शेयर बाजार में लगातार तीसरे दिन गिरावट आई है सेंसेक्स में 1000 अंक से अधिक गिरावट आई है इससे निवेशकों को चार लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है


नई दिल्ली: कमजोर वैश्विक संकेतों के बीच आज घरेलू शेयर बाजार में भारी गिरावट देखने को मिल रही है। बीएसई सेंसेक्स (BSE Sensex) में 1100 अंक से अधिक गिरावट आई है जबकि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी (Nifty) 300 अंक से अधिक लुढ़क गया है। इस गिरावट से निवेशकों को चार लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। शेयर बाजार में लगातार तीसरे दिन गिरावट आई है। अमेरिकी फेड रिजर्व (Fed Reserve) ने महंगाई को काबू में करने के लिए लगातार तीसरी बार ब्याज दरों में भारी बढ़ोतरी की है और आगे भी इसी तरह के संकेत दिए हैं। इससे दुनियाभर के शेयर बाजारों में गिरावट देखी जा रही है और भारतीय बाजार भी अछूते नहीं हैं। इस गिरावट से बीएसई लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैप चार लाख करोड़ रुपये गिरकर 277.58 लाख करोड़ रुपये रह गया है।

दोपहर बाद 2.30 बजे सेंसेक्स 1021 अंक यानी 1.73 फीसदी की गिरावट के साथ 58098 अंक पर ट्रेड कर रहा था। दूसरी ओर निफ्टी भी 297 अंक यानी करीब 1.69 फीसदी की गिरावट के साथ 17332 अंक पर आ गया। सेंसेक्स में पॉवर ग्रिड, इंडसइंड बैंक, एचडीएफसी, महिंद्रा एंड महिंद्रा और एक्सिस बैंक के शेयरों में शुरुआती कारोबार में गिरावट आई। वहीं, टाटा स्टील, हिंदुस्तान यूनिलीवर, सन फार्मा, इंफोसिस, एचसीएल टेक्नोलॉजीज और डॉ. रेड्डीज के शेयर लाभ में कारोबार कर रहे थे। अन्य एशियाई बाजारों में सियोल, तोक्यो, शंघाई और हांगकांग के बाजार नुकसान में कारोबार कर रहे थे। अमेरिकी बाजार भी बृहस्पतिवार को नुकसान के साथ बंद हुए।

navbharat times
Top trending stock: बाजार में गिरावट के बावजूद 20 परसेंट उछला यह शेयर, जानिए इसमें क्या है खास

पिछले सत्र का हाल
पिछले कारोबारी सत्र में, तीस शेयरों पर आधारित सेंसेक्स 337.06 अंक यानी 0.57 प्रतिशत की गिरावट के साथ 59,119.72 अंक पर बंद हुआ था। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 88.55 अंक यानी 0.50 प्रतिशत की गिरावट के साथ 17,629.80 अंक पर बंद हुआ था। इस बीच अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 0.50 फीसदी की गिरावट के साथ 90.02 डॉलर प्रति बैरल के भाव पर पहुंच गया। शेयर बाजार के अस्थाई आंकड़ों के मुताबिक विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) ने गुरुवार को शुद्ध रूप से 2,509.55 करोड़ रुपये के शेयर बेचे।

महिंद्रा फाइनेंस का शेयर 14 फीसदी गिरा
इस बीच महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंशियल सर्विसेज का शेयर 14 फीसदी लुढ़क गया। आरबीआई ने गुरुवार को कंपनी को आउटसोर्सिंग एजेंटों के माध्यम से किसी भी वसूली को तुरंत रोकने का निर्देश दिया था। हाल ही में झारखंड में महिंद्रा फाइनेंस के रिकवरी एजेंट द्वारा दिव्यांग किसान की बेटी को कथित तौर पर ट्रैक्टर से कुचले जाने का मामला सामने आया था। इसके बाद आरबीआई ने यह सख्ती दिखाई है। उधर कंपनी ने कहा है कि उसने वाहनों को फिर से कब्जे में लेने के लिए थर्ड पार्टी एजेंटों की सेवा लेनी बंद कर दी है।



Source link

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: