ी में नोएडा की तरफ की चार लेन तैयार हो गई है। इसके अलावा गाजियाबाद की ओर का काम अभी भी बचा हुआ है। एक्सप्रेसवे की लेन में अंडरपास का काम चल रहा है। जैसे ही अंडरपास का काम खत्म होगा। सड़क का काम शुरू हो जाएगा।

दिसंबर तक पूरा होगा एक्सप्रेसवे का काम - एनएचएआई के अधिकारियों के मुताबिक, पहले से जो लक्ष्य तय किया गया है। वह मई 2020 तक का है लेकिन अभी का लक्ष्य दिसंबर 2019 का है। इस समय तक एक्सप्रेसवे का काम पूरा हो जाएगा।

मेट्रो और रैपिड रेल के सहारे जुड़ेंगे तीन शहरों के लोग - 

नोएडा। भविष्य में मेट्रो के जरिये नोएडा वासियों को रैपिड रेल का भी लाभ मिलेगा। इससे लोग गाजियाबाद और मेरठ तक का सफर आसानी से कर सकेंगे। गाजियाबाद में मेट्रो की नई परियोजना के लिए संशोधित डीपीआर शासन को भेजे जाने के बाद ऐसी संभावना बनी है।

मेट्रो का कॉरिडोर तैयार होने के बाद नोएडागाजियाबाद के लोगों के लिए काफी सुविधा हो जाएगी। दरअसल, पिछले दिनों ब्लू लाइन मेट्रो कॉरिडोर पर शुरू हुए नोएडा इलेक्ट्रॉनिक सिटी स्टेशन से अब गाजियाबाद के मोहन नगर तक मेट्रो का नया कॉरिडोर प्रस्तावित है। इस कॉरिडोर को साहिबाबाद और वैशाली तक एक अन्य सेक्शन से जोड़ना भी प्रस्तावित किया गया है।

अगर ऐसा हुआ तो नोएडा, गाजियाबाद, मेरठ के लोगों को भविष्य में काफी सहूलियत मिलेगी। मेरठ के लोगों को दिल्ली, नोएडा और गाजियाबाद तक पहुंचना भी आसान हो जाएगा। वह रैपिड रेल नेटवर्क से गाजियाबाद और दिल्ली से जुड़ेंगे और मेट्रो से नोएडा तक आ सकेंगे।

ऐसे जुड़ेंगे नोएडा के लोग -

नोएडा के सेक्टर-63 इलेक्ट्रॉनिक सिटी मेट्रो स्टेशन से वैभव खंड, डीपीएस इंदिरापुरम, शक्ति खंड, वसुंधरा सेक्टर-5, वसुंधरा सेक्टर-2 और मोहन नगर तक जुड़ेंगे।

वसुंधरा सेक्टर-2 से वैशाली तक के सेक्शन पर साहिबाबाद तक आना होगा। यहां से रैपिड रेल के स्टेशन तक वॉकवे से जाकर रैपिड रेल के सहारे भविष्य में मेरठ और दिल्ली के सराय काले खां तक जा सकेंगे।

नई प्रस्तावित योजना -

इलेक्ट्रॉनिक सिटी स्टेशन से मोहन नगर (गाजियाबाद) तक मेट्रो वैशाली से वसुंधरा सेक्टर-2 मेट्रो दिल्ली से मेरठ रैपिड रेल। 

ग्रेटर नोएडा के लिए भी होगी आसानी - ग्रेटर नोएडा के निवासी एक्वा लाइन का सहारा लेते हुए सेक्टर51 मेट्रो स्टेशन पर उतरेंगे। यहां से ब्लू लाइन के सेक्टर-52 मेट्रो स्टेशन से सेक्टर-63 के इलेक्ट्रॉनिक सिटी मेट्रो स्टेशन होते हुए आगे का सफर तय कर सकेंगे।