केजरीवाल सरकार की नई शराब नीति के खिलाफ बीजेपी के बाद कांग्रेस ने भी हल्ला बोला है। बुधवार को पार्टी ने तंज कसते हुए कहा कि यदि भ्रष्टाचार में कोई श्रेणी शुरू हुई तो उसमें मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया को ‘भारत रत्न’ मिलना चाहिए।

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली में केजरीवाल सरकार की नई आबकारी नीति के खिलाफ बीजेपी हमलावर है। कई प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से बीजेपी के नेता शराब नीति पर आम आदमी पार्टी सरकार को घेरने में लगे हैं। इस बीच कांग्रेस ने भी इस नीति के खिलाफ आप सरकार पर हमला बोला है। कांग्रेस ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि यदि भ्रष्टाचार में कोई श्रेणी शुरू हुई तो उसमें मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया को ‘भारत रत्न’ मिलना चाहिए।

‘कांग्रेस ने कहा- इस श्रेणी में केजरीवाल और सिसोदिया को मिले भारत रत्न’
दिल्ली प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष चौधरी अनिल कुमार ने संवाददाताओं से कहा, ‘जब आप हर तरफ से घिरने लगते हैं तो अपनी जाति और महापुरुषों के पीछे छिपने के काम करते हैं। अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया को शर्म आनी चाहिए।’ उन्होंने तंज कसा, ‘यदि भ्रष्टाचार में कोई श्रेणी शुरू हुई, जिसकी उम्मीद नहीं है, तो अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया को भ्रष्टाचार की श्रेणी में ‘भारत रत्न’ जरूर मिलना चाहिए।’ आपको बता दें कि केजरीवाल ने हाल में कहा था कि सिसोदिया को शिक्षा के क्षेत्र में काम करने के लिये ‘भारत रत्न’ मिलना चाहिए।

‘कांग्रेस कर रही थी संघर्ष, बीजेपी ने साध रखा था मौन’
अनिल कुमार ने बीजेपी पर भी हमला बोलते हुए कहा , ‘इस आबकारी नीति विवाद विषय पर जहां कांग्रेस संघर्ष कर रही थी, वहीं भाजपा के ‘शूरवीर’ मौन साधे हुए थे। जब दिल्ली को नशे की राजधानी जैसी पहचान दी जा रही थी तब भाजपा के नेता चुप बैठे थे।’ उन्होंने कहा, “कांग्रेस यह जानना चाहती है कि अगर केजरीवाल का कोई करीबी भ्रष्टाचार करेगा, क्या उस भ्रष्टाचारी को सब माफ है?”

दूसरी ओर कांग्रेस प्रवक्ता रागिनी नायक ने दिल्ली में अरविंद केजरीवाल सरकार को गिराने की कोशिश के आम आदमी पार्टी (आप) के दावे को लेकर सवाल किया, “अगर आप सरकार को तोड़ने की कोशिश हो रही है, तो आप के नेता फोन नंबर एवं नाम उजागर क्यों नहीं करते?अरविंद केजरीवाल अपने भ्रष्टाचारी मंत्रियों को बर्खास्त क्यों नहीं कर रहे हैं?”



Source link

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: