सूखी खांसी के लिए नेचुरल कफ सिरप हैं ये 5 घरेलू उपाय, Dry cough से दोबारा कभी नहीं होंगे परेशान – studies claims these 5 home remedy can cure dry cough


आप सबने कभी न कभी बिना बलगम वाली खांसी का अनुभव जरूर किया होगा। लेकिन क्या आप जानते हैं कैसे होती है सूखी खांसी? एलर्जी से लेकर एसिड रिफ्लक्स तक कई चीजें सूखी खांसी का कारण बन सकते हैं। वहीं, कुछ मामलों में सूखी खांसी होने की विशेष वजह नहीं होती है। खैर, कारण चाहे जो भी हो, लगातार सूखी खांसी आपके दिन-प्रतिदिन के जीवन को गंभीर रूप से प्रभावित कर सकती है, खासकर अगर यह रात में शुरू हो जाएं तो।

कितनी दिनों तक रहती है सूखी खांसी? अगर किसी वायरल इंफेक्शन के कारण सूखी खांसी हुई है, तो यह 8 हफ्तों तक रह सकती है। इसलिए सूखी खांसी को क्रोनिक माना जाता है, क्योंकि यह वयस्कों में 8 और छोटे बच्चों में 4 हफ्तों तक रह सकती है। इससे ज्यादा लंबे समय तक खांसी आना जानलेवा बीमारी फेफड़ों में कैंसर का संकेत हो सकता है। आमतौर पर सूखी खांसी रातों में ज्यादा परेशान करती है, जिसे कंट्रोल करने में कई बार ड्राय कफ सिरप भी फेल हो जाते हैं। ऐसे में आप घरेलू नुस्खों की मदद से इससे राहत पा सकते है।

गर्म पानी+शहद

navbharat times

एनसीबीआई में प्रकाशित एक स्टडी के अनुसार, 1 वर्ष और उससे अधिक उम्र के वयस्कों और बच्चों के लिए, शहद का उपयोग सूखी खांसी से राहत दिला सकता है। दरअसल, शहद में जीवाणुरोधी गुण होते हैं, जो जलन को कम करने, गले को कोट करने में मदद कर सकता है।आप दिन में कई बार 1चम्मच शहद का सेवन कर सकते है। इसे चाय या गर्म पानी में मिलाकर पी सकते हैं।

हल्दी+ काली मिर्च

navbharat times

हल्दी में करक्यूमिन होता है, एक यौगिक जिसमें एंटी-इंफ्लेमेंटरी, एंटीवायरल और एंटी बैक्टीरियल गुण मौजूद होते हैं। जिसकी वजह से यह सूखी खाँसी सहित कई स्थितियों में फायदेमंद होता है। काली मिर्च के साथ लेने पर करक्यूमिन रक्त प्रवाह में अच्छे तरह से अवशोषित होता है। आप संतरे के रस जैसे पेय में 1 चम्मच हल्दी और 1/8 चम्मच काली मिर्च मिलाकर इसका सेवन कर सकते है।

​अदरक+ नमक

navbharat times

एक स्टडी के अनुसार,अदरक में एंटीमाइक्रोबियल (बैक्टीरिया को नष्ट करने वाला) गुण मौजूद होता है। ऐसे में यह सुखी खांसी से राहत दिलाने में सहायता कर सकता है। अदरक छोटे से टुकड़े को लेकर उस पर एक चुटकी नमक छिड़ककर या शहद लगाकर इसे दांतों के नीचे दबा लें। इस तरह अदरक का रस धीरे-धीरे मुंह के अंदर जाने दें। करीब 5-7 मिनट रखने के बाद कुल्ला कर लें।

घी+काली मिर्च

navbharat times

घी में एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं। यह गले को नरम रखने का काम करता है। यदि आप घी में काली मिर्च पाउडर को मिलाकर खाएं, तो आपको सूखी खांसी में बहुत आराम मिल सकता है।

​नमक+पानी

navbharat times

नमक के पानी से गरारे करने से सूखी खांसी के कारण होने वाली परेशानी और जलन को कम करने में मदद मिलेगी। नमक का पानी मुंह और गले में बैक्टीरिया को मारने में भी मदद करता है। ऐसा करने के लिए, एक बड़े गिलास गर्म पानी में 1 चम्मच टेबल सॉल्ट घोलें। फिर दिन में कई बार गरारे करें।

डिस्क्लेमर: यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से संपर्क करें।



Source link

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.