यूरोप के सबसे बड़े परमाणु संयंत्र के पास रूस की गोलाबारी ने बढ़ाई दुनिया की चिंता


हाइलाइट्स

रूस ने यूक्रेन के प्रमुख परमाणु संयंत्र के नजदीक मोर्टार दागे.
अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने फ्रांस, जर्मनी और ब्रिटेन के नेताओं ने स्थिती पर चिंता जाहिर की.
पिछले हफ्ते यूक्रेन दौरे पर यूएन प्रमुख ने ऐसी घटनाओं से सावधानी बरतने की अपील की थी.

निकोपोल. यूक्रेन के मुख्य परमाणु संयंत्र से नदी पार रूसी गोलाबारी में सोमवार को चार लोग घायल हो गए. एक अधिकारी ने यह जानकारी दी. यह हमला ऐसे समय हुआ है जब कुछ ही घंटे पहले परमाणु आपदा रोकने के लिए क्षेत्र को हमलों से बचाने को लेकर फिर से अंतरराष्ट्रीय अपील की गई. निकोपोल नीपर नदी के दूसरी ओर और ज़ापोरिज्ज्या परमाणु संयंत्र से लगभग 10 किलोमीटर दूर स्थित है. निकोपोल पर कल रात से तीन बार रॉकेट और मोर्टार से हमले किये गए. इसकी चपेट में मकान, एक किंडरगार्टन, बस स्टेशन और दुकानें आयीं.

मेयर अलेक्ज़ेंडर सैयुक ने कहा कि चार व्यक्ति घायल हो गए जिनमें से दो को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. यूरोप के सबसे बड़े परमाणु ऊर्जा संयंत्र के आसपास निरंतर गोलाबारी की खबरों ने युद्ध के खतरों को और उजागर किया. संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने पिछले सप्ताह यूक्रेन की यात्रा के दौरान फिर से सावधानी बरतने का आग्रह किया था. उसके बाद, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने रविवार को फ्रांस, जर्मनी और ब्रिटेन के नेताओं के साथ इस मुद्दे पर और चर्चा की.

चारों नेताओं ने संभावित विनाशकारी परमाणु घटना की आशंका को रोकने के लिए क्षेत्र में सैन्य अभियानों से बचने की आवश्यकता पर बल दिया और संयुक्त राष्ट्र की परमाणु ऊर्जा एजेंसी को जल्द से जल्द इकाई का दौरा करने की अनुमति देने का आह्वान किया. हालांकि एक ऐसे युद्ध में कुछ भी निश्चित नहीं लग रहा जिसने पूर्वी और दक्षिणी यूक्रेन में और रूस के कब्जे वाले क्रीमिया प्रायद्वीप और मास्को तक भय और बेचैनी फैला दी है. मास्को में एक प्रभावशाली रूसी राजनीतिक की बेटी की शनिवार रात एक कार विस्फोट में मौत हो गई थी. उक्त राजनीतिक को पुतिन का करीबी माना जाता है.

सोमवार को, रूसी अधिकारी इसको लेकर और सुराग की तलाश में थे कि उसकी मौत के पीछे कौन हो सकता है. अधिकारियों ने कहा कि प्रारंभिक जानकारी से संकेत मिलता है कि 29 वर्षीय टेलीविजन प्रस्तोता दारिया दुगीना के वाहन में लगाए गए विस्फोटक में हुए विस्फोट में मौत हो गई. एक पूर्व रूसी विपक्षी सांसद, इल्या पोनोमारेव ने कहा कि एक अज्ञात रूसी समूह, नेशनल रिपब्लिकन आर्मी ने बम विस्फोट की जिम्मेदारी ली. एसोसिएटेड प्रेस समूह के अस्तित्व की पुष्टि नहीं कर सका. यूक्रेन के अधिकारियों ने संलिप्तता से इनकार किया है.

क्रीमिया में, पिछले दो हफ्तों में रूसी इकाइयों में आग लगने और विस्फोट की घटनाओं के बाद चिंता बढ़ गई है. सेवस्तोपोल के गवर्नर मिखाइल रज़वोज़ेव ने आदेश दिया कि बम से सुरक्षा के लिए आश्रयों के स्थान को दर्शाने वाले संकेत शहर में लगाए जाएं.

Tags: Russia, Ukraine


hindi.news18.com

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: