शक में की पत्नी की हत्या, शव घाघरा नदी में फेंका… सर्विलांस से खुला राज, पुलिस को गुमराह कर रहा पति गिरफ्तार – gym trainer man arrested in murder case of wife in gudamba lucknow ghaghra river news


सगीर अब्बास रिजवी, लखनऊ: गुडंबा इलाके में रहने वाले एक जिम ट्रेनर ने फिल्मी अंदाज में पत्नी की हत्या कर शव को घाघरा नदी में फेंक दिया। इसके बाद पुलिस को गुमराह करने के लिए उसने सुशांत गोल्फ सिटी थाने में पत्नी की गुमशुदगी दर्ज करवा दी। पुलिस ने सर्विलांस की मदद से छानबीन शुरू की तो जिम ट्रेनर की भूमिका संदिग्ध मिली। पूछताछ के बाद हत्या का राज खुला और पुलिस ने 9 सितंबर को गुपचुप ढंग से जिम ट्रेनर, उसके भाई और एक दोस्त को हत्या के मामले में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। अब तक आरोपित की पत्नी का शव बरामद नहीं हो सका है। पुलिस ने एसडीआरएफ की मदद से घाघरा नदी में सर्च ऑपरेशन भी चलाया, लेकिन सफलता हाथ नहीं लगी।

6 सितंबर को दर्ज करवाई थी गुमशुदगी की रिपोर्ट
गोंडा जनपद निवासी पुष्पेंद्र तिवारी पत्नी सोनी तिवारी (26) के साथ गुडंबा के आदिलनगर आदर्शनगर इलाके में महेंद्र प्रताप सिंह के मकान में किराए पर रहता था। पुष्पेंद्र एक जिम ट्रेनर का काम करता था। बताया जाता है कि 6 सितंबर को वह सुशांत गोल्फ सिटी थाने पहुंचा और पत्नी सोनी के लापता होने की सूचना दी। उसने पुलिस को बताया कि दो सितंबर की सुबह वह पत्नी सोनी को फीनिक्स प्लासियो मॉल के पास छोड़कर अपने घर चला गया था। उसके बाद से सोनी लापता है। पुलिस ने पुष्पेंद्र तिवारी की तहरीर पर उसकी पत्नी की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कर ली।

शुरू से ही पुष्पेंद्र की भूमिका थी संदिग्ध
इंस्पेक्टर सुशांत गोल्फ शैलेंद्र गिरी ने बताया कि शुरू से ही पुष्पेंद्र की भूमिका पर सवाल खड़े हो रहे थे। पुलिस ने जब उससे इतनी सुबह पत्नी को फीनिक्स मॉल के पास छोड़ने के बारे में सवाल किया तो वह कोई सही जवाब नहीं दे सका। वहीं, सोनी के मोबाइल फोन की लोकेशन फीनिक्स मॉल के पास ही लगातार दिख रही थी। पुलिस ने जब सीसीटीवी कैमरों को चेक करना शुरू किया तो सोनी के बारे में कहीं पता नहीं चल सका।

सर्विलांस और पूछताछ से खुला राज
पुलिस ने पुष्पेंद्र से पूछताछ शुरू की तो उसने खूब गुमराह किया। इसके बाद पुलिस ने पुष्पेंद्र से लगातार पूछताछ करना शुरू की तो वह एक के बाद एक कई सवालों में उलझता चला गया। उसने पुलिस को बताया कि 2 सितंबर को ही उसने पत्नी सोनी की गला दबाकर हत्या कर दी और कार से शव को ले जाकर बहराइच सीमा पर घाघरा नदी में फेंक दिया।

हत्या में उसका भाई गोविंद तिवारी और उसका साथी मड़ियांव निवासी सूरज वर्मा शामिल थे। 9 सितंबर को सुशांत गोल्फ सिटी पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार किया। पुष्पेंद्र की निशानदेही पर फीनिक्स मॉल के पास से सोनी का मोबाइल फोन झाड़ियों से बरामद किया गया। वहीं, शव को ठिकाने लगाने के लिए प्रयोग की गई पुष्पेंद्र की कार भी रिकवर कर ली गई है।

पत्नी के चरित्र पर पुष्पेंद्र को था शक
एडीसीपी साउथ मनीषा सिंह ने बताया कि आरोपित पुष्पेंद्र से की गई पूछताछ में पता चला था कि वह पत्नी सोनी के चरित्र पर शक करता था। इसको लेकर आए दिन दोनों के बीच झगड़ा होता रहता था। वहीं, पुष्पेंद्र के पास आमदनी का भी कोई सही जरिया नहीं था। इसको लेकर भी पति-पत्नी में कलह चल रही थी।

दो सितंबर को पुष्पेंद्र ने सोनी की गला दबाकर हत्या कर शव को एक प्लास्टिक की बोरी में भरकर उसको घाघरा नदी में फेंक दिया। एडीसीपी ने बताया कि अब तक सोनी का शव बरामद नहीं हो सका है। पुलिस की तलाश में पुलिस ने एसडीआरएफ की मदद से सर्च ऑपरेशन भी चलाया था। इंस्पेक्टर सुशांत गोल्फ सिटी शैलेंद्र गिरि ने बताया कि पूरे केस को गुडंबा थाने ट्रांसफर कर दिया गया है।



Source link

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: