क्यों वहीदा रहमान ने कभी नहीं रखा हिंदू नाम? छोटी ड्रेस न पहनने की खाई थी कसम, इन शर्तों पर करती थीं काम

बॉलीवुड में हिंदी फिल्म इंडस्ट्री का हिस्सा होने के बाद किसी का नाम बदलने का रिवाज काफी पुराना है। पैन इंडिया दर्शकों के लिए कई बार एकटर्स और एक्ट्रेसेस ने अपने स्क्रीन पर नाम बदल दिए। अक्षय कुमार, दिलीप कुमार और अन्य कई हस्तियों ने अपना नाम बदल लिया है। हालांकि, वेटरन एक्ट्रेस वहीदा रहमान भी इन एक्ट्रेसेस में से एक हैं, जिन्हें ये सलाह दी गई थी कि वो अपना नाम बदल लें लेकिन वहीदा ने इस बात को नहीं मानी और वो अपने उसी नाम के साथ आगे बढ़ीं। यही नहीं, वहीदा रहमान ने कई ऐसी बेड़ियों को तोड़ा जो बाकी सबके लिए चलन बन चुका था।

वहीदा रहमान: बदलते दौर की मल्लिका
वहीदा रहमान (Waheeda Rehman) ने अपना नाम बदलने से इनकार कर दिया था क्योंकि वह इसे ऐसे ही रखने के लिए बहुत शौकीन थीं। एक पुराने इंटरव्यू में वहीदा को फिल्म इंडस्ट्री में अपने शुरुआती दिनों में अपना नाम बदलने के बारे में बात करते देखा जा सकता है। वहीदा ने कहा, ‘क्योंकि हमें आपका नाम पसंद नहीं है’। मैंने उनसे पूछा क्यों नहीं? उन्होंने कहा, ‘पहली बात क्योंकि यह बहुत लंबा है वहीदा-रहमान। इसे और मॉर्डन होना चाहिए। कुछ सेक्सी और जूसी।’ मैंने कहा भैया सेक्सी और जूसी नाम क्या है? ‘नहीं, यह यहां प्रथा है जैसे मधुबाला, निम्मी, नरगिस, मीना कुमारी। हमें यह पसंद नहीं है। हम आपको वहीदा रहमान कैसे कहते हैं?’ मैंने कहा, ‘दीदी, आपको मुझे वहीदा रहमान बुलाने की क्या जरूरत है? बस मुझे वहीदा कहो।’


नाम बदलने पर भिड़ गई थीं
उन्होंने आगे कहा, ‘मैंने कहा, ‘अगर आपको मेरा नाम पसंद नहीं आया तो मुझे खेद है क्योंकि मुझे यह बहुत पसंद है, जो मुझे मेरे माता-पिता ने दिया है। मैं इसे नहीं बदलूंगी। मेरी तेलुगु, तमिल फिल्में हिट रही हैं। और मैंने वहीदा रहमान का भी वहां इस्तेमाल किया। उन्होंने कभी इसका विरोध नहीं किया।’ उन्होंने कहा कि यह अलग बात है। ‘हिंदी क्षेत्र में आपको कौन जानता है? यह बाला या बाली होना चाहिए’… मैंने कहा नहीं, मुझे भी पसंद नहीं है। मुझे बस अपना पसंद है।’ एक इंटरव्यू में वहीदा ने ये भी कहा कि उन्हें ब्लू लेंस भी नहीं लगाना था। उस वक्त ऐसा करने का दौर था लेकिन उन्होंने ऐसा करने से मना कर दिया।


डीप नेक ब्लाउज पर भी आपत्ति
रहमान ने एक सेशन के दौरान कहा, ‘जब मैं इंडस्ट्री में नई थी तो मैं बहुत ज़िद्दी लड़की थी। ऐसा इसलिए था क्योंकि मुझे पता था कि मुझे क्या चाहिए और इसलिए इसने कई लोगों को आश्चर्यचकित किया कि मैं अपने नियमों और शर्तों पर काम करना चाहती थी।’ वहीदा रहमान के बारे में एक और बात खास है कि उस वक्त डीप नेक ब्लाउज का खूब क्रेज था। हीरोइनें इसे पहनती थीं क्योंकि ग्लैमर के लिए कुछ ही चीजें थीं, जो करना होता था। लेकिन वहीदा ने इसे पहनने से भी मना कर दिया था। वो अपने हिसाब से कपड़े पहनती थीं।

वहीदा रहमान की फिल्में
वहीदा ने बॉलीवुड में अपने एक्टिंग करियर की शुरुआत 1956 में गुरु दत्त की फिल्म ‘सीआईडी’ से देव आनंद के साथ की थी। उन्होंने ‘गाइड’, ‘कागज के फूल’, ‘साहिब बीबी और गुलाम’, ‘रंग दे बसंती’ और ‘दिल्ली-6’ जैसी फिल्मों में अभिनय किया।





Source link

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: