स्वीडन में पढ़ाई के लिए आकर्षित हो रहे हैं भारतीय छात्र


बिजनेस स्वीडन के सीनियर प्रोजेक्ट मैनेजर अमृत हिंदुजा के लिए स्वीडन में पढ़ाई क्रिएटिविटी और गंभीर सोच है। यहां भारतीय छात्र कई विषयों में उच्च शिक्षा ग्रहण करने आते हैं जिसमें इंडस्ट्रियल डिजाइन, कंप्यूटर साइंस, एयरोनॉटिक्स, ऑटोमेटिव इंजिनियरिंग, रोबोटिक्स, एनवायरमेंट साइंस आदि शामिल है।

स्थिरता यहां शिक्षा का हिस्सा है और ESD (Education for Sustainable Development) स्वीडन के आउटडोर एक्सरसाइज, आउटडोर एजुकेशन और प्रकृति के संरक्षण से जुड़ा हुआ है। यहां सभी को समान माना जाता है और चीजों को पूरा करने में सभी का समान योगदान माना जाता है।

स्वीडन में पढ़ाई के लिए आने वाले छात्रों को यहां के पढ़ाई के माहौल के बारें में जानकारी हासिल करने आना चाहिए जिसके बारे में किताबों से पता नहीं चलता।

स्वीडन में पढ़ाई से जुड़ी कुछ जरूरी बातें स्वीडन मुख्य रूप से इंटरनैशनल छात्रों को मास्टर्स प्रोग्राम ऑफर करता है अगर आपने अंडरग्रेजुएशन इंगलिश में की है तो अधिकतर यूनिवर्सिटिज में TOFEL/GRE की जरुरत नहीं है योग्यता- ऐप्लिकेशन हर साल अक्टूबर के मध्य में शुरू होते हैं आवेदन की अंतिम तारीख आमतौर पर 31 जनवरी होती है कोर्स आमतौर पर हर साल अगस्त में शुरू होते हैं ज्यादा जानकारी के लिए www.universityadmissions.se वेबसाइट पर जाएं

पढ़ाई का खर्च
अमृत हिंदुजा के अनुसार स्वीडन में पढ़ाई को लेकर औसत खर्च की बात करें तो यह 50,000-1,20,000/सालाना स्वीडिश क्रोन पड़ता है। एक स्विडिश क्रोन भारत के करीब 7 रुपए के बराबर होता है। पढ़ाई का खर्च आपकी यूनिवर्सिटी और कोर्स पर भी निर्भर करता है। यहां पढ़ाई के दौरान काम करने की कोई लिमिट नहीं है। आप पढ़ाई के दौरान जब तक चाहे काम कर सकते हैं 2016-17 में करीब 1500 भारतीय छात्रों ने यहां से पढ़ाई पूरी की थी।

वीजा के नियम

अमृत हिंदुजा के मुताबिक पढ़ाई खत्म होने के बाद छात्र नौकरी ढूंढने के लिए अगले छह महीनों तक स्वीडन में रुक सकते हैं। अगर उन्हें नौकरी मिल जाती है तो आमतौर पर कंपनियां उन्हें स्थायी कर्मचारी बनाने के लिए इमिग्रेशन में मदद करती है।

संस्कृति
स्वीडन में घुलना मिलना काफी आसान होता है। लगभग सभी मास्टर्स प्रोग्राम इंगलिश में कराए जाते हैं और कई यूनिवर्सिटिज में इंडियन क्लब और सोसायटी भी होती हैं। भोजन की यहां दिक्कत नहीं होती क्योंकि यहां अधिकतर शाकाहारी भोजन पसंद किया जाता है। स्वीडन में ठंड होती है लेकिन उन्नत किस्म का इंफ्रास्ट्रक्चर इस परेशानी को कम कर देता है। हिंदुजा के मुताबिक ‘स्वीडन में कहा जाता है कि खराब मौसम जैसा कुछ नहीं होता बल्कि खराब कपड़े पहनना परेशानी का कारण होता है’



Source link

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: