Saturday, July 2, 2022
HomeEntertainmentजॉनी लीवर ने दिल में दर्द समेटे की थी कॉमिडी, पिता के...

जॉनी लीवर ने दिल में दर्द समेटे की थी कॉमिडी, पिता के ऑपरेशन, बहन की मौत के वक्त शाहरुख बने थे सच्चे दोस्त – throwback when johnny lever had to do comedy during father leg surgery and after sister death shah rukh khan helped

हंसना जितना आसान होता है, हंसाना उतना ही मुश्किल। लेकिन इस हंसी के पीछे कई बार कितने गम छुपाने पड़ जाते हैं, इसका अंदाजा लगा पाना बहुत मुश्किल है। और इस बात को ऐक्टर जॉनी लीवर से बेहतर कौन समझ सकता है? बॉलिवुड के पॉप्युलर कमीडियन्स में शुमार जॉनी लीवर ने जिंदगी में बहुत दुख झेले। करियर में भी खूब उतार-चढ़ाव आए। लेकिन जॉनी लीवर न तो कभी हंसना भूले और न ही लोगों को हंसाना। जॉनी लीवर के जिंदगी में कुछ ऐसे भी पल आए, जहां उन पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा था, पर अपना दुख भूलकर उन्हें लोगों को हंसाना था। उस मुश्किल घड़ी में शाहरुख खान, जॉनी लीवर की मदद को आगे आए थे।

हॉस्पिटल में थे जॉनी लीवर के पिता, काटी जानी थी टांग

जॉनी लीवर (Johnny Lever) ने कुछ साल पहले दिए एक इंटरव्यू में अपने दुख भरे दिनों के बारे में बात की थी। साथ ही बताया था कि किस तरह उन्होंने हर तरह की स्थिति में अपना संबल नहीं खोया और मजबूती से डटे रहे। वह आज भी वो दिन नहीं भूले हैं जब हॉस्पिटल में पिता बीमार पड़े थे। ऑपरेशन के दौरान उनकी टांग काटी जानी थी और जॉनी लीवर कॉमिडी सीन की तैयारी कर रहे थे। इस बारे में Shah Rukh Khanको पता चल गया।

srk johnny lever

जॉनी लीवर को गले लगाते शाहरुख खान, फोटो: Twitter

पढ़ें: Saturday Superstar: ‘नायक’ में वो Johnny Lever नहीं, जॉनी निर्मल थे… ऐसा डुप्‍लीकेट जिसे फिल्‍मों में देख गच्‍चा खा गए हम

चुपचाप कॉमिडी करने पहुंचे, शाहरुख ने की थी मदद
यह फिल्म ‘बादशाह’ के दिनों की बात है। 2020 में ‘बॉलिवुड हंगामा’ को दिए इंटरव्यू में जॉनी लीवर ने उस घटना के बारे में बताया था कि वह काम के बीच कभी भी अपनी निजी परेशानियों को नहीं आने देते। जब उनके पिता का ऑपरेशन होना था और वह अस्पताल में भर्ती थे, तो जॉनी लीवर ने इस बारे में किसी को नहीं बताया। वह चुपचाप कपड़े बदलकर कॉमिडी सीन की तैयारी करन लगे। तभी वहां अचानक शाहरुख खान पहुंच गए। उन्हें न जाने कैसे पता चल गया था कि जॉनी लीवर के पिता का पैर खराब हो गया है और उनकी टांग काटने की नौबत आ गई है।

johnny lever shah rukh khan

जॉनी लीवर और शाहरुख खान, फोटो: Twitter

जॉनी लीवर ने बयां किया था वो किस्सा
जॉनी लीवर ने इस बारे में कहा था, ‘शाहरुख भाई अचानक कमरे में आ गए और मैं डर गया। वो बोले कि जॉनी भाई, डैडी के बारे में सुना। कुछ मदद चाहिए हो तो बताना। चलने के लिए आर्टिफिशल लिंब या टांग की जरूरत हो तो बताना। मेरी जान-पहचान के लोग हैं। तो मैंने कहा कि अरे नहीं यार, कुछ नहीं। तो वो तो बेचारा मुझे हौसला देने आया था। लेकिन उससे क्या हुआ कि सबको पता चल गया। जिसको भी पता चला वो सब मुझे अजीब नजरों से देख रहे थे। उस टाइम पर थोड़ी सी प्रॉब्लम हुई थी। लेकिन मैंने उस टाइम काम पर फोकस किया और लोगों को भी भूल गया।’

johnny lever srk badshah

बादशाह फिल्म के सीन में जॉनी लीवर और शाहरुख खान, फोटो: Twitter/@Sushant_P1

पढ़ें: 8 साल से इंडस्ट्री में स्ट्रगल कर रहीं जॉनी लीवर की बेटी जेमी लीवर, पापा से नहीं मिली मदद

बहन की मौत वाले दिन भी करनी पड़ी कॉमिडी
लेकिन इससे भी बड़ा दिल दहला देने वाली घटना तब हुई थी जब जॉनी लीवर की बहन की मौत हुई और मौत वाले दिन ही ऐक्टर को एक कॉलेज फेस्ट में कॉमिडी करने जाना था। घर में बहन की लाश पड़ी थी। हाहाकार मच रहा था और जॉनी लीवर कॉमिडी की तैयारी कर रहे थे। उस मंजर को बयां करते हुए जॉनी लीवर ने कहा था, ‘मेरी बहन की मौत हुई और मुझे शो करना था। मुझे लग रहा था कि शो रात को 8 बजे है, पर वो दिन में था। उसकी टाइमिंग मेरे दिमाग में नहीं थी। वो शो शाम के 4 बजे था। मेरा दोस्त आया तो उसने कहा कि यार जॉनी तूने शो कैंसल कर दिया? तो मैंने कहा कि नहीं, वो तो शाम को है ना। तो उसने कहा कि नहीं वो तो 4 बजे का शो है कॉलेज में।’


घर में हाहाकार मचा था और जॉनी लीवर कॉमिडी कर रहे थे
जॉनी लीवर ने आगे बताया था, ‘घर में लोग रो रहे हैं, हाहाकार मचा है और चुपचाप गया। टैक्सी में कपड़े चेंज किए। उस वक्त कोई गाड़ी नहीं थी मेरे पास। उसके बाद कॉलेज गया। कॉलेज स्टूडेंट्स जानते ही हैं, कैसे होते हैं। उन्हें थोड़ी किसी के मूड से फर्क पड़ता है। वहां जाकर जो परफॉर्म करना था ना, वो बड़ा मुश्किल था। लेकिन मैंने कैसे कर लिया, पता नहीं। यह सब भगवान की मेहरबानी है।’

आर्थिक तंगी में नहीं पढ़ पाए जॉनी लीवर, पेन बेचकर किया गुजारा

जॉनी लीवर के पिता हिंदुस्तान यूनीलीवर नाम की कंपनी में एक ऑपरेटर का काम करते थे। चूंकि परिवार की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी, इसलिए जॉनी लीवर सातवीं क्लास के बाद आगे नहीं पढ़ पाए। गुजारे के लिए जॉनी लीवर ने सड़कों पर पेन बेचना और पॉप्युलर फिल्म स्टार्स की मिमिक्री करनी शुरू कर दी। जॉनी लीवर को फिल्मों में पहला ब्रेक 1980 में मिला। उसके बाद से अब तक जॉनी लीवर 350 से भी अधिक फिल्मों में काम कर चुके हैं। शाहरुख खान के साथ जॉनी लीवर ने 15 से ज्यादा फिल्में कीं, जिनमें ‘बाजीगर’, ‘बादशाह’, ‘कुछ कुछ होता है’, ‘करण अर्जुन’, ‘यस बॉस’ और ‘कभी खुशी कभी गम’ जैसी कई फिल्में शामिल हैं।





Source link

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments