खुला खजाना कोरोना से लड़ाई के लिए

इस पैकेज में गरीब, किसान, मजदूर, महिला, दिहाडी कामगार, वरिष्ठ नागरिकों, दिव्यांगों, विधवाओं और संगठित क्षेत्र के कामगारों पर
ध्यान केन्द्रित किया गया है :- निर्मला सीतारमण

YJUU8YQGI9Y3m8X4r4S9iJP1SYh8cyYQrDoyfKJOkQvSg1cEIsYRc2AmD rY9OS9OLncehUa9cwMXUPcUA

लॉकडाउन के बीच गरीब, किसान और कामगारों के लिए 1.70 लाख करोड़ का मरहम

मनरेगा के तहत काम करोड़ व्यवस्था की जाएगी ताकि 500 रु. हर महीने जनधन खाताधारकों के खाते

चावल तीनदिहाड़ी रुपए आने इसका वरिष्ठ विधवाओं गरीब दिक्कत अतिरिक्त पांच गया सहायता महीने तक गरीबों को 5 किलो अतिरिक्त गेहूँ 

दिहाड़ी मजदूरों पर दिरवाई मेहरबानी पर भी मोदी सरकार ने

आवाज़ ए हिंद टाइम्स सवांदाता, नई दिल्ली, 27, मार्च 2020, मरीजों की संख्या 690 हुई, 4 और की मौत – नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस ‘कोविड-19’ के संक्रमण से अब तक 16 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 664 हो गई है। गुजरात, जम्मू-कश्मीर और मध्य प्रदेश में गुरुवार को
1-1 मौत की खबर है। स्वास्थ्य मंत्रालय की बुधवार की रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना वायरस का प्रकोप देश के 25 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में फैल चुका है और इसके 690 मामलों की पुष्टि हो चुकी है।

महाराष्ट्र, केरल, दिल्ली, कर्नाटक, राजस्थान, पंजाब, उत्तर प्रदेश, गुजरात, तेलंगाना और लद्दाख में अभी तक सबसे अधिक संक्रमण के मामले सामने आए हैं। कोरोना महामारी से महाराष्ट्र और गुजरात दो, दिल्ली, कर्नाटक, बिहार, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश और पश्चिम बंगाल में एक-एक व्यक्ति की मौत हो चुकी है।

सरकार ने कोरोना वायरस से निपटने के उद्देश्य से शुरू किए गए 21 दिवसीय लॉकडाउन से प्रभावित होने वालों को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना की घोषणा करते हुए 1.70 लाख करोड़ रुपए के राहत पैकेज जारी किया।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने यहां संवाददाताओं से चर्चा में इस पैकेज की घोषणा करते हुए कहा कि इस पैकेज में गरीब, किसान, मजदूर, महिला, दिहाड़ी कामगार, वरिष्ठ नागरिकों, दिव्यांगों, विधवाओं और संगठित क्षेत्र के कामगारों पर ध्यान केन्द्रित किया गया है उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत प्रधानमंत्री गरीब अन्न योजना की शुरुआत की जाएगी जिसमें गरीबों को निशुल्क अनाज दिया जाएगा। प्रधानमंत्री अन्न योजना के तहत 5 किलो अतिरिक्त गेहूं या चावल अगले तीन महीने तक मिलेगा।

इसके साथ ही प्रत्येक परिवार को इस अवधि में हर महीने एक किलो दाल भी दी जाएगी। इसका लाभ करीब 81 करोड़ उन लोगों को होगा जिनकों अभी जनवितरण प्रणाली से प्रत्येक महीने प्रति व्यक्ति पांच किलो खाद्यान्न मिल रहा है। इस योजना पर 40 हजार करोड़ रुपए व्यय होगा।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत मिलने वाली वार्षिक छह हजार रुपए की आर्थिक सहायता के तहत अप्रैल के प्रारंभ में दो हजार रुपए की पहली किश्त जारी की जाएगी जिससे 8.65 लाख किसानों को 16 हजार करोड़ रुपए सीधे उनके बैंक खातों में हस्तांतरित किए जाएंगे।

वित्त मंत्री ने कहा कि लॉकडाउन के मद्देनजर मनरेगा के तहत मिलने वाली दिहाड़ी में 20 रुपए दैनिक की बढ़ोतरी की गई है और अब यह 182 रुपए से बढ़ाकर 202 रुपए कर दी गई है। इससे करीब 13.62 करोड़ परिवार को लाभ होगा और इस पर 5600 करोड़ रुपए व्यय किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही सोशल डिस्टेंशिंग का पालन करते हये लॉकडाउन के बाद मनरेगा के तहत काम शुरू करने की व्यवस्था की जाएगी ताकि ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को रोजगार मिल सके। वित्त मंत्री ने कहा कि गरीबों की मदद के लिए प्रधानमंत्री जनधन योजना के तहत महिला खाताधारकों को अगले तीन महीने में 1500 रुपए हस्तातंरित किए जायेंगे।

जिससे उन्हें अपने परिवार को चलाने में सहायता मिल सकेगी। इसके तहत प्रत्येक महिला खाताधारकों के खाते में हर महीने 500-500 रुपए हस्तांतरित किए जाएंगे और इस पर करीब 31000 करोड़ रुपए व्यय होगा। श्रीमती सीतारमण ने कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत उज्जवला योजना के 8.3 करोड़ रसोई गैस सिलेंडरधारकों को अगले तीन महीने निशुल्क सिलेंडरों की आपूर्ति की जाएगी और इस पर 13000 करोड़ रुपए व्यय होगा। वित्त मंत्री ने बताया कि तीन महीने तक एक- एक किलो दाल निशुल्क दिए जाने के लिए पांच हजार करोड़ रुपए का आबंटन किया गया है।

उन्होंने कहा कि महिला स्व सहायता समूहों को भी मदद दी जाएगी। इसके तहत 63 लाख स्व सहायता समूहों को मिलने वाले गारंटी मुक्त 10 लाख रुपए के ऋण की सीमा को बढ़ाकर 20 लाख रुपए कर दिया गया है। अब बगैर किसी गारंटी के इन समूहों को 20 लाख रुपए का ऋण मिल सकेगा। वित्त मंत्री ने कहा कि संगठित क्षेत्र के कामगारों के लिए भी राहत पैकेज तैयार किया गया है। चार अप्रैल को होने

छत्तीसगढ़ में सभी निजी अस्पताल किए गए टेकओवर – रायपुर। देश में कोरोना वायरस का संकट बढ़ता ही जा रहा है। इस बीच छत्तीसगढ़ सरकार ने कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए अहम कदम उठाया है। छत्तीसगढ़ सरकार अब प्राइवेट अस्पतालों में कोरोना वायरस का इलाज उपलब्ध कराएगा।

मोहल्ला क्लिनिक डॉक्टर और 900 लोग क्वारेटीन – नई दिल्ली। उत्तर पूर्वी दिल्ली के मौजपुर इलाके मे मोहल्ला क्लिनिक के एक डॉक्टर से इलाज मामले मे करीब 900 लोगों को क्वारेंटीन किया जाएगा। सऊदी अरब से आईं एक महिला ने मोहल्ला क्लिनिक के डाक्टर से उपचार कराया था।

यह महिला कोरोना संक्रमित थी जिससे डाक्टर भी इसकी चपेट में आ गए। बाद में डाक्टर की पत्नी और बेटी भी संक्रमित हो गए। डाक्टर से 12 से 18 मार्च के बीच उपचार कराने वाले करीब 900 लोगों की पहचान कर उन्हें क्वारेंटीन किया जा रहा है।

टोल टैक्स अस्थाई तौर पर निलंबित – नई दिल्ली। केन्द्र सरकार ने कोरोना वायरस (कोविड-19) को ध्यान में रखते हुए सभी टोल प्लाजा पर टोल टैक्स अस्थाई तौर पर निलंबित कर दिया है। केन्द्रीय राष्ट्रीय राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने ट्वीट कर यह जानकारी दी। श्री गडकरी ने कहा कि टोल. टैक्स निलंबित करने से एकतरफ जहां आपात सेवाओं का आवागमन सुगम होगा वहीं बहुमूल्य समय की बचत भी होगी। यह कदम देशहित के लिए उठाया गया है।

20 करोड़ जनधन महिलाओं को 500 रुपए प्रति महीने –

प्रधानमंत्री जनधन खाताधार महिलों के खाते में प्रति महीने 500 रुपए ट्रांसफर किए जाएंगे। इससे 20 करोड़ जनधन महिलाओं को फायदा होगा

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना –

80 करोड़ लोगों को 5 किलो अतिरिक्त अनाज 3 महीने मुफ्त में मिलेगा। उनको एक किलो दाल भी फ्री में मिलेगा। गेहूं, चावल के साथ दाल भी गरीबों को मिलेगा

हेल्थ कर्मचारियों को 50 लाख रुपए का बीमा –

सरकार ने कोरोना वायरस से लड़ने में अपना योगदान देने वाले स्वास्थ्य कर्मचारियों को 50 लाख रुपए का इंश्योरेंस देने का ऐलान किया है। इससे डॉक्टरों, पारामेडिक और स्वास्थ्य कर्मचारियों को फायदा मिलेगा

8.69 करोड़ किसानों को मिलेंगे 2 हजार रुपए-

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों को अप्रैल के पहले ही हफ्ते में पहली किश्त ट्रांसफर कर दी जाएगी

उज्ज्वला योजना के तहत 3 महीने तक फ्री सिलेंडर –

करीब 8.3 बीपीएल करोड़ परिवारों को उज्जवला स्कीम के तहत 3 महीने तक मुफ्त एलपीजी सिलेंडर दिए जाएंगे

मनरेगा मजदूरों की दिहाड़ी बढ़ाई गई- 

मनरेगा दिहाड़ी अब 182 से बढ़ाकर 202 रुपए कर दी गई है। इसके तहत आने वाले 5 करोड़ लोगों को इसका लाभ मिलेगा

3 करोड़ वरिष्ठ नागरिकों, विधवाओं को सहायता –

गरीब बुजर्ग, गरीब विधवा और गरीब दिव्यांगों को इस कठिन वक्त में दिक्कत न हो तो उन्हें 1000 रुपए अतिरिक्त तीन महीनों के लिए मिलेंगे

अगले तीन महीने तक ईपीएफ सरकार भरेगी –

सरकार अगले तीन माह तक नियोक्ता और कर्मचारी दोनों की ओर से ईपीएफ योगदान देगी। यानी दोनों की ओर से किया जाने वाला 12-12 फीसदी का योगदान यानी कुल 24 फीसदी योगदान सरकार देगी।

पीएफ रकम निकालने की शों में ढील दी जाएगी –

कर्मचारी 3 महीने का वेतन या 75 फीसदी रकम, अपने पीएफ खाते से निकाल सकेंगे। इससे 4.8 करोड़ लोगों को फायदा होगा

कांग्रेस कोरोना के खिलाफ लड़ाई में सरकार तथा देश की जनता के साथ खड़ी है। यह महामारी देश के सामने सबसे बड़ी चुनौती है। हम सभी कंधे से कंधा मिलाकर इसे हराएंगे: सोनिया गांधी

 

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: